90 की दशक का गाना “चलती है क्या 9 से 12” होगा 25 अगस्त को रिलीज

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

90 की दशक का गाना “चलती है क्या 9 से 12” होगा 25 अगस्त को रिलीज

जुड़वा 2 का पहला गाना चलती है क्या 9 से 12। 25 अगस्त को रिलीज हो गया है। इस गाने में वरुण धवन, तापसी पन्नू और जैकलीन फर्नांडिस नजर आ रही हैं। अगर आपने 90 के दशक में सलमान खान की जुड़वा देखी है तो यह गाना आपकी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरेगा। गाने में कुछ भी नया आपको देखने के लिए नहीं मिलेगा। सलमान खान के गाने की आधी एनर्जी आपको इस गाने में नजर आएगी। यह गाना टन टना टन का रीक्रिएट वर्जन है। जिसमें सलमान खान करिश्मा कपूर और रंभा के साथ डांस करते हुए नजर आए थे। गाने को ओरिजनल वाली फीलिंग देने के लिए इसमें उसी के पल और सार को रखा गया है।

गाने में वरुण, तापसी और जैकलीन ने एक फ्रेशनेस जोड़ने की कोशिश की गई है। दोनों एक्ट्रेस एक्टर के डांस मूव्स के साथ मैच करने की कोशिश कर रही हैं। वहीं गाने में हर जगह वरुण धवन नजर आ रहे हैं। इस वजह से यह कहना गलत नहीं होगा कि यह वरुण का गाना है। दशहरे के मौके पर 29 सितंबर को फिल्म रिलीज होने वाली है। डेविड धवन के निर्देशन में बनी यह फिल्म 1997 में आई सलमान खान की जुड़वा का सीक्वल है। पुरानी फिल्म के गाने ऊंची है बिल्डिंग को भी जुड़वा 2 में रीक्रिएट किया गया है। चलती है क्या 9 से 12 गाने में वरुण भाईजान के कुछ स्टेप्स को कॉपी करते हुए नजर आ रहे हैं। हाल ही में सलमान खान के साथ अपनी होने वाली तुलना को लेकर वरुण धवन ने कहा था- मैं खुश हूं कि लोग मुझसे उम्मीद कर रहे हैं। जुड़वा 2 में भाईजान का 2 मिनट का कैमियो है। गाने को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से  शेयर करते हुए वरुण ने लिखा है कि गणेश चतुर्थी के शुभ अवसर पर टन -टना- टन वापस आ गया है। चलती है क्या 9 से 12 रिलीज हो गया है।

24 अगस्त को गाने का टीजर रिलीज किया गया था। 20 सेकेंड के टीजर में फिल्म की दोनों एक्टेसेज नजर आ रही थीं। गाने के इस टीजर को लेकर वरुण के फैन काफी एक्साइटेड हैं। टीजर को लोगों का अच्छा रिस्पॉस मिला था। ट्रेलर को ओरिजनल जुड़वा  की फील दी गई थी।

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

निरंजनी अखाड़े की पेशवाई के साथ महाकुंभ का आगाज

Listen to this article

हरिद्वार में आज से महाकुंभ की शुरुआत हो गई है। निरंजनी अखाड़े की पेशवाई के बाद

हरिद्वार में कुंभ जैसा माहौल दिखने लगा है। एसएम जैन कॉलेज से शुरू हुई निरंजनी अखाड़े

की पेशवाई शहर भर में घुमने के बाद निरंजनी अखाड़े पहुंचेगी। इस समय निरंजनी अखाड़ा के

सभी महामंडलेश्वर और आचार्य महामंडलेश्वर कैलाशानंद गिरी महाराज के साथ और सारे साधु

मौजूद रहे।अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी महाराज भी मौजूद थे और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह

रावत भी निरंजनी अखाड़ा की पेशवाई में शामिल थे। निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर ने

इस समय एबीपी गंगा से बातचीत की। आज से कुम्भ नगरी में महाकुंभ का आगाज हो गया है।

निरंजनी अखाड़े की पेशवाई एसएम जैन पीजी कॉलेज से सुबह 10 बजे शुरू हुई ।

पेशवाई में एक हाथी, पांच ऊंट, 40 घोड़े और 50 रथ शामिल हैं वहीं हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा की गई

।इसके अलावा ढाई से 3 हजार संत पेशवाई में शामिल हुए। पेशवाई में सबसे आगे कोविड-19 जागरूक

का संदेश देता वाहन खड़ा रहा।कुमाऊं, गढ़वाल और जौनसार बावर के सांस्कृतिक कलाकारों की टोली

पेशवाई के दौरान प्रस्तुति देगी। पेशवाई में हरिद्वार के 4 बैंड और विशेष तौर पर नाशिक से मंगाया बैंड भी शामिल है।

 

नुपूर पुण्डीर

 

 यह भी पढ़े-एससी, एसटी व विधवाओं के लिए बढ़ेगी पेंशन आय सीमा b

 

 

pension

एससी, एसटी व विधवाओं के लिए बढ़ेगी पेंशन आय सीमा

Listen to this article

एससी, एसटी और विधवाओं की पुत्री विवाह के लिए सरकार 50 हजार रु. की मदद देती है।

लेकिन इस योजना का लाभ वही लोग उठा सकते हैं, जिनकी मासिक

आय 1250 हो। मसूरी के विधायक गणेश जोशी ने सरकार से इस योजना के

तहत मिलने वाली राशि को बढ़ाने की मांग की है।

समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्या ने कहा कि इस मामले में जल्द ही निर्णय लिया जाएगा।

पेंशन के मुद्दे को उठाते हुए गणेश जोशी ने कहा कि सरकार एससी,

एसटी और विधवाओं की पुत्री विवाह हेतु 50 हजार रु. की मदद देती है।

इस योजना का लाभ केवल उन्हीं लोगों को मिलता है जिनकी मासिक आय 1250 रु. हो ।

साथ ही उन्होंने कहा कि, गांव में तो इतनी आय के  प्रमाणपत्र बन सकते हैं प

रन्तु शहरों में यह मुमकिन नहीं है।

ऐसे में सरकार को उनकी  पेंशन आय सीमा को बढ़ाकर एक  लाख करनी चाहिए।

इसमें गणेश जोशी के साथ विधायक भरत चौधरी ने भी

उनका समर्थन किया। समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्या ने बताया

कि इस मामले में जल्द ही निर्णय ले लिया जाएगा।

 

-निशा

 

यह भी पढ़े- बुलंदशहर में ट्रिपल मर्डर, तीसरी बेटी हालत खराब

 

बुलंदशहर में ट्रिपल मर्डर, तीसरी बेटी हालत खराब

Listen to this article

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में एक ढलती उम्र के व्यक्ति ने

मंगलवार रात को अपनी पत्नी और तीन बेटियों  पर हथौड़े से हमला कर लहूलुहान कर दिया।

पड़ोसियों ने  घटना की सूचना पुलिस को दी  पुलिस ने मौके पर

पहुंचकर चारों घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

जहां चिकित्सकों ने शकीला और उसके दो पुत्रियां रजिया एवं शबाना को मृत

घोषित किया और तीसरी बेटी की हालत गंभीर बताई जा रही है ।

हत्या का आरोपी 60 वर्षीय सईद अंबेडकर नगर माजरा के

शिकारपुर देहात में बेलदारी का काम करता है।

उसके आस-पड़ोसियों का कहना है कि सईद अपनी पत्नी शफीला (50 वर्ष) पर उसके चरित्र को लेकर शक करता था।

जानकारी के अनुसार, सईद अपनी पत्नी शकीला(50),

बेटी रजिया(20), सुल्ताना(18) और शबाना(16) की थी।

 

 

-सोमिया कुटियाल

 

 

यह भी पढ़े- बॉलीवुड सिंगर हर्षदीप कौर बनी मॉं,बेटे को दिया जन्म

 

बॉलीवुड सिंगर हर्षदीप कौर बनी मॉं,बेटे को दिया जन्म

Listen to this article

फेमस बॉलीवुड सिंगर हर्षदीप कौर ने बेटे को जन्म दिया है।

ये खुशखबरी सिंगर ने ख़ुद अपने फैंस के साथ सोशल मीडिया के जरिए शेयर की है।

हर्षदीप ने अपने इंस्टाग्राम पर एक फोटो शेयर किया है जिसमें

वो अपने पति मनकीत सिंह के साथ नज़र आ रही हैं।

इस फोटो में हर्षदीप कौर का बेबी बंप नज़र आ रहा है

और मनकीत ने अपने हाथ में छोटे बच्चे की एक सफेद रंग की टीशर्ट पकड़ रखी है।

फोटो के ऊपर लिखा है, ‘It’s a baby Boy’। उन्होंने फोटो के साथ ये भी जानकारी दी है

कि बेटे का जन्म 2 मार्च 2021 को हुआ है।

हर्षदीप ने ये गुड न्यूज़ अपने इंस्टाग्राम में शेयर करते हुए अपने फोटो के साथ कैप्शन में लिखा,

‘स्वर्ग का एक छोटा सा टुकड़ा इस धरती पर आ गया और हमें मम्मी-पापा बना दिया।

हमारा जूनियर ‘सिंह’ इस दुनिया में आ चुका है और इससे ज्यादा हमारे लिए और कई खुशी नहीं हो सकती’।

हर्षदीप की मां बनने की खब़र सुनते ही फैंस और सेलेब्स उन्हें ढेर सारी बधाईयां दी है और दे भी रहे हैं।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- दूध, अंडा और चिकन, अभी और बढ़ेगा मंहगाई का बोझ

दूध, अंडा और चिकन, अभी और बढ़ेगा मंहगाई का बोझ

Listen to this article

एक ओर कोरोना का प्रकोप, ऊपर से बढ़ती मंहगाई ने आम जनता के लिए नयी मुसीबत खड़ी कर दी है।

एक तो पहले से ही आम लोग मंहगाई तले दबे हैं।

ऊपर से लगातार बढ़ती मंहगाई ने आम जनता की परेशानी को और बढ़ा दिया है।

आने वाले दिनों में एक बार फिर से मंहगाई घरों की रसोई में दस्तक देने वाली है।

दूध, अंडा और चिकन पर  10 से 25% तक की बढ़ोतरी होने वाली है।

आने वाले कुछ महीनों मे दूध, अंडा और चिकन पर भी मंहगाई असर दिखाई  देखने को मिलेगा।

कोरोना के वर्ड फ्लू की वजह से अंडा और चिकन के दामों में काफी गिरावट आयी ।

पॉल्ट्री फेडरेशन ऑफ इंडिया  के राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेश खत्री ने बताया कि,

वर्ड फ्लू के दौरान पोल्ट्री फार्म पूरी तरह से ठप पड़ गये जिसकी वजह से

अंडा और चिकन की कीमतो में भी गिरावट आई।

लेकिन अब होटल, रेस्टोरेंट और  बैंकेट हॉल पूरी तरह से खुलने जा रहे हैं।

जिसमें पॉल्ट्री फार्म में लगभग एक तिहाई मांग होटल रेस्टोरेंट से आती है,

इसलिए आने वाले कुछ  दिनों में अंडा,दूध और चिकन के दामों में बढ़ोतरी होने वाली है।

जानिए कीमतें-  

बता दें कि, वर्ड फ्लू के दौरान अंडे व चिकन की कीमतों में काफी गिरावट आई।

बीते कुछ दिनों में अंडे की कीमत 3.50 रु. थी, जो अब बढ़कर हो गई थी,

लेकिन आने वाले दिनों में अंडे की कीमतों में 15% तक की बढ़ोतरी हो सकती है।

वर्ड फ्लू की वजह से  चिकन जहां 75 से 85 रु. किलो बिक रहा है,

आने वाले कुछ महीनों में चिकन की कीमतों  में 25 से 30% तक की  बढ़ोतरी की संभावना है।

 

-निशा

 

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में बनेगा संस्कृति ग्राम, एक ही जगह पर मिलेगी उत्तराखंड की संस्कृति

उत्तराखंड में बनेगा संस्कृति ग्राम, एक ही जगह पर मिलेगी उत्तराखंड की संस्कृति

Listen to this article

उत्तराखंड का वो सपना जल्द ही साकार होने वाला है जिसमें चौफला और छोलिया

नृत्यशैली में थिरकते लोक कलाकार नजर आते थे।

वो सपना जिसमें पर्वतीय शैली के भवन, पहाड़ का बाड़ी, झंगोरा, चैसू, कुमाउनी रायता,

अल्मोड़ा की मिठाई और एक ही परिसर में नेपाली सेल रोटी भी दिखाई देती थी।

ये सपना साकार होने के बाद देश भर में उत्तराखंड की संस्कृति को एक अलग पहचान मिल पाएगी।

उत्तराखंड जल्द ही संस्कृति का ग्राम बन जाएगा। देवभूमि को एक अलग पहचान

दिलाने की जद्दोजहद में संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज जुट गए है।

तिमली मानसिंह गांव में संस्कृति ग्राम के लिए जगह चिह्नित की जा रही है।

सतपाल महाराज ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में अभी ऐतिहासिक स्थल मौजूद हैं।

राज्या की पारंपरिक सांस्कृतिक विरासत को एक ही जगह समाहित

करने के लिए योजना तैयार की जा रही है। राजस्थान के जयपुर में ऐसा प्रयोग किया गया है।

जिसके तर्ज पर उततराखंड में संस्कृति ग्राम बनाया जाएगा।

इससे देश विदेश से आने वाले लोगों को उत्तराखंड की संपूर्ण

संस्कृति की झलक एक ही जगह पर देखने को मिल सकेगी।

 

-निशा

 

यह भी पढ़े- हरिद्वार में आस्था के 30 दिन