CAA:हिंसा पीड़ितों से मिलने गए राहुल-प्रियंका को पुलिस ने वापस भेजा मेरठ बार्डर से

Share

CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन के दौरान उत्तर प्रदेश के मेरठ में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात के लिए जा रहे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को यूपी पुलिस ने सीमा पर रोक लिया।

राहुल-प्रियंका एक ही कार में सवार थे। मेरठ में एंट्री से पहले ही जिले के बॉर्डर पर पुलिस ने उन्हें रोक लिया। पुलिस ने कानून-व्यवस्था और धारा- 144 का हवाला देकर दोनों नेताओं को रोक दिया, जिसके बाद राहुल-प्रियंका ने अपनी गाड़ी राजधानी दिल्ली की तरफ मोड़ दी और वहीं से रवाना हो गए।

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुए प्रदर्शन के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ में हिंसा हुई थी। इस दौरान कुछ लोगों की मौत भी हो गई थी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा अब हिंसा में मारे गए प्रदर्शनकारियों के परिजनों से मुलाकात करने मंगलवार को मेरठ जा रहे थे, लेकिन यूपी पुलिस ने उन्हें सीमा पर ही रोक लिया।

बता दें, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा रविवार को एक अनिर्धारित यात्रा करते हुए उत्तर प्रदेश के बिजनौर पहुंचीं थी, जहां उन्होंने नए नागरिकता कानून को लेकर हुई हिंसा में मारे गए दो लोगों के परिजनों से मुलाकात की थी। कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि बिजनौर जिले के नहटौर क्षेत्र में वह गईं, जहां सीएए को लेकर हाल ही में हुई हिंसा में दो प्रदर्शनकारी मारे गए थे। वह वहां मारे गए अनस और सुलेमान के परिवार के लोगों से मिलीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *