हरिप्रसाद टम्टा शिल्प कला केंद्र को लेकर विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल के नेतृत्व मं कांग्रेस का प्रदर्शन

Share

कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल के नेतृत्व में कई कांग्रेसी विधायक धरने पर बैठ गए। विधायकों की नाराजगी है कि हरिप्रसाद टम्टा शिल्प कला केंद्र के कार्यों को रोका गया है। गोविंद सिंह कुंजवाल ने कहा कि गरुड़ आवाज में चयनित भूमि के समीकरण मुख्य सड़क से संस्थान तक सड़क निर्माण कार्य चार दिवारी बिजली पानी की लाइन बिछाने भवन की बुनियाद डालने आदि काम हुए।

लेकिन प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होने के बाद संस्थान का काम आगे नहीं बढ़ सका है। सरकार को 3 साल का समय हो चला है। लेकिन एक भी निर्माण कार्य आगे नहीं बढ़ा है। योजना के लिए स्वीकृत 36 करोड़ 60 लाख का बजट सरकार नहीं दे पाई है।

कुंजवाल का कहना है कि उत्तराखंड की परंपरागत शिल्पकला के उत्थान और सुदृढ़ीकरण के साथ ही प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करना है, ताकि राज्य की लुप्त होती शिल्पकला को अगली पीढ़ी के माध्यम से सुदृढ़ किया जा सके और रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी हो।

संस्थान में पर्वतीय क्षेत्र के पत्थर के परंपरागत शैली के भवन निर्माण, ताम्र शिल्प, पीतल उद्योग, बांस और रिंगाल की वस्तुओं का निर्माण, प्रशिक्षणों के माध्यम से उत्पादों का निर्माण और विपणन की व्यवस्था करना था। कुंजवाल ने कहा कि ग्रामीणों को स्थानीय उत्पादों के लिए कच्चे माल की भी व्यवस्था करने की योजना थी, प्रशिक्षण लेने वाले प्रतिभागियों के लिए इसी परिसर में हॉस्टल का निर्माण भी किया जाना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *