संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा भारत बंद का आगाज

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

देश के किसानों ने आज फिर से तीन कृषि कानून के खिलाफ भारत बंद का आगाज किया है। किसानों द्वारा कहा गया है कि वे केवल इंमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर सभी चीजें बंद करा देंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा की सरकारी दफ्तरों के सामने भी प्रदर्शन किया जाएगा। इसके अलावा हाईवे और रास्तों पर भी धरना प्रदर्शन किया जाएगा। दिल्ली के बॉर्डर पर भी किसानों का घेराव प्रदर्शन रहेगा। और खास बात यह है कि किसानों के इस धरना प्रदर्शन में किसानों को विपक्ष का भी पूरी तरह समर्थन मिला हुआ है।

संयुक्त किसान मोर्चा के अन्तर्गत 10 किसान संगठनों ने भारत बंद करने की मांग की है। इसके साथ ही किसानों ने लोगों से भी मांग की है की वें भी किसानों के इस संघर्ष में आगे आये और अपना योगदान दें।

इस दौरान आनंदोलनकारी किसानों ने यह तय किया है कि, किसान नेता दिल्ली के बॉर्डर पर धरना प्रदर्शन करेंगे, औऱ सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक भारत बंद रहेगा।

सार्वजनिक गतिविधियों के साथ-साथ दुकानों, और बाजारो को भी बंद करने की मांग की गयी है। इसके साथ ही स्कूल, कॉलेज, को भी पूरी तरह से बंद रखा जाएगा। ऱेलवे ट्रैक पर भी धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

 

यह भी पढे़- आलिया के विज्ञापन में उठा विवाद, विज्ञापन को हटाने की मांग

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

भारत-पकिस्तान के बीच आज होगा महामुकाबला

Listen to this article

जिस दिन का करोड़ो लोगों को बेसब्री से इंतजार है। भारत और पकिस्तान के बीच आज दुबई के अंतराष्ट्रीय स्टेडियम में महामुकाबला खेला जाएगा। मुकाबला शाम 07.30 बजे से खेला जाएगा। दोनों देशों के बीच रिश्तों की संवेदनशील प्रकृति को देखते हुए। उनमे बहुत कम गतिविधियां होती है। ऐसे में जब किसी भी आईसीसी टूनामेंट में भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें सामने आती है।
अगर आईसीसी के वनडें और टी20 विश्व कप की बात करें। तो भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ सभी 12 मैंचो में जीत द्रंज की है। टी20 विश्व कप के 2007 में शुरू होने के बाद भारतीय टीम ने पाकिस्तान ने पांचो मैचो मे पराजित किया है।
टीमे इस प्रकार है।

यह भी पढ़ें- लखीमपुर खीरी प्रयागराज और सुल्तानपुर में तेज बारिश की चेतावनी दी गई

विराट कोहली,रोहित शर्मा, केएल राहुल, सूर्यकुमार यादव ऋषभ पंत, हर्दिक पंड्या, ईशान किशन, शार्दुल ठाकुर, रविन्द्र जडेंजा, रविचन्द्र, अश्विन,जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, वरूण चक्रवर्ती, राहुल चाहर.
पाकिस्तान बाबरआजम, मोहम्मद रिजवान, फखर जमां, मोहम्मद हफीज, शोएब मलिक, आसिफ अली, इमाद वसीम, हारिस रऊफ, हसम अली, शाहीन शाह अफरीदी,हैदर अली।

शिवानी चौधरी

हरीश रावत के बयानों पर हमला बोलते हुए कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी

Listen to this article

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने रविवार को ट्वीट कर पंजाब के पूर्व कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत पर निशाना साधा। मनीष तिवारी ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस में छपे हरीश रावत के इंटरव्यू को ट्वीट करते हुए लिखा कि आदरणीय हरीश रावत जी, चूंकि आपने इस साक्षात्कार में मेरा जिक्र किया है। इसलिए मैं यह कहना चाहता हूं कि मेरे मन में भी आपके लिए उस समय से सम्मान है

यह भी पढ़े-केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के दौरे से निराश रही कांग्रेस

जब आप कांग्रेस सेवा दल का नेतृत्व करते थे और मैं छात्र संगठन एनएसयूआई का नेतृत्व करता था। हालांकि कांग्रेस में मेरे 40 साल में इतनी अराजकता कभी नहीं देखी जो आज पंजाब कांग्रेस में हो रही है।एक दूसरे के खिलाफ ऐसी गटरछाप भाषा का इस्तेमाल किया जा रहा है जो कोई नहीं करता होगा। पिछले 5 महीनों से पंजाब कांग्रेस के एक गुट दूसरे गुट से लड़ रहे हैं। क्या यह नहीं लगता है कि पंजाब के लोग इस डेली सोप ओपेरा को नापसंद करने लगे होंगे।

अजिता अग्निहोत्री

गौला पुल के निरीक्षण के लिए पहुंचे सीएम धामी

Listen to this article

हल्‍द्वानी के इंदिरानगर बाइपास स्थित क्षतिग्रस्त गौला पुल पर रविवार सुबह भाजपाई व कांग्रेसी आमने सामने थे। हालांकि, दोनों दलों के नेता पुल के निरीक्षण को पहुंचे थे। सीएम पुष्कर सिंह धामी, आपदा प्रबंधन मंत्री धन सिंह रावत, जिला प्रभारी मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद अफसरों संग पहुंचे थे। जबकि पुल के दूसरे छोर पर नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल व अन्य पदाधिकारी मौजूद थे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने निरीक्षण के दौरान एनएचएआइ व प्रशासन के अफसरों को जल्द से जल्द पुल की मरम्मत करने के लिए कहा। ताकि लोगों की परेशानी दूर हो सके।

इंदिरानगर बाइपास स्थित गौला पुल का तीस मीटर लंबा व 12 मीटर चौड़ा संपर्क मार्ग भूस्खलन की चपेट में आने के बाद नदी में समा गया था। उसके बाद से पुलिस ने बैरिकेड लगा चारों तरफ से घेराबंदी कर दी। वहीं, एनएचएआइ को अब मरम्मत का काम करना है। लोनिवि इस जिम्मेदारी से बच गया। क्योंकि, तीनपानी से लेकर काठगोदाम तक की सड़क को वह एनएचएआइ को ट्रांसफर कर चुका है। अब यह सड़क रामपुर टू काठगोदाम फोरलेन प्रोजेक्ट का हिस्सा है।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस की प्रतिज्ञा यात्रा कल से होगी शुरू

शुरुआत में वन विभाग व प्रशासन से अनुमति मिलने में दूरी हुई। मगर शुक्रवार को अनुमति मिलते ही एनएचएआइ ने नदी में मशीनों को उतार दिया। वहीं, शुक्रवार सुबह सीएम पुष्कर सिंह धामी दूसरी बार क्षतिग्रस्त पुल के निरीक्षण को पहुंचे। इससे पूर्व मंगलवार रात भी मौके पर आकर अफसरों को निर्देशित कर चुके हैं। इसी दौरान नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह भी पार्टी कार्यकर्ताओं संग पहुंच गए। लेकिन दोनों दलों के नेताओं को 25 मीटर गहरी खाई ने एक-दूसरे से दूर ही रखा।

खराब सड़कों के कारण पहाड़ में बसों पर रोक

Listen to this article

 आपदा के बाद खोले गए अन्य रास्तों से परिवहन निगम के पर्वतीय डिपो की बसों ने हल्द्वानी आना शुरू कर दिया है। लेकिन कुमाऊं के बड़े रोडवेज डिपो में शामिल हल्द्वानी व काठगोदाम डिपो अभी अपनी बसों को पहाड़ नहीं चढ़ा रहा। इसके पीछे सवारियों और खराब सड़कों का हवाला दिया जा रहा है। इसलिए इन दो डिपो की बसें हल्द्वानी टू नैनीताल तक की सवारियां ढो रही है।

यह भी पढ़ें- भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने सिखांए राजनीति के गुण

पिछले हफ्ते दो दिन की भारी बारिश उत्तराखंड के लिए आपदा बनकर आई। खासकर कुमाऊं में पहाड़ से लेकर तराई तक खासा नुकसान हुआ। जिस वजह से जगह-जगह सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई। और मैदान से पहाड़ के रूटों पर वाहनों का चलना बंद हो गया। शुक्रवार को पिथौरागढ़ डिपो की बसों ने हल्द्वानी से सवारियां भरना शुरू कर दिया। पिथौरागढ़ डिपो की बसें पहाड़ से सीधा दिल्ली व दून रूट पर भी चल रही है। हालांकि, सीधा रास्ता खराब होने की वजह से अभी गाडिय़ां भीमताल, खुटानी, शहरफाटक होकर निकल रही है। हल्द्वानी औऱ काठगोदाम डिपो ने अभी तक नैनीताल के अलावा पहाड़ के अन्य रुटों पर सेवाओं को शुरु नहीं किया है।

ताइवन में आज महसूस किए गए भूकंप के छटके

Listen to this article

ताइवन में आज भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.2 रही। रात 1.11 मिनट पर ये झटके महसूस किए गए हैं। भूकंप का केंद्र पूर्वी ताइवन का यिलान काउंटी था। चाइना अर्थक्वेक नेटवर्क्स सेंटर (CENC) ने इसकी जानकारी दी है। बता आए दिन देश के किसी ना किसी कोने में भूकंप के झटके महूसस किए जाते हैं। हालांकि, आज ताइवान में महूसस किए भूकंप किए गए भूकंप के झटकों में अभी तक किसी भी प्रकार के नुकसान की कोई खबर नहीं आई है।

यह भी पढ़े-उत्तराखंड : तबाही की दास्तां बताते हुए भर आई आंखें

भूकंप क्यों आता है?

दरअसल, धरती मुख्य तौर पर चार परतों से बनी हुई है। इनर कोर, आउटर कोर, मैनटल और क्रस्ट. क्रस्ट और ऊपरी मैन्टल कोर। ये 50 किलोमीटर की मोटी परत कई वर्गों में बंटी हुई है, जिसे टैकटोनिक प्लेट्स कहा जाता है। ये टैकटोनिक प्लेट्स अपनी जगह पर हिलती रहती हैं। जब ये प्लेट बहुत ज्यादा हिल जाती हैं, तो भूकंप महसूस होता है।

अजिता अग्निहोत्री

12वीं की परीक्षा 22 और 10वीं की परीक्षा 29 नवंबर से होगी

Listen to this article

सीआईएससीई के दसवीं और बारहवीं के छात्र-छात्राओं के लिए अच्छी खबर है। सीआईएससीई यानी, काउंसिल फॉर दी इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन ने 10वीं व 12वीं के सेमेस्टर-1 का संशोधित शेड्यूल जारी कर दिया है। बोर्ड की जारी शेड्यूल के मुताबिक, सेमेस्टर-1 की 12वीं की परीक्षा 22 नवंबर  और 10वीं की 29 नवंबर से शुरू होगी। सीआईएससीई इसके अनुसार अपनी तैयारी में जुट गया है।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस की प्रतिज्ञा यात्रा कल से होगी शुरू

बोर्ड द्वारा तिथि के साथ परीक्षा का शिड्यूल जारी किया है। बोर्ड के सचिव गेरी एराथून ने बताया कि पहले परीक्षा ऑनलाइन लेने की घोषणा की गयी थी। कई स्कूलों द्वारा नेटवर्क की दिक्कतों के कारण परीक्षा ऑफलाइन ली जाएगी। 12वीं बोर्ड की परीक्षा 22 नवंबर से 20 दिसंबर तक चलेगी। वहीं, दसवीं की परीक्षा 29 नवंबर से 16 दिसंबर तक चलेगी। परीक्षा एक घंटे की होगी। 12वीं की परीक्षा हर दिन दो बजे से और दसवीं की हर दिन ग्यारह बजे से शुरू होगी। प्रश्नपत्र परीक्षा शुरू होने के दस मिनट पहले मिलेगा ताकि परीक्षार्थी सवालों को अच्छी तरह से समझ लें और उनका सटीक उत्तर लिख सकें। परीक्षा में किसी भी प्रकार के कदाचार की अनुमति नही है। पकड़े जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

अजिता अग्निहोत्री