मुख्यमंत्री धामी ने कोविड को लेकर उच्चाधिकारियों एवं जिलाधिकारियों की बैठक

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को सांय शासन के उच्चाधिकारियों एवं जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड- 19 से बचाव के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की समीक्षा की।उन्होंने सभी जिलाधिकारियों से जनपदवार व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त की। मुख्यमंत्री ने जनपदों के अस्पतालों में ऑक्सीजन, ऑक्सीजन बेड, आईसीयू बेड तथा बच्चों के लिए पृथक से ऑक्सीजन व आइसीयू बेडों की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। सभी जिलाधिकारी 31 जुलाई तक इससे सम्बन्धित व्यवस्थायें सुनिश्चित करायें। उन्होंने कहा कि जहां भी इसके लिए चिकित्सकों अथवा अपेक्षित धनराशि की जरूरत होगी उसकी व्यवस्था की जायेगी।
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कोविड से बचाव में टेस्टिंग तथा टीकाकरण दोनों ही बेहद जरूरी है। मुख्यमंत्री ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए हैं।

पिछले कुछ समय में कोविड संक्रमण के मामलों में कमी आई है, परंतु अभी भी पूरी सावधानी व सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने सभी जिला अस्पतालों सीएससी, पीएससी में पर्याप्त ऑक्सीजन, ऑक्सीजन बेड, आईसीयू, वेंटिलेटर तथा बच्चों के अलग से वार्ड बनाये जाने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में एमएच के हॉस्पिटलों मंछ कोविड से सम्बन्धित उपचार के लिए अतिरिक्त बेडों की व्यवस्था तथा वैक्सीन की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता के लिए वे रक्षा मंत्री एवं गृह मंत्री से भी बात करेंगे।

व्यवसायियों के लिए 200 करोड़ के पैकेज की व्यवस्था की गई है

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि सभी जिलाधिकारी जनपद के सभी अस्पतालों में की जाने वाली व्यवस्थाओं का आंकलन भी करें ताकि आवश्यकता पड़ने पर एक ही अस्पताल पर दबाव न पड़े। उन्होंने इस सम्बन्ध में जन जागरूकता के प्रसार पर भी ध्यान देने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत पर्यटन से जूड़े लोगों, व्यवसायियों के लिए 200 करोड़ के पैकेज की व्यवस्था की गई है। जो सीधे उनके खातों में जमा की जायेगी।
मुख्य सचिव डॉ एसएस सन्धु ने जिलाधिकारियों से कोविड-19 की थर्ड वेव की चुनौती का सामना करने के लिए तैयारी रखने को कहा। उन्होंने कहा कि इससे हम प्रदेश में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने में भी सफल होंगे। उन्होंने कहा कि कोविड के बाद इन व्यवस्थाओं का कैसे बेहतर उपयोग हो सके, इस पर भी ध्यान दिया जाए। उन्होंने सभी विभागों से समन्वय कर समस्याओं का बेहतर ढंग से समाधान करने की भी अपेक्षा की।सचिव स्वास्थ्य श्री अमित नेगी द्वारा कोविड-19 के बचाव के सम्बन्ध में राज्य स्तर पर की गई, व्यवस्थाओं का प्रस्तुतीकरण दिया गया। इस अवसर पर सभी जिलाधिकारियों द्वारा उनके स्तर पर की गई व्यवस्थाओं की जानकारी दी गई।बैठक में अपर मुख्य सचिव श्री आनन्द बर्द्धन, सचिव डॉ पंकज कुमार पाण्डेय, डॉ रणजीत सिन्हा तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

 

यह भी पढ़े- हुड़दंग मचा रहे लोगो को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

अब पहाड़ों पर निजी अस्पताल खोलने के लिए सहायता देगी सरकार

Listen to this article

बृहस्पतिवार को आरोग्य मंथन कार्यक्रम के आयोजन के दौरान मीडिया संवाद में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने यह एलान किया कि पहाड़ी क्षेत्रों में निजी अस्पताल खोलने के लिए सरकार एक इकट्ठा राशि सहायता प्रदान करेगी। अभी  इस पर विचार करते हुए इसके अंतर्गत 30 से 40 फिसदी कर सब्सिडी देने पर विचार किया जा रहा है।  इसके अलाव अभी तक प्रदेश के कईं अस्पताल ऐसे हैं जिन्होंने आयुष्मान योजना के अंतर्गत खुद को सूचीबध्द नहीं कराया है।

ऐसे में पंजीकरण कराने वाले अस्पतालों के प्रदेश में संचालन को लेकर सरकार इसका निर्णय लेगी। बृहस्पतिवार को आयुष्मान भारत योजना के 3 साल पूरे होने पर आरोग्य मंथन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस दौरान उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में निजी अस्पतालों की संख्या कम है इसके अतिरिक्त कईं निजी अस्पताल आयुष्मान पैकेज की दर कम होने का कारण बताकर इसमें पंजीकरण नहीं कर रहे हैं।

इसके लिए सरकार ने फैसला किया है कि केवल पंजीकरण कराने वाले अस्पतालों को ही संचालन की अनुमति दी जाएगी। और साथ ही अब तक आयुष्मान योजना के अंतर्गत ना आने वाले परिवारों के लिए सरकार कैबिनेट में प्रस्ताव पेश करेगी। इसके अतिरिक्त आयुष्मान योजना की जानकारी के लिए सभी सूचीबद्ध अस्पतालों में डिस्प्ले बोर्ड अनिवार्य रूप से लगाए जाएंगे।

 

प्रिया जायसवाल

 

यह भी पढ़े-  आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व पुलिस कर्मियों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि

मिशन यूपी में जुटी कांग्रेस, नवरात्रि में जारी करेगी विधानसभा चुनाव

Listen to this article

पंजाब में सरकार की कमान चरनजीत सिंह चन्नी को सौपंने के बाद कांग्रेस उत्साहित है। पंजाब मे दलित चेहरे पर दांव लगाकर कांग्रेस अब मिशन यूपी में जुट गई। कांग्रेस अक्टूबर के दूसरे हप्ते शुरू से शुरू होने वाले नवरात्र के दौरान यूपी  में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

इस बार कांग्रेस के समय पर उम्मीदवारों की सूची जारी कर के पांरपरिक प्रवृत्ती को तोड़ रही है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस के शीर्ष सूत्रों ने बताया कि पार्टी ने 150 विधानसभा  सींटो के लिए संभावित उम्मीदवारों की जांच परख कर ली। यूपी में कांग्रेस की विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है।

कि पार्टी की ओर से 150 सींटो में से 78 विधानसभा क्षेत्रो मे चुनाव रणनीति और संचालन के लिए नियंत्रण कक्ष पहले ही स्थापित किए जा चुके।  मालूम हो कि उत्‍तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। सूत्रों ने बताया कि कुछ सीटों पर उम्मीदवारों के नामों को पार्टी ने हरी झंडी दे दी है। यही नहीं पार्टी की ओर से उन उम्‍मीदवारों को जमीनी स्तर पर उतरने और चुनावी लड़ाई की तैयारी शुरू करने के लिए कहा गया है।

 

– शिवानी चौधरी

 

यह भी पढे़- बारिश के चलते आज बदरीनाथ और यमुनोत्री हाईवे रहेंगे बंद

सहायक लेखाकर की परीक्षा रद कर नए सिरे से कराने की मांग

Listen to this article

गुरुवार को नैनीताल रोड स्थित राय बहादुर पार्क में अभ्यार्थियों ने अधीनस्थ चयन सेवा आयोग के खिलाफ प्रदर्शन किया।प्रदर्शन करते हुए अभ्यार्थियों ने कहा कि परीक्षा का पैटर्न पूरी तरह नया होने के साथ बाजार में किताबें तक उपलब्ध नही थी। इसलिए उन्होंने परीक्षा रद करके नए सिरे से  कराने की मांग की है।

प्रदर्शन करते अभ्यार्थी विकास यादव ने कहा कि 12 से 14 सितंबर तक परीक्षा हुई थी। और फरवरी में अचानक 80 प्रतिशत सिलेबस बढ़ा दिया गया। जिसके कारण अभ्यार्थी अनुमान तक नहीं लगा सके। इसके साथ ही हिंदी माध्यम में सभी त्रुटियां होने की वजह से छात्र कई सवालों को ठीक से ,समझ भी नहीं सके। वहीं अन्य अभ्यार्थियों ने कहा कि 6 माह से तैयारी में जुटने की वजह से अन्य परीक्षा में शामिल होना मुश्किल है।

आयोग सचिव के खिलाफ की नारेबाजी

अभ्यार्थियों ने आयोग सचिव के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कहा कि परीक्षा ऑफलाइन तरीके से दुबारा आयोजित करवानी चाहिए।वरना वे व्यापक स्तर पर प्रदर्शन करेंगे।

आँचल

 

यह भी पढ़े-  गणेश गोदियाल ने कहा भाजपा के कई नेता कांग्रेस के संपर्क में

हर कांग्रेसी भाजपा में आने का इच्छुक: अनिल बलूनी

Listen to this article

विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियां एक दूसरे के ऊपर बयान बाजी कर रही है। इसी बीच राज्यसभा सांसद व भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी ने अपना एक बड़ा बयान देकर प्रदेश की राजनीति में हलचल मचा दी है।

अनिल बलूनी आज मीडिया पाठशाला कार्यक्रम में प्रदेश भाजपा  की मीडिया टीम को आने वाले विधानसभा चुनाव के प्रचार की टिप्स देने पहुंचे। इस कार्यक्रम में अनिल बलूनी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और उनके इर्द गिर्द एक दो लोगो को छोड़कर हर कांग्रेसी भाजपा में आने का इच्छुक है। और संपर्क भी कर रहा है। परन्तु भाजपा में हाउस फुल है।

 

हरीश रावत पर साधा निशाना

 

हरीश रावत नवजोत सिंह सिद्धू के समर्थन में बयान देते हुए पाकिस्तान के सेना जनरव को प्रा(भाई) बोला था जिसको लेकर अनिल बलूनी ने उन पर निशान साधते हुए कहा कि राजनीति कीजिए, दो-दो हाथ कीजिए हम तैयार है। लेकिन जिस बाजवा के हाथ भारत के सैनिकों के खून से रंगे हो उसे हरीश रावत भाई बोल रहे है। ये बहुत दुखद है

इसके लिए हरीश रावत को माफी मांगनी चाहिए। जिस तहर की वह बातें कर रहे हैं उससे कांग्रेस का और समाज का भी नुकसान है। वोटों के तुष्टिकरण के लिए कृपया इस तरह की राजनीति न करें।

साथ ही उन्होंने बताया कि पीएम मोदी ,केंद्रीय मंत्री अमित शाह,राजनाथ सिंह उत्तराखंड आएंगे और यहां की जनता से मिलेंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार दोबारा बने उसके लिए हम कोई कसर नही छोड़ने वाले है।

 

आँचल

 

 

यह भी पढ़े-  गणेश गोदियाल ने कहा भाजपा के कई नेता कांग्रेस के संपर्क में

इतिहास के पन्नों में समाहित हो गया पुलिस का शक्तिमान

Listen to this article

एक महीने तक दर्द सहने के बाद शक्तिमान ने 20 अप्रैल को दुनिया से अलविदा कह दिया। पुलिस ने अपने शक्तिमान की याद में उसे सम्मान देने के लिए पुलिस लाइन में उसकी प्रतिमा की स्थापना की। यह घोड़ा पुलिस ने दिल्ली के शिवचरण राणा से खरीदा था। शक्तिमान पुलिस लाइन में साल 2011 में शामिल हुआ था।

शक्तिमान गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस और स्थापना दिवस पर अपने करतबों के लिए मशहूर था। लेकिन शक्तिमान के पैर घायल होने के बाद वह एक महीने तक दर्द से जूझता रहा उसके लिए अमेरिका से कृत्रिम टांग भी मंगवाई गई डॉक्टरों ने दावा किया था कि वह 45 दिनों मे फिर से चलने लगेगा लेकिन 20 अप्रैल को शक्तिमान की जान चली गई।

यह मुद्दा देश- विदेश तक चर्चित हुआ। शक्तिमान प्रकरण को लेकर सदन से लेकर सड़को तक प्रदर्शन किए गए इसके चलते घोड़े की हत्या के लिए मेनका गांधी ने गणेश जोशी के निष्कासन की मांग भी उठाई। हालांकि गणेश जोशी ने अपने बयानों में कहा कि उनकी छवि को खराब करने का प्रयास किया जा रहा है। भावुक होकर गणेश जोशी ने यहां तक कहा था कि यह वह दोषी पाए गए तो उनकी टांग भी काट दी जाए और यदि यह साजिश है तो आरोपितों पर कार्रवाई की जाए। इस प्रकरण के बाद गणेश जोशी को सहारनपुर रोड स्थित एक होटल से गिरफ्तार कर लिया गया था।

 

प्रिया जायसवाल

 

यह भी पढ़े-  हर कांग्रेसी भाजपा में आने का इच्छुक: अनिल बलूनी

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व पुलिस कर्मियों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि

Listen to this article

मुख्यमंत्री की घोषणा के क्रम में गृह विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किया है कि कोरोनाकाल में सराहनीय कार्यों व सेवा करने वाले पुलिस कर्मियों इंस्पेक्टर से लेकर 4 क्लास के कर्मचारियों को एक साथ 10हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इनके साथ ही महिला सशक्तीकरण व बाल कल्याण विभाग ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 5 माह तक हर माह 2 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि देने के आदेश जारी किए है।

 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कुछ समय पहले इसकी घोषणा की थी। जिसको लेकर अब प्रोत्साहन राशि देने के लिए आदेश जारी किए जा रहे है। जारी आदेशो के अनुसार यह प्रोत्साहन राशि जल्द कार्मिकों को उपलब्ध कराई जाएगी जिसके लिए इसकी सूची शासन को भेजी जाएगी।

 

 7.80 करोड़ महालक्ष्मी किट के लिए जारी

 

सीएम घोषणा क्रम में महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग ने आंगनबाड़ी केंद्रों में महालक्ष्मी किट खरीदने के लिए 7.80 करोड़ जारी कर दिए है। महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास सचिव हरिचंद्र सेमवाल द्वारा जारी आदेश में स्पष्ट किया गया है कि धनराशि का उपयोग उसी कार्य के लिए किया जाए, जिस कार्य के लिए ये धनराशि जारी की गई है।

 

आँचल

 

 

यह भी पढ़े-  गंगोत्री हाईवे के पास खाई में गिरी कार एक की मौत 3 घायल