लखनऊ के इस मेडिकल कॉलेज में हो रहे अवैध दाखिले

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

लखनऊ के इस मेडिकल कॉलेज में हो रहे अवैध दाखिले

दाखिला को लेकर लखनऊ का एक और मेडिकल कॉलेज सुप्रीम कोर्ट के निशाने पर आ गया है। शीर्ष अदालत ने 2017-18 के शैक्षणिक सत्र में दाखिले पर रोक लगा दी थी। इसके बाद भी जीसीआरजी मेमोरियल ट्रस्ट मेडिकल कॉलेज ने हाई कोर्ट से अनुमति ले ली और दाखिला शुरू कर दिया। इस कॉलेज में एमबीबीएस की कुल 150 सीटें हैं और अभी तक करीब 11 छात्रों ने दाखिला लिया है।

शीर्ष अदालत ने गुरुवार को सभी छात्रों का दाखिला रद कर दिया। मेडिकल कॉलेज से हर छात्र को 10-10 लाख रुपये और ली गई फीस वापस करने को कहा है। इसके साथ ही कॉलेज पर 25 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

कॉलेज से आठ सप्ताह के भीतर सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री में जुर्माना जमा कराने को कहा है। शीर्ष अदालत ने न्यायिक अनुशासन की अनदेखी कर आदेश देने पर हाई कोर्ट को भी आड़े हाथों लिया है। खामियां पाने के बाद एमसीआइ ने मेडिकल कॉलेज को शैक्षणिक सत्र चलाने की अनुमति नहीं दी थी।

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ का यह आदेश न्यायिक अनुशासन की अनदेखी करने वाली अदालतों और मन माफिक आदेश के लिए अदालतों का चक्कर लगाने वाले संस्थानों के लिए एक नसीहत है।

हाई कोर्ट के रवैये पर आपत्ति जताते हुए शीर्ष अदालत ने कहा कि आदेश पारित करने से पहले मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया (एमसीआइ) और केंद्र सरकार को पक्ष रखने की इजाजत नहीं दी। पीठ ने कहा कि हाई कोर्ट का आदेश अनुचित, गलत और बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। हाई कोर्ट ने न्यायिक शुचिता और अनुशासन का ध्यान नहीं रखा।

यह मामला भी लखनऊ के प्रसाद एजूकेशन ट्रस्ट के मामले जैसा है। जीसीआजी मैमेरियल ट्रस्ट ने पहले सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की इसके बाद यह कहते हुए वापस लिया कि वह हाई कोर्ट जाना चाहता है। शीर्ष अदालत ने अपने अंतरिम आदेश में 2017-18 के शैक्षणिक सत्र पर रोक लगाई थी। लेकिन अगले ही दिन मेडिकल कॉलेज ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की। एमसीआइ ने आरोप लगाया था कि हाई कोर्ट ने उसे और केंद्र सरकार को याचिका का जवाब देने की अनुमति नहीं दी और एक सितंबर को कॉलेज को दाखिला शुरू करने की इजाजत दे दी।

वहीं प्रसाद एजूकेशन ट्रस्ट मामले में भी कुछ ऐसा ही हुआ था। हालांकि उसमें न्यायाधीशों के नाम पर रिश्वतखोरी के आरोप में सीबीआइ ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सीबीआई ने उड़ीसा हाई कोर्ट के सेवानिवृत न्यायाधीश को भी आरोपी बनाया है। इस मामले की आंच सुप्रीम कोर्ट तक भी पहुंची थी।

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

factory

रुड़की में पतंजलि के पास आदित्य इंडस्ट्रीज फैक्ट्री में लगी भीषण आग

Listen to this article

हरिद्वार नेशनल हाइवे स्थित पतंजलि के पास आदित्य इंडस्ट्रीज नाम की एक फैक्ट्री में

आज सुबह अचानक आग लग गई। फैक्ट्री से आग की लपटें उठने लगी। सूचना दमकल विभाग को दी गई,

सूचना पर दमकल विभाग की कई गाड़िया सिडकुल, हरिद्वार और रुड़की से उक्त फैक्ट्री पर पहुंची,

जहां कई घंटों तक आग को बुझाने का प्रयास किया गया।इस फैक्ट्री में प्लास्टिक के पार्ट्स बनाए जाते हैं।

घंटो की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।

लेकिन तबतक फैक्ट्री में रखा माल जलकर राक हो चुका था। फैक्ट्री में प्लास्टिक के पार्ट्स बनाए जाते थे

और आग लगने के कारण करीब 2 करोड़ के नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है।

दमकल विभाग के सीएफओ नरेंद्र सिंह कुंवर ने बताया हैं, कि आग पर पूरी तरह से काबू पाया हैं।

आस –पास के लोग फैक्ट्री की आग के चपेट में आने से बाल-बाल बच गए।

फैक्ट्री स्वामी द्वारा विभाग से कोई एनओसी नहीं ली गई थी और ना ही फैक्ट्री में अग्निशमन के कोई इंतेजाम थे।

फिलहाल आग लगने के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

 

-सोमिया कुटियाल

 

यह भी पढ़े-एससी, एसटी व विधवाओं के लिए बढ़ेगी पेंशन आय सीमा

Bihar

बिहार में होगा पंचायत चुनाव पहली बार ईवीएम से पड़ेंगे वोट

Listen to this article

बिहार में पंचायत चुनाव के लिए मंगलवार शाम को नीतीश सरकार ने मंजूरी दे दी है ।

राज्य में 10 चरणों में पंचायत चुनाव होगा। खास बात ये है कि पहली बार बिहार में पंचायत

चुनाव में ईवीएम का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके साथ ही चुनाव में आने वाले 122 करोड़ के खर्चे को भी मंजूरी दे दी गई है।

कैबिनेट बैठक में लिए अहम निर्णय

बिहार सरकार की मंगलवार शाम को कैबिनेट बैठक हुई। बैठक में निर्णय लियाा गया कि इस

बार पंचायत चुनाव में ईवीएम मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके साथ ही इस चुनाव में करीब

122 करोड़ रुपये का खर्चा आएगा। इस रकम को जारी करने की परमिशन दे दी गई है।

पंचायत चुनाव के लिए राज्य सरकार 90 हजार ईवीएम खरीदेगी। बता दें कि बिहार में होने

वाले पंचायत चुनाव में वार्ड सदस्य, पंच, सरपंच, पंचायत स्तर पर मुखिया,

पंचायत समिति सदस्य और जिला परिषद सदस्यों को चुना जाएगा।

कैबिनेट की बैठक में फैसला लिया गया है कि पंचायत चुनाव में पुरानी आरक्षण की व्यवस्था को

ही लागू किया जाएगा यानी जो भी सीट पिछले पंचायत चुनाव में आरक्षित थीं वह इस बार भी आरक्षित ही रहेंगी

। बिहार में तीन पंचायत चुनाव के लिए चुनाव आयोग के गाइडलाइंस के मुताबिक मतदान सुबह 7 बजे से शाम

5 बजे तक कराया जाएगा। मतों की गणना सुबह 8 बजे से की जाएगी। हालांकि अभी तक 10 चरणों में

होने वाले पंचायत चुनाव की तारीखों की घोषणा नहीं हुई है।

 

 

नुपूर पुण्डीर

 

 

यह भी पढ़े-बुलंदशहर में ट्रिपल मर्डर, तीसरी बेटी हालत खराब

दीपिका के विज्ञापन पर लगा चोरी का आरोप,हॉलीवुड डायरेक्टर ने उठाया सवाल

Listen to this article

आज से पहले आपने फिल्म के गाने, म्यूज़िक या कहानियों के

कॉपीराइट के बारे में सुना होगा, लेकिन इस बार बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका

पादुकोण के नए विज्ञापन पर चोरी करने का आरोप लगा है।

हाल ही में दीपिका का एक एड रिलीज़ किया गया है

जिसमें वो एक ब्रांडेड जींस का एड करती दिख रही हैं

और ये एड बीते कई दिनों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

अब इस विज्ञापन पर हॉलीवुड फिल्म ‘Yeh Ballet’ की डायरेक्टर सोनी तारपोरेवाला ने

कॉन्सेप्ट चोरी करने का आरोप लगाया है। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर

विज्ञापन कंपनी को घेरते हुए एक लंबा चौड़ा पोस्ट लिखा है

जिसमें उन्होंने उस एड को लेकर नाराज़गी ज़ाहिर की है।

सोनी ने अपने इंस्टाग्राम पर उस सेट की फोटोज़ भी शेयर की हैं

जिससे दीपिका के एड का सेट मेल खाता नज़र आ रहा है।

फोटोज़ शेयर करते हुए डायरेक्टर ने लिखा, ‘कुछ दिन पहले मुझे ये एड दिखाया गया।

विज्ञापन देखने के बाद मैं ये देखकर शॉक्ड हो गई

कि इसमें Yeh Ballet डांस स्टूडियो के सेट का इस्तेमाल किया गया है।

डायरेक्टर ने ये भी लिखा भारत में चल रहे कॉपीकैट के कल्चर को अब बंद हो कर देना चाहिए।

तब आपको पता चलेगा कि विदेशी प्रोडक्शन कंपन और डायरेक्टर आपसे बेहतर जानते हैं।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- तीन महीने तक बंद रहेगी ऑस्ट्रेलिया की अंतराष्ट्रीय सीमाएं

Arrested

नोएडा  में Swiggy के दो डिलीवरी boy गिरफ्तार

Listen to this article

उत्तर प्रदेश के नोएडा में पुलिस ने खाना डिलवरी करने वाली कंपनी Swiggy  के

दो डिलीवरी executives को गिरफ्तार किया है। यह दोनों ऑनलाइन फूड डिलीवरी ऐप स्विगी के लिए काम करते थे।

इन दोनों लड़कों पर नोएडा के बहुत घरों के ताला तोड़कर घर में घुसकर कीमती सामान चुराते थे।

उत्तर प्रदेश के नोएडा में पुलिस ने दोनों लड़को को गिरफ्तार किया

और दोनों से पूछताछ की दोनों लड़को ने अपना जुर्म भी कबूल किया है।

पुलिस के मुताबि नोएडा के गोल्फ कोर्स इलाके में कुछ दिनों से चोरी की काफी शिकायत आई।

पुलिस के मुताबिक दोनों लड़के पहले ये देखते थे कि फ्लैट में कोई है या नहीं,

उसके बाद ये दोनों लड़के घरों में घुसकर कीमती सामान चुराते थे।

पुलिस के मुताबिक दोनों लड़कों के पास से एलईडी टीवी, रिस्ट वॉच, बाइक और कई सारे सामान बरामद किए गए हैं।

पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपी उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के भायपुरा के रहने वाले है।

यह दोनों नोएडा के सेक्टर 126 में किराए के मकान में रहते थे।

 

-सोमिया कुटियाल

 

यह भी पढे़-बॉलीवुड सिंगर हर्षदीप कौर बनी मॉं,बेटे को दिया जन्म

 

तीन महीने तक बंद रहेगी ऑस्ट्रेलिया की अंतराष्ट्रीय सीमाएं

Listen to this article

कोरोना वायरस को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया में अगले तीन महीनों के

लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा बंद करने का फैसला किया गया है।

वैसे तो पिछले साल से देश की अंतरराष्ट्रीय सीमा बंद हैं और अब प्रशासन ने वहां

तीन महीने और अंतरराष्ट्रीय सीमा बंद करने की घोषणा की है।

ऑस्ट्रेलिया के स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट ने कहा कि स्वास्थ्य अधिकारियों ने

सरकार को सलाह दी कि विदेशों में कोविड-19 की

स्थिति ऑस्ट्रेलिया के लिए स्वास्थ्य जोखिम पैदा कर सकती है।

इसलिए मई से लेकर जून तक अंतरराष्ट्रीय सीमा बंद रहेंगी।

बता दें कि महामारी की शुरुआत में ही ऑस्ट्रेलिया ने अपनी अंतरराष्ट्रीय सीमा बंद कर दी थीं।

वहां की सरकार ने विशेष परिस्थितियों को छोड़कर बाकी नागरिकों पर यात्रा का प्रतिबंध लगाया हुआ।

वहीं देश में आने वाले यात्रियों के आगमन पर

होटल क्वारंटीन में 14 दिन के लिए हजारों डॉलर खर्च करने होंगे।

हालांकि ऑस्ट्रेलिया में कोरोना से निपटने के लिए बेहतर कदम उठाए गए,

यही वजह है कि वहां 25 मिलियन जनसंख्या पर केवल 29,000 कोरोना के मामले हैं।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- निरंजनी अखाड़े की पेशवाई के साथ महाकुंभ का आगाज

निरंजनी अखाड़े की पेशवाई के साथ महाकुंभ का आगाज

Listen to this article

हरिद्वार में आज से महाकुंभ की शुरुआत हो गई है। निरंजनी अखाड़े की पेशवाई के बाद

हरिद्वार में कुंभ जैसा माहौल दिखने लगा है। एसएम जैन कॉलेज से शुरू हुई निरंजनी अखाड़े

की पेशवाई शहर भर में घुमने के बाद निरंजनी अखाड़े पहुंचेगी। इस समय निरंजनी अखाड़ा के

सभी महामंडलेश्वर और आचार्य महामंडलेश्वर कैलाशानंद गिरी महाराज के साथ और सारे साधु

मौजूद रहे।अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी महाराज भी मौजूद थे और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह

रावत भी निरंजनी अखाड़ा की पेशवाई में शामिल थे। निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर ने

इस समय एबीपी गंगा से बातचीत की। आज से कुम्भ नगरी में महाकुंभ का आगाज हो गया है।

निरंजनी अखाड़े की पेशवाई एसएम जैन पीजी कॉलेज से सुबह 10 बजे शुरू हुई ।

पेशवाई में एक हाथी, पांच ऊंट, 40 घोड़े और 50 रथ शामिल हैं वहीं हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा की गई

।इसके अलावा ढाई से 3 हजार संत पेशवाई में शामिल हुए। पेशवाई में सबसे आगे कोविड-19 जागरूक

का संदेश देता वाहन खड़ा रहा।कुमाऊं, गढ़वाल और जौनसार बावर के सांस्कृतिक कलाकारों की टोली

पेशवाई के दौरान प्रस्तुति देगी। पेशवाई में हरिद्वार के 4 बैंड और विशेष तौर पर नाशिक से मंगाया बैंड भी शामिल है।

 

नुपूर पुण्डीर

 

 यह भी पढ़े-एससी, एसटी व विधवाओं के लिए बढ़ेगी पेंशन आय सीमा b