वनाग्नि से निपटने को सभी 13 जिलों में मॉक ड्रिल

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

वनाग्नि से निपटने को सभी 13 जिलों  में मॉक ड्रिल

गर्मियां जैसे – जैसे बढ़ती जा रही हैं आगजनी की घटनाओं के होने का खतरा भी बढ़ता जा रहा है. प्रदेश में इससे सबसे ज्यादा प्रभावित यहां के जंगल होते हैं. यहां हर साल जंगलों में आग लगती है जिस पर काबू पाना वन विभाग के लिए खासा मुश्किल होता है. ऐसे वक्त में तब वन विभाग सिर्फ बारीश का ही इंतजार करता रह जाता है. इस विकट परिस्थिति से निपटने के लिए ही प्रदेश के सभी 13 जिलों में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) और राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने संयुक्त रूप से आज मॉकड्रिल की. प्रदेश में वनाग्नि पर होने वाली संभवत: यह पहली मॉकड्रिल है.  प्रदेश में वनाग्नि के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं.  प्रतिवर्ष इससे करोड़ों रुपये की वन संपदा खाक हो जाती है.  गत वर्ष तो यह हालात बने थे कि जंगलों की आग को बुझाने के लिए हेलीकॉप्टर के जरिए पानी का छिड़काव तक करना पड़ा था.  वनाग्नि की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए केंद्र और प्रदेश ने इसकी रोकथाम और बचाव को लेकर कार्य करना शुरू किया था.  मॉक ड्रिल में एनडीआरएफ, एडीआरएफ, आर्मी, एयरफोर्स, पैरा मिलट्री फोर्स भी लगाई गई है. राज्य आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से इसी माह कई ग्राम पंचायत व सिविल सोयम में वनाग्नि से बचाव व रोकथाम का प्रशिक्षण दिया जा चुका है. अब इस कड़ी में मॉकड्रिल का आयोजन किया गया. इसके तहत वनाग्नि का एक छद्म वातावरण तैयार किया गया और इस पर रोकथाम व बचाव के लिए सामूहिक रूप से कार्य किया गया. मॉक ड्रिल के दौरान देहरादून के जंगलों में सुबह 9.30 बजे आग लगने की सूचना मिली, जिसके तत्काल बाद आपदा सचिव अमित नेगी और एनडीएमए के मेजर वीके दत्ता ने पूरे ऑपरेशन की कमान संभाली, माक ड्रिल के दौरान जंगल की आग बुझाने के लिए व्यवस्थाओं को कैसे दुरुस्त किया जाए इस पर विचार किया गया.  और इसके बाद इस फार्मेट को सभी राज्यों में अपनाया जाएगा.

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

india

भारत-चीन सीमा विवाद में भारत के साथ आया पुराना दोस्त

Listen to this article

भारत-चीन विवाद पर रूस का बड़ा बयान सामने आया है। रूस ने कहा

है कि भारत और चीन सीमा विवाद पर किसी तीसरे देश के हस्तक्षेप की

जरूरत नहीं है। और दोनों देश को साथ मिलकर शांतिपूर्वक बातचीत के

जरिए सीमा विवाद को सुलझाना चाहिए।

भारत के साथ आया रूस

 रूस भारत का सबसे पुराना दोस्त रहा है और सभी अहम मौकों

पर रूस ने खुलकर भारत का साथ दिया है। चीन के साथ चले आ रहे

सीमा विवाद को लेकर भी रूस ने भारत के पक्ष में ही बयान दिया और

भारत के लिहाज से रूस का बयान काफी महत्वपूर्ण भी है। रूस की

विदेश मंत्रालय ने भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर कहा है कि दोनों

देशों को सीमा विवाद शांतिपूर्वक माहौल में सुलझाना चाहिए और रूस

भारत-चीन सीमा विवाद को बेहद करीब से देख रहा है। रूसी विदेश मंत्रालय

के प्रवक्ता मारिया ज़खारोवा ने कहा है। कि रूस भारत और चीन के बीच पैंगोंग

सो लेक में शांतिपूर्वक सैनिकों के डिसइंगेजमेंट का स्वागत करता है ।और मानता

है कि दोनों देश आपस में शांतिपूर्वक समाधान पर पहुंच जाएंगे। रूस की तरफ से बयान

में कहा गया है। कि दोनों देशों के बीच किसी तीसरे देश के आने की जरूरत नहीं है।

रूस ने कहा है कि बिना किसी तीसरे देश के दखलअंदाजी के भारत और

चीन द्विपक्षीय वार्ता के जरिए शांतिपूर्वक सीमा विवाद का समाधान करें

 

 

नुपूर पुण्डीर

 

यह भी पढ़े-रुस में 17 साल के छात्र ने किए होश उड़ाने वाला काम

Corona

भारत में तेज हुआ कोरोना टीकाकरण

Listen to this article

देश में कोरोना वायरस महामारी को ख़तम करने के लिए टीकाकरण की गति

और तेज हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में कोरोना वायरस

के 1.80 करोड़ से ज्यादा टीके लगाए जा चुके हैं। बड़ी बात यह है कि कल एक दिन

में करीब 11 लाख टीके लगाए गए हैं। भारत में 16 जनवरी को स्वास्थ्य कर्मियों को टीके

लगाए जाने के साथ ही देशव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था।

कल 10 लाख 93 हजार 954 टीके लगाए गए। इनमें से 8,34,141 लाभार्थियों को पहली

खुराक दी गई और 2,59,813 स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों को दूसरी

खुराक दी गई। 8,34,141 लाभार्थियों में 60 साल से ज्यादा 4,93,999 और बहुत सारे रोगों से

ग्रस्त 45 से 60 साल की उम्र के 75,147 लोग शामिल हैं।

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों को टीके

लगाने की शुरुआत दो फरवरी से हुई थी। मार्च में शुरू हुए कोरोना वायरस टीकाकरण

के अगले चरण में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों और विभिन्न बीमारियों से पीड़ित 45

या उससे ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को टीके लगाने की शुरुआत हुई।

 

 

नुपूर पुण्डीर

 

यह भी पढ़े-मशहूर अभिनेत्री गौहर खान के पिता हमारे बीच नहीं रहे

 

Russia

रुस में 17 साल के छात्र ने किए होश उड़ाने वाला काम

Listen to this article

17 साल के छात्र ने अपने ही मां-बाप और बहन को कुलहाड़ी से काट डाला।

इसका कारण ये बताया जा रहा है कि जब उस छात्र को उसके घरवालों ने स्कूल

भेजने का दबाव बनाया तो उसने अपने ही घरवालों को मार डाला। इस घटना को

अंजाम देने के बाद उस छात्र ने बच निकलने की भी कोशिश की लेकिन उसे पुलिस

ने पकड़ लिया । ये मामला रुस के पर्म क्षेत्र ओक्टयाबस्काई का है। उस लड़के ने पुलिस

से बचने के लिए जो तरकीब अपनाई, उसे सुनकर दिल दहल जाएगा। उसने पहले सब

को मारा, फिर अपने पिता के चेहर को बुरी तरह से कुचल दिया और उसे अपने कपड़े पहना

दिए ताकि पुलिस को लगे पिता ने परिवार को मारा है। पहले तो पुलिस उसके चक्कर में फंस

गई थी लेकिन पुलिस को फॉरेंसिक रिपोर्ट से पता चल गया वो उसके पिता का शरीर था।लड़के

की मां और 12 साल की बहन के शव भी घर से बरामद हुए हैं। पुलिस ने बताया कि उस लड़के

ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। उसने पुलिस को बताया कि वह स्कूल नहीं जाना चाहता था

और उसकी मां जबरन स्कूल भेजना चाहती थी, जिसके बाद विवाद बढ़ गया।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े-मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पेश किया पांचवां बजट

Gauhar khan

मशहूर अभिनेत्री गौहर खान के पिता हमारे बीच नहीं रहे

Listen to this article

बॉलीवुड की एक्ट्रेस गौहर खान के पिता जफर अहमद खान

का इंतकाल हो गया है। बताया जा रहा है कि उनके पिता का स्व्स्थ्य

काफी समय से खराब चल रहा था जिसके चलते वो पिछले एक हफ्ते

से अस्पताल में भर्ती थे। गौहर के पिता के निधन की खबर उनकी ही

करीबी दोस्त प्रीति सिमोस ने सोशल मीडिया पर शेयर की है। पिछले

कुछ दिनों से गौहर खान अपने पिता की कई तस्वीरें शेयर कर फैंस से

अपने पिता के लिए दुआ करने की अपील की थी। लेकिन शायद भगवान

को कुछ और ही मंजूर था। गौहर की दोस्त प्रीति सिमोस ने सोशल मीडिया

पर यह जानकारी देते हुए अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर

किया है। इस वीडियो में गौहर अपने पिता और मां के लिए 100 वर्षों की

जिंदगी की कामना कर रही हैं और वहीं कई ऐसी खबसूरत तस्वीरें भी

इस वीडियो में हैं जब गौहर ने अपने पिता के साथ खास पल बिताए था।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े-अपनी नई फिल्म तेजस के लिए आर्मी ट्रेनिंग ले रही है कंगना

prime minister

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनने जा रही है तीसरी फिल्म

Listen to this article

“पीएम नरेंद्र मोदी” और “मोदी: जर्नी ऑफ अ कॉमन मैन” इन दो फिल्मों के

बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीसरी फिल्म बनने जा रही है जिसका नाम “एक और नरेंद्र” बताया जा रहा है।

इससे पहले एक्टर विवेक ओबेरॉय ने और एक्टर महेश ठाकुर के बाद अब महाभारत

सीरियल में युधिष्ठिर का किरदार निभाने वाले गजेंद्र चौहान प्रधानमंत्री की ज़िदंगी को बॉलीवुड

के पर्दे पर लाने वाले हैं। ‘एक और नरेंद्र’ में गजेंद्र चौहान को एक लीड एक्टर कास्ट किया गया है।

इस फिल्म में स्वामी विवेकानंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विचारों को बॉलीवुड के बड़े पर्दे पर दिखाया

जाएगा। इस फिल्म का निर्देशन मिलन भौमिक कर रहे है और उन्होंने बताया है कि इस फिल्म को दो भागों

में बांटा जाएगा। जिसमे एक कहानी होगी नरेंद्रनाथ दत्त के रूप स्वामी विवेकानंद की, वहीं दूसरी कहानी में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जिंदगी को दिखाया जाएगा।  डायरेक्टर मिलन भौमिक का मानना है कि विवेकानंद

ने अपनी पूरी जिंदगी सिर्फ भाईचारे का संदेश दिया था, वहीं नरेंद्र मोदी वो महान नेता हैं जिन्होंने भारत को नई

ऊंचाईयों पर पहुंचाया। फिल्म की शूटिंग लगभग 12 मार्च से शुरु हो जाएगी और अप्रैल के खत्म होने से पहले शूटिंग खत्म भी हो जाएगी।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े-लाठीचार्ज पर भड़की कांग्रेस कर रही धरना प्रदर्शन

Tejas

अपनी नई फिल्म तेजस के लिए आर्मी ट्रेनिंग ले रही है कंगना

Listen to this article

बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस कंगना रनोत आजकल अपनी नई फिल्म तेजस के

लिए काफ़ी चर्चाओं में है। अभी तेजस फिल्म की शूटिंग चल रही है और कंगना

इसमें एक महिला भारतीय वायुसेना ऑफिसर की भूमिका निभाने वाली है।

इस फिल्म के सेट से कंगना ने एक विडियो शेयर की थी जिसमें वो आर्मी की

ट्रेनिंग लेती नज़र आ रही थी। कंगना ने अपने इंस्टाग्राम और टिव्टर के अकांउट

में विडियो शेयर किया था जिसमें वो एक नेट पर चढ़ती हुई नज़र आ रही है। विडियो

शेयर करते हुए उन्होंने बताया कि वो आजकल तेजस फिल्म के लिए आर्मी ट्रेनिंग ले रही है।

वीडियो के साथ कंगना ने कैप्शन में लिखा, ‘‘ईर्ष्यालु केकड़े हमेशा हमें नीचे खींचने की कोशिश

करेंगे। लेकिन हमें ऊंचा और ऊंचा उठना होगा’’। आपको बता दे कि इस फिल्म का निर्देशन सर्वेश

मेवार कर रहे है। कुछ दिन पहले से ही इस फिल्म को लेकर कंगना रनोत काफी उत्साहित दिख रही

है उन्होंने इस पोस्ट से पहले भी एक पोस्ट शेयर की थी जिसमें उन्होंने आर्मी की ड्रेस की एक फोटो शेयर

की थी जिसमे लिखा हुआ था ‘तेजस गर्ल’। जल्द ही कंगना की कई फिल्मों में नज़र आने वाली है।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े-स्लाटर हाउस से मुक्त हुआ हरिद्वार जिला