Home » Uncategorized » ‘पार्टी मुझे मान सम्मान दे या नहीं मुझे कोई दुख नहीं’: मेजर जनरल भुवन चंद्र खंडूड़ी

‘पार्टी मुझे मान सम्मान दे या नहीं मुझे कोई दुख नहीं’: मेजर जनरल भुवन चंद्र खंडूड़ी

Listen to this article

‘पार्टी मुझे मान सम्मान दे या नहीं मुझे कोई दुख नहीं’: मेजर जनरल भुवन चंद्र खंडूड़ी

सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद गढ़वाल मेजर जनरल भुवन चंद्र खंडूड़ी (से.नि) के नाम से बने एक ट्विटर अकाउंट से एक के बाद एक करके किए गए। कई ट्वीट ने प्रदेश की सियासत में उबाल ला दिया। खंडूड़ी की ओर से किए गए ट्वीट में लिखा गया था कि पार्टी मुझे मान सम्मान दे या नहीं मुझे कोई दुख नहीं। जनता के दिलों में मेरे प्रति जो प्यार है वहीं मेरे लिए बहुत बड़ी बात है। इसके कुछ देर बाद इस अकाउंट से एक और ट्वीट आया। जिसमें लिखा गया कि मैने देश की सेवा की।राजनीति में उत्तराखंड के लिए जो मेरा सपना था वो पूर्ण नहीं हो पाया।पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद खंडूड़ी से फोन पर जब इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने किसी प्रकार का ट्विटर अकाउंट होने से इन्कार किया। उन्होंने कहा कि उन्होंने इस तरह के कोई ट्वीट नहीं किए। शनिवार शाम तकरीबन चार बजे पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद मेजर जनरल भुवन चंद्र खंडूड़ी के नाम से बने ट्वीटर अकाउंट से एक के बाद एक कई ट्वीट जारी हुए। इस अकाउंट में उनकी तस्वीर भी चस्पा है। पहले ट्वीट में उनके हवाले से लिखा था कि ‘पार्टी मुझे मान सम्मान दे या नहीं मुझे कोई दुख नहीं। जनता के दिलों में मेरे प्रति आज भी प्यार है वही मेरे लिए बहुत बड़ी बात है।’ इसके अगले ट्वीट में लिखा था ‘मैने सेना में देश की सेवा की। राजनीति में उत्तराखंड के लिए जो पूरा सपना था वह पूर्ण नहीं हो पाया’। इसके बाद किए गए ट्वीट में लिखा था कि ‘पार्टी ने जो स्थान मुझे दिया उससे मैं संतुष्ट हूं। और आज भी हृदय से पार्टी का सम्मान करता हूं।’ इसके अगले ट्वीट में लिखा गया कि ‘मैने क्या कार्य किया, क्या नहीं, मुझे उसको दोहराने की जरुरत नहीं है। जो भी किया देश प्रदेश के लिए किया। जनता भली भांति जानती है।’ इसके अगले ट्वीट में लिखा गया ‘मैने अपनी पार्टी के लिए कार्य किए, अपने लिए नहीं। इसका उदाहरण ये भी पढ़ें।’ इस ट्वीट में वेबसाइट का जिक्र था जिसका शीर्षक था कि पापा खंडूड़ी के पास बेटी के प्रचार के लिए भी वक्त नहीं। इस कड़ी में आखिरी ट्वीट पांच बजे आया। इस ट्वीट में लिखा था कि ‘आज की पॉलिटिक्स सिर्फ हिंदी फिल्म बन कर रह गई है और कुछ नहीं। अटल जी मेरे आदर्श थे हैं और हमेशा उनके प्रति मेरा सम्मान बना रहेगा।’ एक के बाद एक कर आए छह ट्वीट के जरिए ऐसा संदेश गया कि पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद खंडूडी कहीं न कहीं पार्टी में खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं और इन ट्वीट्स के जरिए अपना दर्द जनता के सामने रख रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी यह ट्वीट तेजी से तैरने लगे। राजनीतिक गलियारों में भी इन ट्वीट्स को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। इन ट्वीट की पुष्टि के लिए जब देर शाम को पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद मेजर जनरल भुवन चंद्र खंडूड़ी (से.नि) से फोन पर बात की गई तो उन्होंने इस पर अचरज जताते हुए किसी भी तरह के ट्वीट से साफ इन्कार किया। उन्होंने कहा कि उनका ट्वीट अकाउंट भी नहीं है। अब वे पता करने का प्रयास करेंगे कि कौन उन पर इतनी मेहरबानी कर रहा है। वहीं, रविवार सुबह पूर्व सीएम और सांसद बीसी खंडूड़ी के ट्वीट मामले में उनकी बेटी रितु खंडूड़ी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने आईटी एक्ट के तहत नेहरू कॉलोनी थाने में मुकदमा दर्ज किया। बता दें कि बीसी खंडूड़ी की बेटी रितु खंडूड़ी भाजपा की विधायक भी है। रितु खंडूड़ी ने फर्ज़ी टिवटर अकाउंट से ट्वीट करने का लगाया आरोप।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *