सावधान कही आप भी तो नहीं खा रहे है रंगो से भरी सब्जियां

Share

आजकल दुकानदार और किसानों द्वारा रंग भरी सब्जी बेची जा रही है। जिसका आम लोगों की सेहत पर गलत प्रभाव पड़ रहा है। अब तो मिलावट करने वालो ने हरी मटर को भी जहरीला बना दिया है। क्या करें आम लोग क्या खाए क्या ना खाए ?

इसमें सूखी मटर भिगो दी जाती है। कुछ ही घंटों में मटर पानी सोख लेती है, जिसके साथ मटर पर हरा रंग चढ़ जाता है ऐसा करने से सूखी मटर की कीमत तीन से चार गुना तक बढ़ जाती है। फिर इस मटर को फ्रीजर में रख दिया जाता है जिसकी वज़ह से इसके अंदर का पानी जमने लगता है,और यह हरी मटर जैसी ही लगती है। इतना ही नहीं, गाजर को आकर्षक बनाने के लिए भी लाल रंग में इसे भिगोया जाता है। इसी तरह खीरा, करेला, परवल, बैंगन आदि हरी सब्जियों पर भी रंग चढ़ाया जाता है।

इतना ही नहीं, गाजर को आकर्षक बनाने के लिए भी लाल रंग में इसे भिगोया जाता है। इसी तरह खीरा, करेला, परवल, बैंगन आदि हरी सब्जियों पर भी रंग चढ़ाया जाता है। अदरक को आकर्षक करने के लिए इसमें सल्फ्यूरिक अम्ल को पानी में मिलाकर छिड़काव किया जाता है। इससे अदरक की ऊपरी सतह जल जाती है और अंदर की चमकदार सतह दिखाई देने लगती है। जहरीली सब्जियों से लोगों को काफी नुकसान होता है। ये मानव शरीर में सीधे पाचन तंत्र को प्रभावित करता है।

सावधानी

बता दें कि सब्जियों में जितनी असानी से मिलावट की जाती है, उसे पहचाना उतना ही मुश्किल होता है। लेकिन आम लोग थोड़ा ध्यान दें तो इसकी पहचान की जा सकती है। जैसे बेमौसम और हरी मटर इनकी कीमत भी ज्यादा अधिक होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *