Home » Uncategorized » कड़ी सुरक्षा में अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पहला जत्था हुआ रवाना

कड़ी सुरक्षा में अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पहला जत्था हुआ रवाना

Listen to this article

अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पहला जत्था हुआ रवाना

कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच बाबा अमरनाथ की वार्षिक यात्रा के लिए बुधवार सुबह श्रद्धालुओं का पहला जत्था जम्मू से पहलगाम व बालटाल के लिए रवाना हुआ। इस दौरान जम्मू-कश्मीर के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने जम्मू बेस शिविर से अमरनाथ यात्रा के पहले बैच को करीब सुबह साढ़े चार बजे झंडी दिखाई। बता दें कि पवित्र गुफा में शिवलिंग के पहले दर्शन 29 जून को होंगे। पहले दिन राज्यपाल एनएन वोहरा, अमरनाथ श्राइन बोर्ड के सीईओ उमंग नरूला व अन्य अधिकारियों के साथ पवित्र गुफा में पूजा-अर्चना करेंगे। जम्मू में यात्रा के आधार शिविर यात्री निवास भगवती नगर में देशभर से श्रद्धालु पहुंच चुके हैं। यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में काफी उत्साह है। मंगलवार देर शाम तक बारह सौ से अधिक श्रद्धालु यात्री निवास में प्रवेश कर चुके थे। श्रद्धालुओं के जम्मू पहुंचने का सिलसिला जारी है। जम्मू से रवाना होने वाले पहले जत्थे में दो हजार से अधिक श्रद्धालु  रवाना हुए। इसके अलावा हजारों श्रद्धालु जम्मू में रुके बिना सीधे पहलगाम व बालटाल जाएंगे। उधर, पहलगाम व बालटाल में भी करीब पांच सौ श्रद्धालु पहुंच चुके हैं। कश्मीर में मौजूदा हालात को देखते हुए यात्रा के लिए सुरक्षा प्रबंध काफी पुख्ता किए गए हैं। दोपहर साढ़े तीन बजे तक यात्रियों के वाहनों को हर हाल में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जवाहर टनल को पार करना होगा। यात्री वाहनों के साथ सीआरपीएफ व पुलिस के दस्ते चलेंगे। हाईवे पर भी चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त रहेंगे। बाबा अमरनाथ की वार्षिक यात्रा चालीस दिन की है। यात्रा रक्षा बंधन वाले दिन सात अगस्त को संपन्न होगी।

बाबा अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकी हमले और प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए पुलिस, अ‌र्द्ध सैनिक बल और सेना ने सुरक्षा के अभूतपूर्व प्रबंध किए हैं। बालटाल व पहलगाम मार्गो पर कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं। श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए बने शिविरों के चारों ओर कंटीले तार लगाकर किलाबंदी की गई हैं, ताकि कोई शिविर के भीतर प्रवेश नहीं कर पाए। श्रद्धालुओं के शिविरों के आसपास चौबीसों घंटे शार्प शूटर तैनात किए गए हैं। यात्रा मार्ग के दोनों रूटों में डॉग स्क्वायड और बम निरोधक दस्ते की मदद से सुबह और शाम में तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *