वाराणसी में हाईस्कूल, इंटरमीडिएट में कुल 103940 विद्यार्थियों ने भरा परीक्षा फार्म

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

छात्रों की परीक्षा कोरोना संक्रमण के कारण नहीं हुई थी, बल्कि पिछले प्रदर्शन में किए गए प्रदर्शन के आधार पर छात्रों ने यूपी बोर्ड की परीक्षा में कमाल किया है। इस बार जिले के हाई स्कूल इंटरमीडिएट में कुल 103940 छात्रों ने परीक्षा फॉर्म भरा था, जिसमें से 97 प्रतिशत से अधिक छात्रों को सफलता मिली है।

पहले से तय तिथि के अनुसार शनिवार को दोपहर बाद परिणाम जारी हुआ तो हर कोई अपने-अपने परिणाम जानने में लग गया। उधर विद्यालयों में भी छात्रों के अनुक्रमांक के अनुसार उनके प्रदर्शन को जानने में प्रधानाचार्य और शिक्षक परेशान रहे।

विद्यालय के साथ ही घर-परिवार से भी बधाईयां मिली

कठिन परिस्थतियों के बाद भी छात्रों के इस प्रदर्शन के बाद उन्हें विद्यालय के साथ ही घर-परिवार से भी बधाईयां मिली है। किसी ने 93 प्रतिशत अंक हासिल किया तो किसी को परीक्षा में 80 फीसदी से अधिक अंक मिले। इसके अलावा बहुत से छात्रों को 60 या फिर उससे भी कम नंबर से संतोष करना पड़ा।

एक नजर में परीक्षा का आंकड़ा

कुल 103940
हाईस्कूल 52873
छात्र-26717
छात्रा-26156
इंटरमीडिएट 51067
छात्र 25918
छात्रा 25149

तय समय से एक घंटे देरी से निकला परिणाम

माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से शनिवार को दोपहर बाद 3 बजे परिणाम जारी होना था। इसकी जानकारी होने के बाद से ही विद्यार्थी परिणाम को लेकर उत्सुक थे। 3 जैसे ही बजा कोई मोबाइल तो कोई कंप्यूटर पर परिणाम देखने में लग गया। करीब 1 घंटे तक तो परिणाम ही नहीं जारी हुआ।

विद्यालयों में प्रधानाचार्यों ने भी एक दूसरे को फोन कर इसका कारण जानने में लगा रहा। पता चला कि सर्वर की खराबी की वजह से ही परिणाम देखने में देरी हुई है। करीब 4 बजे जब सर्वर सही हुआ तब जाकर परीक्षार्थियों के चेहरे खिल उठे।

15 अगस्त के बाद जारी जारी हो सकती है मार्कशीट

माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से परिणाम जारी होने के बाद अब विद्यार्थियों को मार्कशीट का इंतजार है। बताया जा रहा है कि 15 अगस्त के बाद परिषद की ओर से मार्कशीट जारी होने की उम्मीद है। आईसीएसई, सीबीएसई की तरह यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों का परिणाम भी पिछली कक्षाओं में किए गए प्रदर्शन और प्री बोर्ड में मिले नंबर के आधार पर ही तैयार किया गया है।

पुष्पा रावत

 

यह भी पढ़े- विधायक कमल सिंह ने गांवों की पदयात्रा, विरोध का करना पड़ा सामना

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

पॉइंट्स टेबल में दिल्ली कैपिटल्स पहुंची पहले स्थान पर

Listen to this article

बुधवार 22 सितंबर को इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल 2021 का 33वां मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स (डीसी) और सनराइजर्स हैदराबाद (एसएसआरएच) के साथ खोला गया। जिसे सनराइजर्स हैदराबाद हार गई, जिसके बाद से सनराइजर्स हैदराबाद का आइपीएल 2021 के प्लेऑफ में पहुंचना मुश्कील हो गया है। टीम 8 मुकाबलों में 7 मैच हार गई है, अब तक उसने एक ही मैच में जीता है। सनराइजर्स हैदराबाद के खातें में महज 10 अंक है। आइपीएल 2021 के पॉइंट्स टेबल में दिल्ली कैपिटल्स की टीम एक बार फिर पहले स्थान पर पहुंच गई।

दिल्ली कैपिटल्स ने अभी तक 9 मैच खेले है, जिसमें से 7 मैच जिते है। टीम के खाते में 14 अंक हैं। वहीं चेनाई सुपर किंग्स की टीम 8 मैचों में से 6 मैच की जीत से 12 अंक लेकर दूसरे स्थान पर है। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 8 मैचों मे से 5 मैच की जीत से 10 अंक लोकर तीसरे स्थान पर अपनी जगह बनाए हुए है। वहीं, मुंबई इंडियंस है, जिसने 8 में से 4 मैच जीतें है और 8 अंक से यह चौथे स्थान पर है।

 

सुरभि भट्ट

 

 

यह भी पढ़े-  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मिशन अमेरिका की रणनीति

अब सांस के नमूने से पता चलेगा शरीर मे एंटीबायोटिक का स्तर

Listen to this article

किसी भी संक्रमण से बचाव या उसके इलाज में एंटीबायोटिक की अहम भूमिका है। लेकिन उसकी उचित मात्रा का होना और भी जरूरी होता है। क्योंकि कम डोज होने से रोगाणुओं में दवाओं के खिलाफ प्रतिरोधी क्षमता विकसित होने का खतरा होता है। जबकि अधिक डोज से दूसरे दुष्प्रभाव होते है। ऐसे मे शरीर के एंटीबायोटिक के स्तर की जानकारी होने से इस समस्या का बहुत हद तक समाधान हो सकता है।

इस दिशा मे यूनिवर्सिटी आफ फ्रीबर्ग के इंजीनीयरो और बायोटेक्नोलाजिस्ट की एक टीम ने पहली बार यह प्रदर्शित किया है। कि स्तनधारी प्राणियों मे सांस के नमूने से शरीर मे एंटीबायोटिक का स्तर मापा जाता है। यह अध्ययन एडवांस्ड मैटेरियल्स जर्नल मे प्रकाशित है। इसके जरिये रक्त में एंटीबायोटिक कंसंट्रेशन का भी पता लगाया जाता है।

 

शोधकर्ताओं को टीम ने इसके लिए एक बायोसेंसर बनाया है। जो मल्टीफ्लेक्स चिप से बना है। और एक साथ कई नमूने मे कई पदार्थो की जांच कर सकता है। यह बायोसेंसर सिंथेटिक प्रोटीन आधारित है। जो एंटीबायोटिक्स से प्रतिक्रिया कर करंट मे बदलाव पैदा करता है। भविष्य में इस तरह की जाँच का इस्तेमाल संक्रमण से लड़ने के लिए व्यक्ति विशेष के लिए दवा की डोज निर्धारित करने में किया जाता है।

 

शिवानी चौधरी

 

 

यह भी पढे-  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मिशन अमेरिका की रणनीति

अमेरिकी की एक निजी साइबर सुरक्षा कंपनी का दावा

Listen to this article

अमेरिका की एक निजी साइबर सुरक्षा कंपनी का यह दावा भारत व चीन के तनावपूर्ण रिश्तों में और तनाव पैदा कर सकता है। कंपनी ने बुधवार को दावा किया कि उसे ऐसे साक्ष्य मिले है। कि राज्य शायद प्रायोजित एक चीनी समूह द्वारा एक भारतीय मीडिया समूह व कुछ सरकारी विभागों को हैक कर लिया गया था।

मैसाचुसेट्स स्थित रिकर्डेड फ्यूचर के इनसिक्ट ग्रुप ने कहा कि हैकिंग समूह ने विन्नटी मालवेयर का उपयोग किया। इस समूह को अस्थायी तौर पर टीएजी-28 नाम दिया गया है। विन्नटी मालवेयर विशेष रूप से सरकार प्रायेजित कई चीनी समूह के बीच साझा किया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार अगस्त 2021 की शुरूआत मे रिकार्ड किए गए आकडो से पता चलता है। वर्ष 2020 की तुलना मे वर्ष 2021 मे भारतीय संगठित और कंपनियो को लक्षित करने वाले संदिग्ध राज्य प्रायेजित चीनी साइबर गतिविधियो की संख्या 261 प्रतिशत की वृदि हुई है।

मुंबई के कंपनी में 500 नेटवर्क

निजि स्वामित्व वाली मुंबई की कंपनी के केवल 500से करीब नेटवर्क मेगाबाइट डाटा निकाला गया। जून 2020 में भारत से सीमा विवाद के बाद मध्यपद्रेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के चीनी उत्पादो का बहिष्कार का आहान किया था।

 

शिवानी चौधरी

 

 

यह भी पढ़े-   मध्यप्रदेश में उमा भारती में फिर गरमाई शराब बंदी की सियासत

गुजरात-दिल्ली समेत भारत के कई राज्यों में येलो अलर्ट जारी

Listen to this article

भारतीय मौसम विभाग ने आज देश के कई हिस्सों में येलो अलर्ट जारी कर दिया है। इन राज्यों में पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तराखंड, पूर्वी राजस्थान और गुजरात शामिल है। मौसम विभाग ने इन राज्यों पर हल्की से मध्यम बारिश होने की आशंका जताई है। मौसम को खराब देखते हुए मौसम विभाग ने लोगों को आवश्यक सावधानी बरतने की सलाह दी है।

 

मौसम विभाग ने इस दौरान इन राज्यों के तापमान में 2 से 3 डिग्री की कमी होने की संभावना जताई है। हालांकी, आज दिल्ली का तापमान 29 डिग्री पहुंच गया। पश्र्चिम बंगाल और ओडिशा के कुछ इलाकों में मौसम विभाग ने बारिश के होने की संभावना जताई। वहीं, इन इलाकों के अलावा मौसम विभाग ने राजस्थान और गुजरात के कई भागों में अगले दो-तीन दिनों तक भारी बारिश होने की जानकारी दी है।

दिल्ली में फिलहाल मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी कर दिया। इससे पहले मौसम एजेंसी ने दिल्ली में मौसम खराब होने की चैतावनी दी थी। बुधवार को दिल्ली के अधिकांश हिस्सो में तेज बारिश हुई। वहीं, उत्तराखंड में 25 सितंबर तक भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की गई। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में भी हल्की से तेज बारिश होने की आशंका जताई गई। मौसम विभाग ने लोगों से घर से बाहर न निकलने की अपिल की है।

 

सुरभि भट्ट

 

 

यह भी पढे-  अफगान दहशतगर्दों को भारत में घुसने पर मद्द कर रहा पाकिस्तान

तालिबान के कब्जे पर एफबीआइ निदेशक की चेतावनी

Listen to this article

संघीय जांच ब्यूरो के निदेशक क्रिस्टोफर ने मंगलवार को चेतावनी देते हुए कहा कि अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा अमेरिकी चरमपंथियो को अमेरिकी धरती पर हमले की साजिस रचने के लिए प्रेरित कर सकता है। रे ने सीनेट होमलैंड सिक्योरिटी एंड गवर्नमेटं अफेयर्स कमेटी के सामने कहा कि घरेलू आंतकवाद के मामले 2020 से लगभग 1,000 संभावित जांच से 2,700 तक बढ़ गए है। चरमपंथी समूहो ने कभी भी अमेरिकी धरती पर हमले की साजिस रचना बंद किया है।

 

नेशनल काउंचर टेररिज्म सेंटर की निदेशक क्रिस्टीन अबिजैद ने भी समीति से कहा कि तालिबान का कब्जे के बाद देश के लिए आंतकवाद का खतरा दो दशक पहले की तुलना मे बढ़ा है। अमेरिकी अधिकारी इस बात की निगरानी कर रहे है कि अलकायदा और इस्लामिक स्टेट आंतकवादी समूह कैसे अपनी सेना का पुननिर्माण कर सकते है।और अमेरिका पर हमले को अंजाम दे सकते है।

 

शिवानी चौधरी

 

 

यह भी पढ़े-  भारत करने जा रहा है अग्नि-5 मिसाइल का परीक्षण

अफगान दहशतगर्दों को भारत में घुसने पर मद्द कर रहा पाकिस्तान

Listen to this article

भारत में अमन-चैन और जम्मू-कश्मीर में शांति पाकिस्तान को रास नहीं आ रही। तभी तो पाकिस्तान आतंकी संगठनों और अपनी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के जरिए भारत को अस्थिर करने की कोशिश में लगा हुआ है। भारत की खुफिया एजेंसियों ने एक बार फिर आने वाले त्योहारी सीजन के दौरान देश में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए जम्मू-कश्मीर क्षेत्र में पाकिस्तानी आतंकियों के साथ-साथ अफगान मूल के दहशतगर्दों की सीमा पार से आने-जाने को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है।

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक उन्हें सीमा पार से लश्कर-ए-तैयबा, हरकत उल-अंसार और हिजबुल मुजाहिदीन आतंकियों के आने-जाने के इनपुट मिले है। जारी अलर्ट में खुफिया एजंसियों ने साफ-साफ कहा है कि पाकिस्तान की आतंकी संगठन अफगान के दहशतगर्दो को भारत में घुसने पर मद्द कर रही है। वहीं अधिकारीयों का कहना है कि, अफगानिस्तान की सत्ता में तालिबान की वापसी के बाद हमें पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों का मद्द से अफगान आतंकियों के भारत में घुसपैठ करने के इनपुट मिलें है। खुफिया एजेंसियों ने अफगानिस्तान पर तालिबान की वापसी पर गुलाम कश्मीर पर आतंकियों की गतिविधियों के बढ़ने की खबर देदी थी।

 

सुरभि भट्ट

 

 

यह भी पढ़े-  मध्यप्रदेश में उमा भारती में फिर गरमाई शराब बंदी की सियासत