उत्तराखंड में चारधाम यात्रा के यात्रियों का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

उत्तराखंड में चारधाम यात्रा पर अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होगा। इसके लिए शासन स्तर पर तैयारी शुरू हो गई है। इसका मकसद चारधाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों की पूरी जानकारी रखना है। इसके साथ ही अब अन्य राज्यों के निजी दोपहिया और चौपहिया वाहनों के लिए भी चारधाम व हेमकुंड यात्रा के लिए ट्रिप कार्ड बनाना अनिवार्य किया जाएगा। इनके लिए यूजर चार्जेज के रूप आनलाइन एंट्री सेस वसूला जाएगा। यूजर चार्जेज की दर 20 रुपये के स्थान पर 50 रुपये करने की तैयारी है।

कोरोना के कम होते मामलों को देखते हुए चारधाम यात्रा शुरू

प्रदेश में कोरोना के कम होते मामलों को देखते हुए चारधाम यात्रा शुरू करने की तैयारी हो चुकी है। एक जुलाई से तीन स्थानीय जिलों, यानी रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी के लिए चारधाम यात्रा शुरू की जा रही है। 11 जुलाई से पूरे प्रदेशवासियों के लिए चारधाम यात्रा शुरू होगी। इसके बाद अन्य राज्यों के लिए चारधाम यात्रा शुरू करने का निर्णय लिया जाएगा।इसे देखते हुए पर्यटन व परिवहन विभाग यात्रा की तैयारियों में जुट गया है।

पर्यटन विभाग यात्रियों के रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था शुरू

पर्यटन विभाग यात्रियों के रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था शुरू कर रहा है। इसमें व्यावसायिक वाहन व निजी वाहनों से जाने वाले यात्री भी शामिल हैं। चारधाम यात्रा को लेकर हाल ही में सचिव परिवहन डा. रंजीत सिन्हा ने विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें व्यावसायिक वाहनों की तर्ज पर अन्य राज्यों के निजी वाहनों के लिए ट्रिप कार्ड बनाने का निर्णय लिया गया। निजी वाहनों का आनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के साथ ही एंट्री सेस भी आनलाइन लेने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए।
चारधाम यात्रा पर जाने वाले सभी वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाना भी अनिवार्य करने को कहा गया है। कोई वाहन बिना सूचना दिए किसी धाम पर जाएगा तो पर्यटन विभाग द्वारा लगाए जा रहे हाइटेक आटोमेटिक नंबर प्लेट रजिस्ट्रेशन (एएनपीआर) कैमरे के जरिये इसकी जानकारी प्राप्त हो जाएगी।

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढे़- JBT भर्ती घोटाले में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री की 10 साल की सजा पूरी

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

चीन के 15 शहरों और राजधानी बीजिंग समेत कोरोना वायरस के मामले बढें

Listen to this article

चीन के 15 शहरों में कोरोना वायरस के मामले अचानक बढ़ने लगए हैं। इन शहरों में राजधानी बीजिंग भी शामिल है। अधिकारियों ने इसे दिसंबर 2019 में वुहान में वायरस के प्रसार के बाद से सबसे फैला हुआ घरेलू संक्रमण बताया है। यह नए मामले कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के हैं। जानकारी के आनुसार एक रिपोर्ट में बताया गया है कि नानजिंग में एक एयरपोर्ट से शुरू हुई कोरोना वायरस के मामलों में तेजी अब बीजिंग समेत पांच अन्य प्रदेश तक पहुंच गई है और कई कर्मचारियों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है।

नानजिंग पूर्वी चीन के जियांगसू प्रांत की राजधानी है। चीन ने अभी तक भारत समेत कई अन्य देशों के लिए हवाई परिवहन सेवा की दोबारा शुरुआत नहीं की है। हालांकि, नए मामलों की संख्या अभी कुछ सौ ही है लेकिन कई प्रदेशो में संक्रमण फैलने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।

 

 -रितिका चौहान  

 

यह भी पढ़े- इंटरनेट का विश्व रिकॉर्ड : जापान

Uk में अनाथ छात्र-छात्रओ को मिलेंगी मुफ्त शिक्षा

Listen to this article

कोरोना काल में अनाथ हुए छात्र-छात्रओ को राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने मुफ्त शिक्षा देनी की बात कही है,तथा दून विश्वविधालय के सभी पाठ्य क्रमो में इस सप्ताह मे एक सीट को आरक्षित करने का ऐलान किया है यह सीट निर्धारित सीटे से अलग होंगी अर्थात इन सीटो में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्रओ को निशुल्क सेवा दी जाएंगी।

बीते शुक्रवार को राज्यपाल बैबी रानी मौर्य दून में वीवी में डॉ आंबेडकर चेयर सेंटर की प्रारम्भ किया उन्होने कहा है कि दून के चकराता क्षेत्र के अनूसुचित जाति व जनजाति तथा प्रदेश के निम्न आदिवासी उत्तराखंड के पारंपरिक वाद्ययंत्रों, पारंपरिक वेशभूषा व कलाकृतियों को सभाले हुए है इनकी हिफाजत के लिए डॉ आंबेडकर चेयर सेटर काम करेगा,इस सप्ताह में गढ़वाली, कुमाऊंनी, जौनसारी भाषाओं में एक वर्षीय सर्टिफिकेट कोर्स व उत्तराखंड की लोक कला पर आधारित दो वर्षीय स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की एलान किया गया है।

राजदा राव

 

यह भी पढ़े- मुख्यमंत्री योगी आज बागपत पहुंचे, कर सकते है रंछाड़ गांव का निरीक्षण

UP बोर्ड 2021  10वीं और 12वीं के रिजल्ट करगे आज जारी

Listen to this article

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद आज दसवीं और बारहवीं कक्षा का रिजल्ट जारी करेगा। इस साल 56 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को दसवीं और बारहवीं कक्षा के रिजल्ट का इंतजार है। जानकारी के आनुकार बोर्ड दोपहर 3:30  बजे आधिकारिक वेबसाइट पर दसवीं और बारहवीं कक्षा का रिजल्ट अपलोड करेगा। छात्र बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट upresults.nic.in पर 10वीं और 12वीं का रिजल्ट देख सकेंगे।

हर साल की तरह इस साल भी यूपी बोर्ड का दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट एक साथ जारी किया जा रहा है। एनआइसी की ओर से यूपीएमएसपी वेबसाइट पर रिजल्ट शाम 3:30  से 4:00 बजे तक अपलोड कर दिया जाएगा। इस वर्ष मेरिट जारी नहीं होगी। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि पहली बार बिना परीक्षा के बोर्ड का परिणाम जारी किया जा रहा है। बोर्ड ने आंतरिक मूल्यांकन के जरिए दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट तैयार किया है।

 

-रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- शराब माफिया के जाल को तोड़ने की तैयारी, बार कोड होगा स्कैनर

दक्षिण अमेरिकी देश पेरू में तेज भूकंप, 41 लोग घायल

Listen to this article

दक्षिण अमेरिकी देश पेरू में रात 12:10 बजे तेज भूकंप के झटके महसूस किए गए। Piura Region के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी कि उत्तर पश्चिमी पेरू में एक जोरदार भूकंप के बाद कम से कम 41 लोग घायल बताई जा रहे है। बीती रात स्थानीय समय  के आनुसार रात्रि 12:10  बजे उत्तर-पश्चिमी पेरू में 6.1 तीव्रता का भूकंप मेहेसुस किया गया। भूकंप का केंद्र 36 किलोमीटर जमीन के नीचे था और सुलाना शहर के पास स्थित था। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि सुलाना शहर में 35 लोग घायल हुए हैं, जिनमें से दो की हालत गंभीर है। जानकारी के अनुसार क्षेत्रीय राजधानी पियुरा में छह और लोग घायल हुए हैं।

राष्ट्रपति पेड्रो कैस्टिलो ने भूकंप प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया

लगभग 20 पीड़ित लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। बता दें कि भूकंप ने बुनियादी ढांचे, कई आवासीय भवनों और मंदिरों को भारी नुकसान पहुंचाया है। राष्ट्रपति पेड्रो कैस्टिलो ने भूकंप प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और पीडितों से बात करने के लिए पिउरा क्षेत्र की यात्रा की।

 

 -रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु सेमीफाइनल में पहुची

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद का परीक्षा परिणाम आज हुआ जारी

Listen to this article

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद का परीक्षा परिणाम आज जारी हो गया है। विद्यालयी शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने सुबह 11:15 बजे रिजल्ट घोषित किया। प्रदेश में हाईस्कूल का परीक्षाफल 99.09 प्रतिशत रहा है। हाईस्कूल में 99.33 प्रतिशत बालक व 99.8 प्रतिशत बालिकाएं सफल रही। इंटरमीडिएट में 121705 परीक्षाएं शामिल थे। इसमें 99.56 प्रतिशत विद्यार्थी सफल रहे। बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 99.4 प्रतिशत व बालिकाओं का 99.79 प्रतिशत रहा।

विद्यालयी शिक्षा मंत्री ने परिणाम घोषित करते हुए कहा कि कोरोना जैसी महामारी में बोर्ड की टीम ने बहुत मेहनत व ईमानदारी से काम किया है। बोर्ड की टीम को शुभकामना दी। बता दें कि हाईस्कूल में इस बार 147725 सम्मिलित हुए, इसमें से 146386 पास हुए। वहीं इंटर में 121705 शामिल हुए, जिसमें से 121171 उत्तीर्ण हुए। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं आयोजित नहीं हुई थी। रिजल्ट जारी करने के दौरान परिषद की सचिव नीता तिवारी, व माध्यमिक शिक्षा निदेशक सीमा जौनसारी भी मौजूद रहीं। सभी छात्र-छात्राएं अपना परीक्षा परिणाम बाद परिषद की वेबसाइट www.ubse.uk.gov.in और uaresults.nic.in पर छात्र-छात्राएं अपना रिजल्ट देख पाएंगे।

कोविड 19 के कारण इस बार बोर्ड परीक्षाएं नहीं हुई

कोरोना के कारण इस बार बोर्ड परीक्षाएं नहीं हुई। उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने हाईस्कूल का परिणाम तैयार करने के लिए कक्षा नौ के अंकों को आधार बनाया। इसी तरह इंटरमीडिएट में कक्षा 10, 11 व 12वीं में आंतरिक परीक्षा के आधार बारहवीं का रिजल्ट तैयार किया गया है।

 

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में आज घोषित होंगे 10वीं और 12वीं का रिजल्ट

उतराखंड भू- कानून को लेकर बनेंगी कमेटी

Listen to this article

उत्तराखंड में भू-कानून और जनसंख्या कानून तथा नजूल भूमि से संबंधित विषयों के समस्या के समाधान के लिए सरकार जल्द ही सभा बेठाएंगी जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देखा जाए तो बीते शुक्रवार को देहरादून में किए गए कार्यक्रम में यह बात बोली है कि देवस्थानम बोर्ड प्रदेश के पर्यटन व तीर्थाटन से जुड़ा विषय है और इसे लेकर सभी संबंधित पक्षों से बातचीत कर निर्णय लिया जाएगा। इसमें किसी के हित प्रभावित न हों इसके लिए उच्च स्तरीय समिति गठित की गई है।

CM ने कहा कि राज्य का सपुर्ण विकास सरकार का सुचि है। अब तक उन्होंने राज्य के हित के लिए 50 से ज्यादा फैसले लिए हैं। गैरसैंण का बात करते हुए उन्होंने बोला है कि यह जनता की भावनाओं का केंद्र है और वहां ग्रीष्मकालीन राजधानी के अनुरूप सभी जरूरी अवस्थापना सुविधाओं का जोरो-शोरो से विकास किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा है कि उनका पूरा ध्यान राज्य के विकास पर है। जिन योजनाओं का शिलान्यास होगा पहाड़ का पानी और दोनों राज्य के काम आए इसके लिए सही तरीके से योजनाएं बनाकर उनकी पुष्टी की जाएगी मुख्यमंत्री ने बोला है कि राज्य में सरकारी विभागों में खाली चल रहे 24 हजार पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जल्द शुरु की जाएगी। 10 लाख से अधिक लोगो को स्वरोजगार योजना से जोड़ा जा सकता है।

-राजदा राव

 

यह भी पढे़- उत्तराखंड में आज घोषित होंगे 10वीं और 12वीं का रिजल्ट