Home » Uncategorized » राष्ट्र ‘ऋषि’ से गरीबों और शहीदों को सम्मान की उम्मीद !

राष्ट्र ‘ऋषि’ से गरीबों और शहीदों को सम्मान की उम्मीद !

Listen to this article

राष्ट्र ‘ऋषि’ से गरीबों और शहीदों को सम्मान की उम्मीद !

प्रधानमंत्री को राष्ट्र ऋषि का सम्मान तो मिल गया लेकिन इस देश के शहीदों और गरीबों को आज भी उचित सम्मान नहीं मिल सका। इस देश में सम्मान लेने और लौटाने की ऐसी परंपरा बन गई है कि अब अनुकूल परिस्थितियों का ख्याल रखना भी लोगों को उचित नहीं लगता। ना ही सम्मान लेनेवाले और ना ही सम्मान देनेवाले  लोग अनुकूल परिस्थितियों का ख्याल रख पाते हैं। अगर प्रतिकूल समय का ख्याल रख पाते हैं तो वो हैं सम्मान लौटाने वाले जिन्हें असहिष्णुता की याद आने लगती है। बात अनुकूल परिस्थितियों की इसलिए क्योंकि सुकमा और जम्मू-कश्मीर में जवानों के शहीद होने के बाद से देश में सम्मान नहीं बल्कि बदले की भावना उठ रही है। हर देशवासी नक्सलियों और पाकिस्तानी सेना से बदले की मांग कर रहा है। लेकिन इस बदले की पुकार को सुनने  के लिए न तो किसी अधिकारी के पास समय है और ना ही प्रधान सेवक इस बात को सुन पा रहे हैं। रही बात विभागीय मंत्री की तो अभी कोई स्थायी मंत्री हैं ही नहीं जो सेना प्रमुख की बात पर गहनता से विचार कर सकें। ये बातें इसलिए क्योंकि 3 मई को बाबा केदार के दर्शन के लिए पहुंचे पीएम मोदी को बाबा रामदेव ने राष्ट्र ऋषि की संज्ञा दे दी और पीएम ने भी बाब रामदेव की खूब तारीफ की लेकिन देश की सुरक्षा और जवानों की शहादत के मसले पर कुछ न बोल सकें। शायद उनकी सारी भावनाएं ट्वीट तक ही सीमित रह गई। दरअसल केदारनाथ के दर्शन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरिद्वार स्थित पतंजलि के आयुर्वेदिक रिसर्च इंस्टीट्यूट का उद्घाटन करने हरिद्वार पहुंचे। जहां बाबा रामदेव ने पीएम मोदी को ‘राष्ट्र ऋषि’ के रूप में सम्मानित किया। जिसको लेकर पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें इस तरह का सम्मान देकर उनकी जिम्मेदारियां बढ़ा दी गई हैं। वहीं हरिद्वार में पीएम मोदी का अभिवादन करते हुए योगगुरु रामदेव ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश का गौरव बढ़ाया है। इस दौरान जनता को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि योग एक ऐसा विज्ञान है जो आत्मा की चेतना के लिए जरूरी है। बाबा रामदेव ने योग को आंदोलन बना दिया और दुनिया में योग के प्रति जिज्ञासा पैदा की। मोदी ने कहा कि योग भारत के ऋषि-मुनियों की परंपरा रही है। वहीं बाबा रामदेव के रिसर्च इंस्टीट्यूट पर बात करते हुए हुए पीएम मोदी ने कहा कि रिसर्च की ताकत हम सबने देखी है। दुनिया के किसी भी आधुनिक रिसर्च सेंटर को देखिए तो बाबा रामदेव का ये सेंटर उनकी बराबरी में खड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *