Home उत्तराखंड बॉर्डर एरिया पर प्रवासियों को क्वारंटीन करने को लेकर सरकार ने खड़े किए हाथ

बॉर्डर एरिया पर प्रवासियों को क्वारंटीन करने को लेकर सरकार ने खड़े किए हाथ

8 second read
0
0
26
Share

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए बाहरी राज्यों के रेड जोन से आने वाले प्रवासियों को सीमावर्ती क्षेत्रों में क्वारंटीन करने की व्यवस्था को लेकर उत्तराखंड सरकार ने हाथ खड़े कर दिए हैं और अब इस मामले को लेकर राज्य सरकार हाईकोर्ट में जवाब दाखिल करने जा रही है।

उत्तराखंड सरकार के शासकिय प्रवक्ता, मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमित मामलों, बाहरी राज्यों से आ रहे प्रवासियों और न्यायालय की ओर दिए आदेशों पर मंत्रिमंडल में लगभग डेढ़ घंटे तक मंथन किया गया। बाहरी राज्यों से करीब 6000 लोग प्रतिदिन प्रदेश में वापस आ रहे हैं। ऐसे में 10 दिन के भीतर 60,000 लोगों को क्वारंटीन में रखने के लिए उनके ठहरने और खाने की व्यवस्था करनी होगी। प्रदेश की सीमा पर इतने लोगों को क्वारंटीन में रखना सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है।

हाईकोर्ट ने सरकार को आदेश दिए थे कि बाहरी राज्यों के रेड जोन से आने वाले लोगों को बॉर्डर पर रोक कर उनकी मेडिकल जांच की जाए और उन्हें क्वारंटीन किया जाए। मंत्री जी ने बताया कि सरकार हाईकोर्ट के समक्ष प्रदेश की स्थिति और केंद्र सरकार की ओर से जारी किए जा रहे दिशा निर्देशों पर अपना पक्ष रखेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमित मामलों की समीक्षा की गई और पाया गया कि पिछले एक सप्ताह में चमोली, टिहरी और बागेश्वर जनपद में संक्रमण के मामले सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक विदेशों से आए 5% लोगों में संक्रमण पाया गया, जबकि अस्पतालों में 6%, मरकज से लौटे 32%, बाहरी राज्यों से आए प्रवासियों के 56% संक्रमित मामले हैं। जबकि 1 संक्रमित की ट्रैवल हिस्ट्री का पता नहीं लग पाया है। मरकज से लौटे और प्रवासियों को मिला कर प्रदेश में 88% संक्रमित मामले हैं।

Load More Related Articles
Load More By HNN News Desk
Load More In उत्तराखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 6268

Share       अब तक यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरी…