सुपरस्टार रजनीकांत ने किया CAA का समर्थन कहा- इस कानून से नहीं मुसलमानों को खतरा

Share

सुपरस्टार रजनीकांत ने संशोधित नागरिकता कानून का समर्थन करते हुए कहा कि इस कानून से मुसलमानों को कोई खतरा नहीं है। रजनीकांत ने यह भी कहा कि अगर मुस्लिमों पर इसका असर हुआ तो वह सबसे पहले उनके साथ खड़े रहेंगे। उन्होंने आगे यह भी कहा कि एनपीआर एक जरूरी प्रैक्टिस है।

जानकारी के अनुसार, सुपरस्टार ने कहा, ‘नागरिकता संशोधन कानून हमारे देश के किसी भी नागरिक को प्रभावित नहीं करेगा, अगर यह मुसलमानों को प्रभावित करता है तो मैं उनके लिए खड़ा होने वाला पहला व्यक्ति बनूंगा। NPR बाहरी लोगों के बारे में पता लगाने के लिए जरूरी है। यह स्पष्ट किया गया है कि NRC अभी तक तैयार नहीं हुआ है।’

बता दें कि रजनीकांत ने कहा कि केंद्र सरकार ने आश्वासन दिया है कि भारतीय लोगों को सीएए से कोई परेशानी नहीं होगी। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ राजनीतिक दल अपने स्वार्थी हितों के लिए सीएए के खिलाफ लोगों को भड़का रहे हैं।

सुपरस्टार ने इस कानून के खिलाफ प्रदर्शनों का समर्थन करने के लिए धार्मिक नेताओं को जिम्मेदार ठहराया और इसे ‘‘काफी गलत’’ बताया। एनपीआर का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि यह अभियान ‘‘बहुत, बहुत आवश्यक’’ है और कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने भी पूर्व में ऐसा किया था।

बता दें कि सीएए के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए छह धर्मों के शरणार्थियों को नागरिकता देने का प्रावधान है। इसके तहत कहा गया कि नागरिकता केवल उन्हीं को दी जाएगी, जोकि धार्मिक प्रताड़ना के चलते भारत आए। साथ ही 31 दिसंबर, 2014 के पहले ही भारत आए लोगों को नागरिकता देने का नियम तय किया गया है। इस कानून के खिलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *