लालू यादव को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

Lalu Yadav
Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

राजद खेमे की बेचैनी बड़ रही है उनके समर्थक खासे परेशान हैं। लालू यादव को लेकर आ रही इस नई खबर से बेटे तेजस्‍वी यादव तेज प्रताप यादव समेत पूरा लालू परिवार सकते में है। मामला चारा घोटाला से जुड़ा है। अबतक के सबसे बड़े डोरंडा कोषागार घोटाले में जल्‍द ही सजा का एलान होने वाला है। ऐसे में राजद अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव भी असहज हो रहे हैं।

चारा घोटाला मामला

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव एक तरफ गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ चारा घोटाले के मामलों में गिरते संभलते अब वे अहम पड़ाव पर आ पहुंचे हैं। चारा घोटाले के अबतक के सबसे बड़े डोरंडा कोषागार मामले में जल्‍द ही सजा का एलान होना है। ऐसे में राजद खेमे लालू परिवार और लालू समर्थकों की बेचैनी बढ़ गई है।

इस मामले में भी लालू को अदालत से सजा सुनाए जाने की पूरी संभावना है। गोरतलब है की लालू अभी चारा घोटाले के चारों मामलों में दंडीत है।  इन्‍हीं मामलों के सबुत और गवाही को उन्‍होंने डोरंडा कोषागार मामले में भी एडाप्‍ट किया है। ऐसे में माना जा रहा है कि कोर्ट पुराने मामलों सरीखी सजा इस मामले में भी सुना सकता है। लालू को फिलहाल चारा घोटाले के दुमका कोषागार मामले में जमानत नहीं मिली है। जबकि चाईबासा कोषागार के दो मामले और देवघर कोषागार के एक मामले में झारखंड हाई कोर्ट ने उन्‍हें पहले ही जमानत दे दी गई है।

 

मीना छेत्री

 

यह भी पढ़े- प्रधानमंत्री फ़सल बीमा योजना से मिलेगा किसानों को लाभ

 

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

hariyana

उद्योपतियों ने की मांग, शर्तों के तहत दी जाएगी छूट

Listen to this article

पिछले एक साल से कोरोना महामारी के चलते आर्थिक तंगी से जूझ रहे उद्योगों पर एक बार फिर से प्रहार किया है। लॉकडाउन की संभावना के कारण मजदूर अपने घरों को वापस जा रहे हैं, और अब प्रदेश सरकार ने नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। ऐसे में फरीदाबाद, गुरुग्राम, पानीपत, सोनीपत, करनाल और अंबाला समेत कई जिलों में फैक्ट्रियों में रात की शिफ्ट प्रभावित होने लगी है।

उद्योगपतियों का कहना है कि कर्फ्यू लगाने वाले उद्योगों को कुछ शर्तों के साथ राहत दी जानी चाहिए। अतीत में उद्योगों को राहत दी गई थी और कर्मचारियों के लिए पास जारी किए गए थे।

प्रदेश सरकार ने रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू का ऑर्डर जारी किया है। पिछले साल भी कोरोना के केस बढ़ने से लॉकडाउन की नौबत आ गई थी। मजदूर भी पलायन करने अपने घर के लिए चले गए थे और कई माह तक उद्योग धंधे बंद पड़े रहे थे। अब मार्च में फिर से कोरोना ने तेजी गति पकड़ी और नाइट कर्फ्यू की नौबत आ गई है।

कारोबारी और व्यापारियों ने कहा है कि उद्योग पहले से काफी पिछड़ गए हैं। सरकार को विशेष राहत देनी चाहिए। पंचकूला के उद्योगपति दीपक शर्मा,पंकज मित्तल समेत अन्य का कहना है कि कोरोना संक्रमण रोकना जरूरी है। अगर रात को शिफ्ट बंद होती है तो मजदूर फिर से अपने घरों के लिए चले जाएंगे और इससे कारोबार का नुकसान हो सकता है।

नियम पूरा करने वालों को मिले राहत

फरीदाबाद के उद्योगपति रवि वासुदेवा ने कहा है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कर्फ्यू का फैसला गलत नहीं है, लेकिन उद्योगों को चलाने के लिए जरूर सरकार को सोचना पड़ेगा। जो फैक्टरी कोविड-19 के नियमों को पूरा करती हैं, उनको रात में शिफ्ट चलाने देना चाहिए। क्योंकि अब यह लंबा चला तो यकीनन इसका असर उद्योगों पर पड़ेगा।

शर्तों के साथ मिले छूट

हरियाणा चैंबर्स आफ कॉमर्स और इंडस्ट्रीज के राज्य प्रधान विष्णु गोयल ने कहा है कि प्रदेश में जिस तरह से संक्रमण बढ़ रहा है। चैंबर्स ने भी सामाजिक दूरी और मास्क लगाने की अनुदेश जारी कर रखी हैं। वहीं कर्मचारियों और मजदूरों को निर्देश दिए गये हैं कि पहचान पत्र जरूर रखें। पहले की तरह फैक्टरी व अन्य उद्योगों के लिए पास की व्यवस्था करनी चाहिए, ताकि काम सुचारू रूप से चल सकें।

हरियाणा में नाइट कर्फ्यू का समय घटाकर 10-5 किया

हरियाणा में लॉकडाउन का समय 1 घंटा कम किया है। रात 9 बजे के बजाय 10 से सुबह 5 बजे तक रहेगा।  गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि नाइट शिफ्ट में काम करने वाले कर्मचारियों की सहूलियत को देखते हुए ऐसा किया गया है। उन्होंने कहा कि रात कि शिफ्ट में काम करने वाले कर्मचारी 10 से पहले पहुंचें और सुबह 5 बजे छुट्टी कर दे। इसके साथ ही उन्होंने दोहराया कि प्रदेश में किसी सूरत में लॉकडाउन नहीं लगेगा। लोग अफवाहों पर नहीं, सरकार पर विश्वास करें।

यह हैं पाबंदियां

विज ने कहा कि अंतिम संस्कार में 200 लोग शामिल हो सकेंगे। इंडोर कार्यक्रम में अधिकतम 200 व क्षमता का 50 फीसदी के अलावा खुले में होने वाले कार्यक्रम में 500 लोग रह सकेंगे। अभी तक राज्य में 26 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई गई है। 11 से 14 अप्रैल तक 10 लाख लोगों को टीकाकरण का लक्ष्य है।

 

-पुष्पा रावत

 

यह भी पढ़े- CBI के साथ होंगे आज पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख

एक बार फिर शुरु होने जा रहा रामायण का प्रसारण

Listen to this article

कोरोना महामारी के बढ़ते हुए असर को देखकर एक बार फिर रामायण का प्रसारण दोबारा से किया जा रहा है। कोरोना का असर फिल्म इंडस्ट्री में भी देखने को मिल रहा है। एक के बाद एक स्टार्स कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। वहीं देश में एक बार फिर लॉकडाउन जैसे हालात बन रहे है। ऐसे में एक बार फिर से पिछले साल की तरह ही रामानंद सागर की ‘रामायण’ प्रसारित किया जाएगा। पिछले साल लॉकडाउन के समय ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ जैसे  कई 80 और 90 के दशक के सीरियल का  प्रसारण किया गया था। वहीं ‘रामायण’ ने तो टीआरपी के सारे रिकॉर्ड ही तोड़ दिए थे। वहीं अब ‘रामायण’ देखने वाले दर्शकों के लिए एक बड़ी खबर सामने आ रही है।

वो ये है कि एक बार फिर से ‘रामायण’ का प्रसारण शुरू होने जा रहा है। रामानंद सागर की ‘रामायण’ एक बार फिर दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए तैयार है। इसे स्टार भारत चैनल पर शाम 7.00 बजे प्रसारण किया जा रहा है। अब एक बार फिर से दर्शक इसका पूरा आनंद उठा सकेंगे। वहीं दर्शक अपने भगवान श्री राम के एक बार फिर से दर्शन कर पाएंगे। विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन लगने के बाद इनकी मांग उठ रही थी। वहीं इसी महीने 21 अप्रैल को राम नवमी का त्योहार आ रहा है। वहीं ऐसे में इस सीरियल का शुरू होना दर्शको के लिए एक खास तोहफा है।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- 74 साल की उम्र में वर्ल्ड ताइक्वांडो में पाया दसवां स्थान

नकली आयुष्मान कार्ड बनाने वाले को पकड़ा,हजारों को ठग चुका है

Listen to this article

जालंधर में नकली आयुष्मान कार्ड बनाकर लोगों के साथ धोखा करने वाले इस गिरोह के दो सदस्यों को सीआईए स्टाफ ने गिरफ्तार कर लिया है।
जांच में सामने आया कि दोनों ने पंजाब के अलग-अलग शहरों में हजारों नकली आयुष्मान कार्ड बनाए हैं जो कार्ड वैलिड नहीं हैं। दोनों लोगों के घर-घर जाकर ये कार्ड बनाते थे। पुलिस ने बताया है कि जल्द ही वो इस मामले में पत्रकार वार्ता कर मामले का खुलासा करेगी।

बताया जा रहा है कि दो साल पहले ही फतेहगढ़ साहिब में भी ऐसे ही फर्जी कार्ड बनाने वाले गिरोह का पता चला था, तब स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने उन आयुष्मान कार्डों की जांच भी करवाई थी। आयुष्मान कार्ड योजना के नाम पर फर्जी इलाज करवा कर पैसे वसूलने के नाम पर पहले ही विजिलेंस जालंधर के कई अस्पतालों में जांच कर रही है।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- 74 साल की उम्र में वर्ल्ड ताइक्वांडो में पाया दसवां स्थान

 

 

अनुराग ठाकुर ने कोरोना से बचने को लेकर लोगों को किया जागरुक

Listen to this article

अयोध्या में 68वें कबड्डी चैंपियनशिप प्रतियोगिता का उद्घाटन समारोह में केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने शिरकत की। वहीं उद्घाटन के बाद मिडिया से मुखतिब होते हुई कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसके साथ ही लोगों से अपील है कि जनता जब भी घर से बाहर निकले तो मास्क लगाकर निकले। हाथों को सैनिटाइज करते रहे और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करते रहें। सरकार कोरोना से बचाव के लिए सभी प्रयास कर रही है। सभी लोग कोरोना का टीका लगवाएं।

जब इम्यूनिटी पावर शरीर में बनी रहेगी तो कोरोना से बचाव भी रहेगा। अनुराग ठाकुर ने कहा कि कबड्डी के प्लेयर अयोध्या में हैं उन्हें रामलला का दर्शन करने का अवसर मिलेगा। हनुमानगढ़ी का भी प्रसाद मिलेगा। पश्चिम बंगाल के चुनाव पर अनुराग ठाकुर ने कहा कि पूर्ण बहुमत से पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार बन रही है। खुद ममता बनर्जी नंदीग्राम से अपना चुनाव हार रही है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल में कैंपियन नहीं किया। पश्चिम बंगाल में कांग्रेसी समाप्त हो चुकी है और अब तृणमूल कांग्रेस भी सफाई की ओर है। कबड्डी चैंपियनशिप प्रतियोगिता का आयोजन डॉक्टर भीमराव अंबेडकर स्टेडियम डाभासेमर में हो रहा है और यह प्रतियोगिता 16 अप्रैल तक चलेगी। इसमें 28 राज्यों की 32 टीमें भाग ले रही है। इसी प्रतियोगिता से राष्ट्रीय टीम का भी चयन किया जाएगा।

 

-किरन

 

यह भी पढ़ें- 8 से 10 एकड़ गेहूं की खड़ी फसल जलकर हुई नष्ट

 

 

politics

CBI के साथ होंगे आज पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख

Listen to this article

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख आज CBI के साथ होंगे। मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों पर उनसे पूछताछ की जाएगी। जानकारी के अनुसार CBI ने भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब देने के लिए महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को बुलाया है। इस पूछताछ के दौरान CBI अधिकारी मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह और निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे द्वारा लगाए गए आरोपों के बारे में उनसे पूछताछ करेंगे।

दक्षिण मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटकों के साथ एसयूवी मिलने के मामले में सहायक पुलिस निरीक्षक वाजे जांच के दायरे में हैं। केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा देशमुख को जांच में शामिल होने का नोटिस सोमवार की सुबह जारी किया गया था।

एजेंसी के समक्ष अपने बयान दर्ज किए

अधिकारियों ने कहा कि 1 दिन पहले उनके 2 सहयोगियों संजीव पलांदे और कुंदन ने एजेंसी के समक्ष अपने बयान दर्ज किए थे। सिंह द्वारा देशमुख के खिलाफ लगाए गए आरोपों की प्रारंभिक जांच सीबीआई कर रही है। मुंबई पुलिस के आयुक्त पद से हटाए जाने के बाद सिंह ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाए था।

उन्होंने कहा है कि आरोपों का कथित तौर पर मिलान वाजे ने किया जो राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण की हिरासत में हैं। एसयूवी मामले की जांच एनआईए कर रहे है। बंबई उच्च न्यायालय ने पिछले हफ्ते सीबीआई को निर्देश दिया गया था कि वह सिंह द्वारा देशमुख के खिलाफ लगाए गए आरोपों की प्रारंभिक जांच करें। अधिकारियों ने कहा कि सिंह ने पत्र लिखकर कहा था कि देशमुख ने वाजे से मुंबई के बार और रेस्तरां से कथित तौर पर 100 करोड़ रुपये की राशि उगाहने के लिए कहा था।

 

-पुष्पा रावत

 

यह भी पढ़े- त्रिवेणी संगम में उमड़े नागा साधु

वैक्सीन लगाने के बावजूद योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना संक्रमित

Listen to this article

कोरोना वैक्सीन लगाने के बावजूद भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिसमें सीएम योगी ने खुद ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है।साथ ही उन्होंने कहा कि शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने कोविड की जांच कराई थी। जिसमें  मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मैं सेल्फ आइसोलेशन में हूं और चिकित्सकों के परामर्श का पूर्णतः पालन कर रहा हूं। साथ ही सभी कार्य वर्चुअली संपादित कर रहा हूं।

प्रदेश सरकार की सभी गतिविधियां सामान्य रूप से संचालित हो रही हैं। इस बीच जो लोग भी मेरे संपर्क में आएं हैं वह अपनी जांच अवश्य करा लें और एहतियात बरतें। कल ही कोरोना वायरस का प्रकोप यूपी के सीएम ऑफिस तक पहुंच गया था। इसी वजह से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद को आइसोलेट कर लिया है। उनके कार्यालय के कुछ अधिकारी कोरोना से संक्रमित पाए गए थे।

योगी ने ट्विटर के माध्यम से कल यह जानकारी दी थी। उन्होंने ट्वीट किया था कि ”मेरे कार्यालय के कुछ अधिकारी कोरोना संक्रमित हुए हैं। यह अधिकारी मेरे संपर्क में रहे हैं, अतः मैंने एहतियातन अपने को आइसोलेट कर लिया है और सभी कार्य वर्चुअली प्रारम्भ कर रहा हूं।”

 

-किरन

 

यह भी पढ़ें- तीरथ सिंह रावत ने मरकज के सवाल पर दिया बयान