निर्भया गैंगरेप: दोषी विनय शर्मा की याचिका पर SC में सुनवाई आज

Share

सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले के दोषी विनय शर्मा की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश पर विचार करने का अनुरोध गुरुवार को ठुकरा दिया। शीर्ष अदालत ने शर्मा की याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया और कहा कि इस पर आज फैसला सुनाया जाएगा।

इस मामले पर केंद्र द्वारा चारों दोषियों को फांसी सुनाने की याचिका पर अलग से सुनवाई होगी। शर्मा के वकील ने अदालत में आरोप लगाया था कि दिल्ली के उपराज्यपाल और गृह मंत्री ने दया याचिका खारिज करने के सुझाव पर हस्ताक्षर नहीं किए थे।

न्यायमूर्ति आर. भानुमति, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति ए. एस. बोपन्ना की पीठ ने रिकॉर्ड पर गौर करते हुए कहा कि दोषी विनय शर्मा की दया याचिका ठुकराने की सिफारिश पर उपराज्यपाल और दिल्ली के गृह मंत्री ने भी हस्ताक्षर किए हैं।

शर्मा के वकील ए. पी. सिंह ने राष्ट्रपति के दया याचिका खारिज करने के फैसले के खिलाफ मंगलवार को न्यायालय में याचिका दायर की थी। उन्होंने दावा किया था कि फैसला ‘‘जल्दबाजी’’ में और ‘‘पूर्वाग्रहों’’ के आधार पर और संविधान की भावना का उल्लंघन करते हुए लिया गया।

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया मामले के दोषियों को अलग-अलग फांसी देने के अनुरोध वाली केंद्र की याचिका पर सुनवाई शुक्रवार तक स्थगित करते हुए दोषियों से इस पर जवाब तलब किया। शीर्ष अदालत ने निर्भया मामले के दोषियों से कहा कि वे अलग-अलग फांसी देने का अनुरोध कर रही केंद्र की याचिका पर शुक्रवार तक जवाब दाखिल करें।

गौरतलब है कि 16 दिसंबर, 2012 की रात को दक्षिण दिल्ली में एक चलती बस में 23 साल की पैरामेडिकल छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार और बर्बरता की गई थी। जिसके बाद सिंगापुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान 29 दिसंबर 2012 को उसकी मौत हो गई थी। इस निर्मम गैंगरेप के खिलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शन हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *