Home » Uncategorized » निजी स्कूल कर रहे अभिभावकों का भयानक आर्थिक शोषण, रूड़की में लोग उतरे सड़कों पर

निजी स्कूल कर रहे अभिभावकों का भयानक आर्थिक शोषण, रूड़की में लोग उतरे सड़कों पर

Listen to this article

निजी स्कूल कर रहे अभिभावकों का भयानक आर्थिक शोषण, रूड़की में लोग उतरे सड़कों पर

रुड़की में सामाजिक संगठन आम नागरिक मंच ने प्राइवेट स्कूलों के तानाशाहीपूर्ण रवैये के विरोध में धरना प्रदर्शन किया साथ ही उपजिलाधिकारी रुड़की के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन भी दिया. विद्यालयों को हमेशा से सेवा एवं परोपकार के संस्थानों रूप में जाना जाता है लेकिन आज जो हालात निजी विद्यालयों कर रहे  हैं उसमें स्कूल शिक्षा का मंदिर कम पैसा कमाने की शोषणकारी दुकानें ज़्यादा हो गए हैं. आज हर एक प्राइवेट विद्यालय अपने स्कूलों में एनसीईआरटी की किताबों को अपने यहाँ पाठ्यक्रम में ना लगाकर दूसरे प्रकाशकों की किताबों को केवल इसलिये लगाते हैं ताकि उन्हें मोटा  कमीशन मिल सके. यहाँ तक की वो पुरानी किताबों को भी ना लेने के लिये विद्यार्थियों के अभिभावकों को मजबूर करते है जिससे उनका आर्थिक शोषण होता है. इतना ही नहीं अलग-अलग दिन के लिये ड्रेस कोड भी इन स्कूलों में लागू कर दिया गया है और बाकायदा बच्चों को किसी विशेष दुकान से ही ड्रेस खरीदने को बाध्य किया जाता है ताकि स्कूलों की कमाई हो सके,जबकि इससे अभिभावकों को अच्छा खासा आर्थिक बोझ बिना किसी को शिकायत किये उठाना पड़ रहा है.प्राइवेट स्कूलों की इसी मनमानी के खिलाफ रुड़की में सामाजिक संगठन आम नागरिक मंच ने पहल करते हुए धारना प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन उपजिलाधिकारी रुड़की को सौंपा जिसमें कहा गया कि अगर प्राइवेट स्कूलों की आर्थिक शोषण करने की यह मनमानी नहीं रोकी गई तो आम आदमी उग्र प्रदर्शन करने को मजबूर होगा जिसका पूरा जिम्मा शासन-प्रशासन का होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *