उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया हुई शुरू

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में ग्रीष्मकालीन सत्र 2021 के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई है. एक सितंबर से 30 नवंबर 2021 तक चलने वाली इस प्रवेश प्रक्रिया में स्नातक, स्नातकोत्तर, डिप्लोमा व सर्टिफिकेट के लगभग 92 विषयों में प्रवेश ले सकेंगे. इसके लिए उन्हें ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में एक सितंबर से स्नातक के 12 पाठ्यक्रमों, स्नातकोत्तर के 31 पाठ्यक्रम व डिप्लोमा के 16 विषयों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई है. यह प्रवेश प्रक्रिया तीन माह तक बिना विलंब शुल्क के साथ चलेगी. इससे छात्रों को सभी पाठ्यक्रमों में सुचारू रूप से प्रवेश मिल सकेगा. विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर स्तर पर सभी विषयों में गत वर्ष से सेमेस्टर प्रणाली भी लागू कर दी गई है. विश्वविद्यालय में प्रथम या द्वितीय सेमेस्टर/वर्ष में अध्ययनरत छात्र बिना परीक्षा परिणाम निकाले अगली कक्षा में प्रवेश ले सकते हैं. इस संबंध में प्रवेश प्रभारी डॉ. एमएम जोशी ने बताया कि प्रवेश लेने के लिए सभी विद्यार्थियों के पास अपनी मेल आईडी, आधार कार्ड व मोबाइल नंबर का होना आवश्यक है. उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों को प्रवेश लेने में कोई दिक्कत न हो इसके लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं.

कुलपति प्रो. ओपीएस नेगी ने कहा कि यूओयू हर घर तक उच्चशिक्षा पहुंचाने के लिए तत्पर है. साथ ही उच्चशिक्षा से कोई वंचित न रहे इस बात का पूरा प्रयास किया जा रहा है. इसी के तहत प्रवेश प्रक्रिया के लिए तीन माह का समय दिया गया है. उन्होंने कहा कि खासकर उत्तराखंड के दूर-दराज के क्षेत्रों में उच्च शिक्षा पहुंचाने के लिए विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

 

यह भी पढ़े- परिवर्तन यात्रा को लेकर कांग्रेस ने रूट प्लान किया जारी

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

तालिबान ने सऊदी अरब में महिलाओं को सौंपी मस्जिदों की जिम्मेदारी

Listen to this article

तालिबान के शासन के बाद अफगानिस्तान में जहां महिलाओं के अधिकारों को खत्म कर दिया गया, वहीं उनके पढ़ने लिखने से लेकर घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लगा दी गई। दूसरी तरफ इस्लामिक देश सऊदी अरब में महिला सशक्तिकरण की ऐसी मिशाल पेश की, जिसने सभी के सामने उसकी छवि को बदल दिया। जानकारी के मुताबिक महिला सशक्तिकरण की तरफ एक कदम बढ़ाते हुए सऊदी अरब की दो मस्जिदों में करीबन 600 महिलाओं को तैनात किया गया। इन दो मस्जिदों में एजेंसियों के माध्यम से 600 महिलाओं को तैनात किया गया। दोनों मस्जिदों में तैनात महिलाओं में से करीब 200 महिलाएं वैज्ञानिक, बौध्दिक काम कर रहीं है, वहीं बाकी की महिलाएं प्रशासनिक व सेवा के कार्यों की जिम्मेदारी संभाल रही है।

साऊदी अरब के कई क्षेत्रों में पिछले कुछ सालों से महिलाओं को प्रवेश दिया जा रहा है। साऊदी के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के नेतृत्व में विजन 2030 के तहत कई क्षेत्र में महिलाओं के लिए खोले गए। इस्से पहले सऊदी के रक्षा मंत्रालय ने भी घोषणा कि थी कि महिलाएं भी सेना में विभिन्न पदों के लिए आवेदन कर सकती है।

सुरभि भट्ट

 

यह भी पढ़े-  एक हफ्ते में दर्ज हुए सिर्फ 2 लाख कोविड केस

 

आलिया के विज्ञापन में उठा विवाद, विज्ञापन को हटाने की मांग

Listen to this article

हाल ही में आलिया भट्ट का एक विज्ञापन सामने आया, जिसमें आलिया दुल्हन के रूप में सजी हुई थी और कन्यादान को लेकर अपनी बात रखी। आलिया ने कन्यादान से अच्छा कन्यामान को कहा। जिसके बाद से एक बड़ा विवाद खड़ा हो गया। शोसल मीडिया पर आलिया भट्ट के साथ-साथ इस विज्ञापन को भी ट्रोल किया गया। लोगों का मानना है कि आलिया भट्ट ने कन्यादान की परंपरा पर सवाल उठाकर हिंदू संस्कृति को नीचा दिखाया है।

विज्ञापन के आने के बाद से शुरु हुआ विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा। हाल ही में एक हिंदू समर्थक ने नवी मुंबई की एक कपड़ों के ब्रांड के शोरूम के बाहर प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस विज्ञापन से हिंदू समर्थक संगठनो की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है।

दक्षिणपंथी संगठन के प्रवक्ता डॉ. उदय धुरी ने कहां कि, “विज्ञापन में विवाह समारोह के दौरान होने वाली कन्यादान रस्म को गलत तरीके से दिखाया है। इससे समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा हैं”। संगठन ने, कंपनी से बिना शर्त माफी की मांग की और इस विज्ञापन को तुरंत हटाने को कहा।

सुरभि भट्ट

 

यह भी पढ़े- महाराष्ट्र में खुलेंगे सिनेमाघर, दिवाली पर होगी रोहित की सूर्यवंशी रिलीज

 

 

विधानसभा चुनावों को लेकर क्या है कांग्रेस पार्टी हाईकमान के फैसले

Listen to this article

प्रदेश नेतृत्व में बदलाव आने के बाद अब जिला स्तर पर भी कांग्रेस बदलाव करने जा रही है। आगामी 2022 विधानसभा चुनावों को लेकर पार्टी ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है। इसके तहत कईं सालों से एक ही पद पर बैठे नेताओं के कार्यकाल की समीक्षा प्रारंभ कर दी गई है।

अंदाजा लगाया जा रहा है कि कुछ जिलाधिकारियों के कामकाज में परिवर्तन किए जाएंगें। इसके अतिरिक्त महिला कांग्रेस, सैनिक प्रकोष्ठ, फ्रंटल संगठन यूथ कांग्रेस और अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का निरीक्षण किया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार चुनावों को लेकर पार्टी ने तैयारियां अभी से कर ली है।

इनमें महिला कांग्रेस अध्यक्ष सरिता आर्य व सैनिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष बलवीर सिंह रावत के साथ कुछ अन्य नेताओं का दूसरा कार्यकाल चल रहा है। कांग्रेस नेतृत्व के अनुसार उत्तराखंड में एक अध्यक्ष और 4 कार्यकारी अध्यक्ष की रणनीति कामगार रही। इस नीति का उपयोग अन्य इकाइयों में भी किया जा सकता है। इस संबंध में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने जानकारी साझा करते हुए कहा कि हाल ही में 52 बड़े नेता पार्टी के सभी सांगठनिक जिलों में पार्टी की गतिविधियों की समीक्षा का कार्य कर रहे हैं, उनके द्वारा बनने वाली रिपेार्ट के आधार पर आगे पार्टी के सभी शीर्ष नेताओं से विचार विमर्श करने के बाद निर्णय किया जाएगा।

प्रिया जायसवाल

 

यह भी पढ़े- महिलाओं के लिए मुख्यमंत्री धामी ने प्रारंभ की नारी सशक्तिकरण योजना

 

 

 

महाराष्ट्र में खुलेंगे सिनेमाघर, दिवाली पर होगी रोहित की सूर्यवंशी रिलीज

Listen to this article

पिछले एक साल से देशभर में कोरोना के कारण सिनेमाघरों में ताले लगे हुए है। महाराष्ट्र को छोड़कर भारत के सभी राज्यों के सिनेमाघरों को खोल दिया गया। अब हाल ही में महाराष्ट्र सरकार ने 22 अक्टूबर से सिनेमाघरों को खोलने का ऐलान कर दिया। जिसके बाद से मेकर्स ने फिल्मों की रिलीज़ डेट अनाउंस करनी शुरु कर दी। इधर सरकार ने थिएटर्स को खोलने का एलान किया उधर निर्माताओं ने अपनी- अपनी फिल्मों की रिलीज डेट अनाउंस कर दी। ये डेट्स केवल इस साल की नहीं बल्कि अगले साल की भी है।

कोरोना काल में फंसी रोहित शेट्टी की फिल्म सूर्यवंशी से लेकर कबीर खान की 83 तक, सबने अपनी डेट बुक कर दी है। अक्षय कुमार, रणवीर सिंह, अजय देवगन और कैटरीना कैफ की मल्टी स्टारर फिल्म ‘सूर्यवंशी’ इस दिवाली यानी 4 नवंबर 2021 को रिलीज़ होगी। इस फिल्म का निर्देशन रोहित शेट्टी ने किया है। रानी मुखर्जी, सैफ अली खान और सिद्धांत चतुर्वेदी की फिल्म 19 नवंबर 2021 में बड़े पर्दे पर रिलीज़ होगी। इस फिल्म के डायरेक्टर वरुण वी शर्मा है। वहीं बात कि जाए 83 की तो यह फिल्म इस क्रिसमस पर सिनेमाघरों मे रिलिज की जाएगी।

सुरभि भट्ट

 

यह भी पढ़े- कांग्रेस ने की निष्कासितों की वापसी की कवायद तेज

 

भाजपा सांसद वरुण गांधी ने मुख्यमंत्री को आभार प्रकट किया

Listen to this article

पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गन्ना मूल्य बढ़ाने पर आभार प्रकट किया। वरुण गांधी ने मुख्यमंत्री का आभार प्रकट करने के साथ ही उनके सामने एक बड़ी मांग भी रख दी हैं। इस संदर्भ में उन्होंने सीएम योगी को दो पन्नों का पत्र लिखा।

पत्र लिखकर की मांग

सांसद वरुण गांधी ने सीएम योगी को पत्र लिखकर गन्ना मूल्य समर्थन बढ़ाने पर उनका आभार प्रकट करते हुए एक बड़ी मांग उनके सामने रख दी। इसके बाद उन्होंने इसी मुद्दे पर ट्वीट कर लिखा कि उत्तर प्रदेश में आगामी पेराई सत्र में गन्ने का रेट 350 प्रति क्विंटल घोषित करने के लिए योगी जी का आभार।

उन्होंने आगे अपनी मांग रखते हुए लिखा कि मेरा निवेदन है कि कृपया इस पर पुनर्विचार कर बढ़ती महंगाई के अनुरुप 400 रुपए प्रति क्विंटल का रेट घोषित करें। इसके साथ ही सरकार की ओर से 50 रुपए प्रति क्विंटल का बोनस रेट के ऊपर अलग से देने की कृपा करें।

खाद, बीज, डीजल, बिजली आदि के महंगे होने के कारण लागत ज्यादा हो गई हैं। किसानों की स्थिति दयनीय बताते हुए उनके हित में विचार करने का आग्रह किया।

 

अनमोल बधानी

 

यह भी पढ़े- महाराष्ट्र में खुलेंगे सिनेमाघर, दिवाली पर होगी रोहित की सूर्यवंशी रिलीज

हरक सिंह बोले, गृहमंत्री से की यशपाल आर्य के विषय में बात

Listen to this article

बीते दिनों मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य के साथ नाश्ते में हुई चर्चा को लेकर सियासी गलियारों में हलचल हो गई थी। इसके बाद अब कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत के दावे से एक बार फिर से चर्चा शुरु हो गई है। हरक सिंह रावत के अनुसार दिल्ली में केंद्रीय मंत्री अमित शाह से मुलाकात के दौरान उन्होंने यशपाल आर्य के मसले पर भी बात की।

बताया जा रहा है कि कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य किसी विषय को लेकर नाराज चल रहे है। जिस वजह से सियासी गलियारों में सीएम धामी और आर्य की मुलाकत के कई अर्थ निकाले जाने लगे है। लेकिन बाद में सीएम ने यह साफ किया कि यह एक शिष्टाचार मुलाकात थी। इसका कोई अर्थ नही निकाले जाने चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि कहीं कोई नाराजगी नही है।

शाह ने आर्य को याद किया  है

हरक सिंह के मीडिया में आए बयान से एक बार फिर सियासी माहौल गरमा गया है। उन्होने दावा किया है कि यशपाल के मसले पर उन्होंने गृह मंत्री से बात की। शाह ने आर्य को याद भी किया है। इससे पहले उन्होंने कैबिनेट की बैठक के समय आर्य से बात की थी। लेकिन आर्य ने ये नही बताया कि नाराजगी किस बात को लेकर है, उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया। साथ ही कहा कि ऐसा कुछ नहीं है और हम सभी साथ हैं।

 

  -आँचल

 

यह भी पढे़- चेन्नई पहुंची टॉप पर, आरसीबी को दी 6 विकेट से मात