95C रेलवे फाटक बंद पर किसानों और ग्रामीणों का प्रदर्शन

Share

सहारनपुर के सरसावा थाना क्षेत्र के गांव भिक्कनपुर स्थित 95 सी रेलवे फाटक बंद हो जाने के बाद ग्रामवासियों ने पटरियों के बीच बैठकर फाटक को खुलवाने को लेकर जबरदस्त प्रदर्शन किया। किसानों ने दो टूक कहा कि यदि रेलवे ने फाटक को नहीं खोला तो किसान भूख हड़ताल व धरना देने से पीछे नहीं हटेंगे।

आपको बता दे। कि सहारनपुर के सरसावा थाना क्षेत्र के गांव भिक्कनपुर, छाप्पुर, बिन्नाखेड़ी आदि गांव के किसानों ने भारतीय जनता पार्टी के मंडल उपाध्यक्ष अरविंद चौधरी के नेतृत्व में 95 सी फाटक के बंद होने पर रेलवे लाइन के बीचो बीच बैठकर जोरदार प्रदर्शन किया। उन्होंने गांववासियों को संबोधित करते हुए कहा कि रेलवे द्वारा 95 सी  फाटक बिना किसी पूर्व सूचना के बंद कर दी गई।

किसानों का कहना है कि एक तरफ तो किस सरकार किसानों को अन्नदाता  कहती है। वही अन्नदाता के रास्ते में रेलवे विभाग बड़े-बड़े गड्ढे कर उन्हें अपनी फसल को चीनी मील तक ले जाने के लिए रोक रहा है। वहां जमा किसानों ने रेलवे के डिप्टी चीफ इंजीनियर शैलेंद्र कुमार से इस संबंध में कहा कि जब तक अंडरपास नहीं बन जाता तब तक फाटक को मिल या सेंटर में गन्ना ले जाने के लिए खोला जाए। उन्होंने रेलवे के आला अधिकारियों को साफ चेतावनी देते हुए कहा यदि  रेलवे ने किसानों की बात नहीं मानी तो वे अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल व धरना देने से पीछे नहीं हटेंगे।

किसानों की समस्या को देखते हुए आला अधिकारियों को अंडरपास के पूरी तरह से कंप्लीट होने तक खोले जाने की चिट्ठी लिखी गई है। उन्होंने माना कि अंडरपास पूरी तरह से चालू करने के लिए कम से कम 2 से 3 माह का समय लगेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *