PM मोदी के समीक्षा करने पर रामलला मंदिर के मुख्य पुजारी प्रसन्न

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शनिवार को अयोध्या के विकास कार्य की समीक्षा करने के साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ के रामनगरी को लेकर विजन डॉक्यूमेंट देखने के फैसले पर रामलला मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने काफी प्रसन्नता व्यक्त की है। आचार्य ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह कदम निश्चित रूप से रामनगरी अयोध्या के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।

आचार्य सत्येंद्र दास से कहा कि रामनगरी अयोध्या में काफी विकास कार्य प्रस्तावित हैं, लेकिन इससे परोक्ष रूप से पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ का जुडऩा काफी अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि यह तो सत्य है कि जब तक पीएम नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या में चल रहे विकास कार्य की स्वयं मॉनिटरिंग नहीं करेंगे, तब तक तो यहां पर विकास कार्य कागज पर ही दिखेगा। यहां पर अधिकारियों को बेहद मुस्तैद रखने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की इस तरह की समीक्षा बैठक बेहद जरूरी है।

1992 में यहां पर मुख्य पुजारी नियुक्त किये गये थे

राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास बीते 28 वर्ष से अयोध्या में रामलला की पूजा कर रहे हैं। उनको 1992 में यहां पर मुख्य पुजारी नियुक्त किया गया था। अयोध्या में 1992 में विवादित ढांचा गिरने से करीब नौ महीने पहले से पुजारी के तौर पर आचार्य सत्येंद्र दास रामलला की पूजा करते रहे हैं। मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा था कि भारी सुरक्षा और प्रतिबंधों के बीच लंबे समय तक नियमित रूप से रामलला की पूजा करते हुए उन्हेंं हमेशा लगता था कि यहां एक न एक दिन दिन भव्य मंदिर जरूर बनेगा। उनको पांच मार्च 1992 को विवादित स्थल के रिसीवर ने यहां पर पुजारी के तौर पर यहां नियुक्त किया था, तब से नियमित रूप से आचार्य सत्येंद्र दास रामलला की पूजा अर्चना करते आ रहे हैं।

–  मीना छेत्री

 

यह भी पढे़- उत्तराखंड में ‘Early Warning System’ को सर्वे करवाएगी सरकार

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

कर्नाटक में मंत्रिमंडल विस्तार में आज 29 मंत्रियों ने ली शपथ

Listen to this article

कर्नाटक मे मंत्रिमंडल का विस्तार आज किया गया । बेंगलुरु स्थित राजभवन में राज्यपाल थावरचंद गहलोत ने  29 मंत्रियों को शपथ दिलाई । शपथ ग्रहण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई भी शामिल हुए थे। इन मंत्रीयो की पूरी लिस्ट आज सुबह ही राज्य के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को मिली। मुख्यमंत्री ने स्वयं इसकी पुष्टि की और बताया, ‘नए मंत्रिमंडल में 29 मंत्रियों को शामिल किया जाएगा, किसी को भी उपमुख्यमंत्री पद पर नियुक्त नहीं किया जा रहा है।

आज सुबह आगे उन्होंने कहा की, ‘हमें आधिकारिक तौर पर मंत्री परिषद की लिस्ट मिल गई है। इनमें उन मंत्रियों के नाम शामिल हैं जो आज राजभवन में शपथ लेने वाले हैं। जानकारी दें दे की मुख्यमंत्री बोम्मई अपने मंत्रिमंडल के विस्तार पर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श करने के लिए पिछले दो दिनों से दिल्ली में थे

 

 -रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में कोरोना मरीजों के मामलो में आई कमी

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा से मांगे जवाब

Listen to this article

उत्तराखंड कांग्रेस चुनाव संचालन समिति के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने खुले तौर पर स्वीकार किया कि कांग्रेस शासनकाल में विजय बहुगुणा को मुख्यमंत्री पद से इसलिए हटाया गया था कि वह आपदा नियंत्रण में विफल रहे थे। मगर मुख्यमंत्री के पद से त्रिवेंद्र सिंह रावत को क्यों हटाया भाजपा इस बात का जवाब दें।

ऋषिकेश में विचार मंथन शिविर के दौरान बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा से सवाल किया कि चार साल के कार्यकाल के बाद मुख्यमंत्री के पद से त्रिवेंद्र सिंह रावत को क्यों हटाया गया। हमसे कोई पूछता है कि कांग्रेस सरकार में विजय बहुगुणा को क्यों हटाया गया था, कारण साफ था कि केदारनाथ आपदा के बाद आपदा प्रबंधन में वह फेल रहे थे। इसलिए मुख्यमंत्री को बदला गया। ऐसी ही त्रिवेंद्र रावत को हटाने का कारण बताने की हिम्मत भाजपा में क्यों नहीं है।

उत्तराखंड प्रदेश चुनाव संचालन समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने स्पष्ट किया कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस संगठन के प्रति निष्ठावान और जीत की प्रबल संभावना रखने वाले व्यक्ति को ही प्रत्याशी बनाने में प्राथमिकता देगी। उन्होंने कहा कि चुनाव में नए युवाओं और महिलाओं को भी ज्यादा प्रतिनिधित्व दिया जाएगा। इसके लिए शीघ्र चयन समिति का गठन किया जाएगा।

 

यह भी पढ़े- कर्नाटक में मंत्रिमंडल विस्तार में आज 29 मंत्रियों ने ली शपथ

मुख्यमंत्री योगी ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ चर्चा की

Listen to this article

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार सुबह बलरामपुर देवीपाटन शक्तिपीठ में रात्रि विश्राम के बाद शक्तिपीठ का पूजन किया और फिर परिसर स्थित गौशाला गए। वहां उन्होंने गायों को हरा चारा खिलाकर गायों की सेवा की। इससे पहले रात में मुख्यमंत्री योगी ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों और पार्टी पदाधिकारियों से चर्चा की। मुख्यमंत्री ने हिंदू जागरण मंच और विश्व हिंदू महासंघ के पदाधिकारियों से भी मुलाकात की और चर्चा की। मुख्यमंत्री बुधवार सुबह तुलसीपुर से गोरखपुर के लिए रवाना हुए।

मुख्यमंत्री योगी मंगलवार की शाम पहुंचे

शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार की शाम को पहुंचे। इससे पूर्व श्रावस्ती जिला के मुख्यालय भिनगा से लाइव प्रसारण के माध्यम से कलेक्ट्रेट एनआईसी सभागार में सभी विभागों के अधिकारियों ने सीएम का संबोधन सुना। अपने संबोधन में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने की दिशा में सभी अधिकारी कार्य करें। प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी को लेकर हर स्तर पर प्रयास किया कि जनहानि न होने पाए।

पुष्पा रावत

 

यह भी पढे़- वाराणसी कमिश्नरेट के अपर पुलिस आयुक्त समेत मिर्जापुर-आजमगढ़ के भी शामिल डीआईजी

बसपा सुप्रीमो मायावती ने दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग

Listen to this article

बसपा सुप्रीमो मायावती ने दिल्ली कैंट के नांगल गांव में 9 साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि घटना बेहद दुखद और शर्मनाक है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली कैंट के नांगल गांव में 9 साल की एक दलित लड़की से बलात्कार के बाद उसकी नृशंस हत्या और उसके शव को जलाना बेहद दुखद और शर्मनाक है। बसपा की मांग है कि दोषियों के खिलाफ बिना देर किए सख्त कार्रवाई की जाए और ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं।

पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे

सामूहिक दुष्कर्म के बाद बच्ची की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा। मंगलवार को जहां पीड़ित बच्ची के परिजनों से मिलने के लिए कई पार्टियों के नेता पहुंचे, वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार सुबह पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे। उन्होंने परिवार के लोगों को अपनी गाड़ी में बिठाकर बात की। यह मुलाकात 10 मिनट से भी ज्यादा समय की रही।

परिवार से मिलने के बाद राहुल गांधी ने कहा, मैंने परिवार से बात की। उन्हें सिर्फ न्याय चाहिए और कुछ नहीं। उनकी मदद की जानी चाहिए। हम वह करेंगे। मैं उनके साथ खड़ा हूं। राहुल गांधी तब तक उनके साथ खड़ा है जब तक कि उन्हें न्याय नहीं मिल जाता।

पुष्पा रावत

 

यह भी पढ़े- दिल्ली में दुष्कर्म के मामलों में खेली जा रही राजनीति

शिक्षा मंत्रालय ने सभी स्कुलों मे NCC प्रशिक्षण की बनाई योजना

Listen to this article

केंद्र सरकार युवाओं में सेना और दुसरे सुरक्षा बलों के प्रती झुकाव बढ़ाने के लिए अब सभी माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कुलों को अनिवार्य NCC प्रशिक्षण से जोड़ने की तैयारी में है और इस दिशा मे काम शुरु हो गया है। जानकारी दी गई है की शिक्षा मंत्रालय ने इस योजना पर तेजी से काम शुरु कर दिया है। पहले चरण में देशभर के सभी केंद्रीय विधालय और नवोदय विधालयों मे इस प्रशिक्षण को शुरु किया जाएगा और राज्यों को इसकी तैयारी करने को कहा गया है । स्कूलों में NCC विंग के विस्तार की यह योजना नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति की सिफारिश के बाद बनाई गई है, जिसमें रक्षा मंत्रालय की मदद से राज्य सरकारों को इसके लिए प्रोत्साहित करने की बात कही गई है। इसके साथ ही कहा गया है कि इससे छात्रों की प्रतिभा की पहचान में मदद मिलेगी। इससे वह सेना और सुरक्षा बलों के साथ मिलकर अपने करियर को भी संवार सकेंगे।

शिक्षा मंत्रालय जुटा रहे जानकारी

जानकारी के अनुसार फिलहाल ऐसे सभी केंद्रीय विधालय और नवोदय विधालयों की जानकारी निकाली जा रही है जंहा मौजुद समय में NCC प्रशिक्षण की सुविधा नहीं है और जानकारी जुटाने को बाद सरकार जल्द ही रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर इसे मंजूरी ले सकती है

 

  -रितिका चौहान

 

यह भी पढे़- उत्तराखंड में मलिन बस्तियों के बचाव के लिए विधेयक लाने की घोषणा

देहरादून में ग्राफिक एरा में अब 10वीं के छात्र भी कर सकेंगे बीटेक

Listen to this article

ग्राफिक एरा ने अब हाइ स्कूल के बाद छात्र और छात्रों को सीधे बीटेक में दाखिला कर लेगें। इस साल में जो 10वीं पास कर चुके है उन्हें अब बीटेक में दाखिला मिल जाएगा। वंही ग्राफिक एरा एजुकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डा. कमल घनशाला ने बताया कि छात्र-छात्राओं को शुरुआत से ही उनकी रुचि के क्षेत्र में आगे बढ़ाने और प्रतिभा को ज्यादा बेहतर ढंग से निखार कर कुशल प्रोफेशनल बनाने के लिए ग्राफिक एरा ने यह कदम उठाया था।  स्कूली शिक्षा के दो वर्षों को इंजीनियरिंग की प्रोफेशनल और टेक्निकल शिक्षा से जोड़ने की यह पहल नए इंजीनियरों की नींव को मजबूत करेगी।

यह ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी के देहरादून, भीमताल और हल्द्वानी परिसरों में यह सुविधा दी गई है। बीटेक में प्रवेश के लिए पहली ऑनलाइन काउंसिलिंग सात अगस्त को होगी। बीटेक कम्प्यूटर साइंस, सिविल, मैकेनिकल, आटोमोबाइल, बायोटेक, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रोनिक्स एंड कम्युनिकेशन से भी अब आवेदन भर सकते है।

 

 – नैन्सी लोहानी  

 

यह भी पढ़े-  उत्तराखंड में महिलाओं का टीकाकरण अभियान आज से हुआ शुरु