कोरोना को लेकर सीएम की समीक्षा बैठक,कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर अधिकारियों को दिए निर्देश

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि कोविड से बचाव के लिए अनुशासित तरीके से पैदल मार्च कर जागरूकता अभियान चलाया जाए

 

मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने कहा कि लोगों को जागरूक किया जाय कि कोविड के लक्षण पाये जाने पर शीघ्र कंट्रोल रूम एवं हेल्पलाईन नम्बर पर काॅल करें

 

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये कि त्योहरों के समय में और सजग रहने की आवश्यकता है। त्योहारों के समय भीड़ तेजी से बढ़ेगी। इसके लिए मास्क के उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग एवं विभिन्न माध्यमों से जागरूकता कार्यक्रम चलाये जाए। स्वास्थ्य विभाग, प्रशासन, पुलिस एवं अन्य विभागों के बेहतर तालमेल से कोविड पर नियंत्रण के प्रभाव दिख रहे हैं, लेकिन इस तरह की सतर्कता लगातार बरतनी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहर से आने वाले पर्यटकों को मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग के लिए जागरूकता के साथ ही शालीनता से व्यवहार रखा जाय। मास्क का उपयोग न करने पर चालान करना मकसद नहीं होना चाहिए, जो लोग बिना मास्क के घर से बाहर निकल रहे हैं, उन्हें मास्क उपलब्ध कराये जाए एवं मास्क को सही तरीके से लगाने के लिए जागरूक भी किया जाए।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि कोविड से बचाव के लिए अनुशासित तरीके से पैदल मार्च कर जागरूकता अभियान चलाया जाए। इसमें वर्दीधारी विभागों पुलिस, वन विभाग के अलावा मीडिया, समाजिक संगठनों, कर्मचारी संगठनों, छात्र संगठनों, महिला समूहों, किसान संगठनों एवं कोविड विनर्स के माध्यम से पैदल मार्च कर लोगों को जागरूक किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 02 नवम्बर से 10वीं एवं 12वीं की कक्षाएं स्कूलों में शुरू होंगी, प्रधानाचार्य, शिक्षक एवं कर्मचारी स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क की अनिवार्यता का अनुपालन कराना सुनिश्चित करेंगे। सार्वजनिक स्थानों, पर्यटक स्थलों एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर जागरूकता के लिए वाॅल पेंटिंग कराई जाय।

मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने कहा कि लोगों को जागरूक किया जाय कि कोविड के लक्षण पाये जाने पर शीघ्र कंट्रोल रूम एवं हेल्पलाईन नम्बर पर काॅल करें। लापरवाही बिल्कुल न बरती जाय। इसके लिए व्यापक स्तर पर जन जागरूकता अभियान चलाया जाय। सभी जिलों से फ्रंट लाईन वर्कस, को-माॅर्बिड, ओल्ड एज एवं प्रेगनेन्ट महिलाओं की लिस्ट अपडेट रखी जाय। सैंपल टेस्टिंग में पेंडेंसी न रहे। युवाओं को मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए प्रेरित किया जाय। भीड़ वाले स्थानों एवं कार्यालयों में थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य रूप से हो।
डीजी लाॅ एण्ड आर्डर अशोक कुमार ने कहा कि त्योहारों के दृष्टिगत मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग के लिए पुलिस द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। चालान के साथ ही मास्क भी वितरित किये जा रहे हैं। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर विभिन्न माध्यमों से जागरूकता अभियान चलाये जा रहे हैं। त्योहारों के दृष्टिगत व्यापारिक संगठनों से दुकानों में मास्क एवं सेनीटाईजर की पर्याप्त व्यवस्था एवं नियमों के पालन के लिए समन्वय बैठकें की जा रही हैं।

सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी ने कहा कि राज्य में कोरोना से रिकवरी रेट में सुधार हुआ है। आॅक्सीजन एवं आईसीयू बेड पर्याप्त मात्रा में हैं। उन्होंने कहा कि गंगा के किनारे घाटों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्णतया अनुपालन कराया जाय। त्योहारों के दृष्टिगत मानव संसाधन बढ़ाये जाय। होम क्वारंटीन पर रह रहे लोगों के स्वास्थ्य के बारे में नियमित जानकारी ली जाय। 01 नवम्बर से दून मेडिकल काॅलेज, सुशीला तिवारी मेडिकल काॅलेज एवं अन्य अस्पतालों में ओपीडी चालू करने की तैयारी है।

 

यह भी पढ़ें- मुख्यमंत्री ने की शहरी विकास और आवास विभाग की समीक्षा,योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाये जाने के मुख्यमंत्री ने दिये निर्देश

 

 

Onion Price Rise in India - Measures taken by Government to control onion price #UPSC #IAS

 

 

 

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में आरोपी गिरफ्तार

नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में आरोपी गिरफ्तार

नाबालिग के साथ दुष्कर्म मामले में पुलिस ने बीती शाम को आरोपी को पकड़ लिया है।

बीते 18 नवंबर को आरोपी ने रसगुल्ले में नशीला पदार्थ मिलाकर नाबालिग को खिलाया और फिर दुष्कर्म

की घटना को अंजाम दिया और नाबालिक को जान से मारने की धमकी भी दी गई थी। तब से पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी।

जिसमें बीती शाम पुलिस को कामयाबी मिली है। आरोपी की पहचान इमरान उर्फ तोता के रुप में हुई है जिसको आज कोर्ट में पेश किया गया।

पुलिस ने आरोपी को सभावाला रास्ते पर दबोचा

इस आरोपी को सहसपुर थाने की पुलिस ने सभावाला जाने वाले रास्ते में धर दबोचा।

इस मामले में पुलिस आरोपी को आज कोर्ट में पेश करेगी। और साथ ही जान से मारने की

धमकी देने वाले आरोपियों के खिलाफ पुलिस जांच कर रही है।

महिला ने सहसपुर थाने में दी थी तहरीर

वहीं सहसपुर थाने में महिला ने तहरीर देते हुए ये आरोप लगाए थे कि उसकी 13 साल की बेटी

को आरोपी ने बहला-फुसलाकर सहारनपुर किसी रिश्तेदार के यहां ले गया,

जहां आरोपी ने रसगुल्ले में नशीला पदार्थ खिलाकर दुष्कर्म किया।

अगले दिन आरोपी पीड़िता को लक्ष्मीपुर क्षेत्र में कबाड़ के गोदाम में ले गया।

जहां उसने पीड़िता की मां और पिता को बुलाया और जान से मारने की धमकी दी।

वहीं महिला ने एक जनप्रतिनिधि पर भी जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था।

 

यह भी पढ़ें-गोरखपुर में 72 घंटे में मिले दो शव, मचा वबाल

भूमि विवाद को लेकर बुजर्ग की लाठी से पीट कर हत्या

भूमि विवाद को लेकर बुजर्ग की लाठी से पीट कर हत्या

भूमि को लेकर हुआ था विवाद

भूमि विवाद को लेकर उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के थाना इटियाथोक क्षेत्र के तहरी परसोईयां गांव

के मजरे नौव्वा इलाके में  एक बुजुर्ग की लाठियों से पीटकर हत्या कर दी गयी।

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को बुजुर्ग गांव के पास के अस्पातल में दवा लेने जा रहे थे,

इस बीच रास्ते में ही गांव के कुछ लोगों ने उन पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया जिस कारण उन्हें गंभीर चोटें आ गईं।

स्थानीय लोग बुजुर्ग को अस्पातल लेकर जा रहे थे, लेकिन उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

छह लोगो के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई  है

बुजुर्ग की पहचान स्वामीनाथ तिवारी के रूप में हुई है।

प्रभारी निरीक्षक इटियाथोक संजय कुमार दुबे ने बताया कि मृतक के पुत्र संजीत तिवारी ने छह लोगो के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

पूछताछ के दौरान संजीत तिवारी ने बताया कि  दोपहर में परिवार में किसी बात को लेकर आपस में

घर की महिलाओं में वाद-विवाद हुआ था। पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि पोस्माटर्म रिपोर्ट आने के बाद ही जांच को आगे बढ़ाया जाएगा।

 

यह भी पढें-उत्तराखंड के हिमालयी क्षेत्रों में बर्फीला तूफान

आगरा: शक्ति चैम्पियंस मिशन के तहत आज दी जाएगी जिम्मेदारी

शक्ति चैम्पियंस मिशन के तहत आज दी जाएगी जिम्मेदारी

उत्तर प्रदेश के आगरा में महिला सुरक्षा को लेकर जागरुकता अभियान शक्ति चैम्पियंस  मिशन चलाया जा रहा है।

इस मिशन के तहत महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा, संरक्षण व हिंसा पर रोकथाम के लिए महिला कल्याण विभाग को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है।

शक्ति चैम्पियंस में योगदान देने वाली महिलाओं को दी जाएगी जिम्मेदारी 

शक्ति चैम्पियंस मिशन को आगे बढ़ाने में जिन महिलाओं ने अपना योगदान दिया है उन्हें 27 नवम्बर को चैंपियन का दर्जा दिया जाएगा।

इसके लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। शुक्रवार को इन्हें पहचान पत्र, बैच और विधिवत कार्य वितरण किया जाएगा।

निदेशक महिला कल्याण व मिशन शक्ति के नोडल अधिकारी मनोज कुमार राय का कहना है कि कोई भी महिला,

पुरुष, बालक, बालिका या थर्ड जेंडर जो महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा, सम्मान और आत्मनिर्भरता की दिशा में जागरूक करने का बेहतर कार्य कर रहे हैं,

उन्हें शक्ति चैम्पियंस का दायित्व निभाने के लिए आगे लाया जा रहा है।

इनका चयन ग्राम, ब्लाक व जिला स्तर पर किया जाएगा।

इनका काम ग्राम या वार्ड में महिलाओं और बच्चों के अधिकारों, कानूनों और मुद्दों पर जागरूकता पैदा करना होगा।

हेल्पलाइन नंबर का प्रचार

शक्ति चैम्पियंस  मिशन के तहत 1090 वुमन पावर लाइन, 1098 चाइल्ड लाइन, 108 एम्बुलेंस सेवा,

102 स्वास्थ्य सेवा, 112 इंटीग्रेडेड हेल्पलाइन, 1076 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, 181 महिला हेल्पलाइन का ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार करना होगा।

शक्ति चैम्पियंस पुलिस और अधिकारियों को स्थानीय ऐसे स्थलों की जानकारी भी मुहैया कराएंगे,

जो महिलाओं और बच्चों के लिए जोखिम भरे हो सकते हैं, जैसे – विद्यालय के पास शराब की दुकान का होना,

विद्यालय के समय आस-पास असामाजिक तत्वों का भीड़ होना, विद्यालय में शौचालय व भेदभाव रहित वातावरण का न होना आदि।

जागरुता शिविर आयोजित किए जाएंगे

शक्ति चैम्पियंस मिशन के तहत घरेलू हिंसा, दहेज शोषण, शारीरिक और मानसिक शोषण,

बाल विवाह, बाल श्रम , शारीरिक उत्पीड़न आदि सामाजिक हिंसा मामले शामिल हैं।

शक्ति चैम्पियंस मिशन के अंतर्गत सभी तरह की हिंसा के मामले पुलिस में दर्ज करा सकते हैं।

मिशन के तहत स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर समय-समय पर जागरुता शिविर आयोजित किए जाएंगे।

 

यह भी पढें-सरकारी अस्पताल में एक कुत्ते ने खाया एक युवती का शव

वृदांवन :  जंगल में मिला बच्ची का शव, दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका

जंगल में मिला बच्ची का शव, दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका

वृंदावन कोतवाली के रमणरेती चौकी क्षेत्र स्थित जंगल में शुक्रवार की सुबह एक

बच्ची का शव मिलने से सनसनी फैल गई। जानकारी के अनुसार बच्ची अपनी रिश्तेदार महिला के साथ

गुरुवार को जंगल मे लकड़ी बीनने गयी थी। देर रात तक बच्ची के न मिलने पर बच्ची के परिजनों ने पास के थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

जंगल में ग्रामीणों ने बच्ची का शव देखा

पुलिस ने देर रात तक बच्ची की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया, लेकिन बच्ची का पता नहीं चला।

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की सुबह मल्टी लेवल पार्किंग और गांव सुनरख के बीच में

स्थित जंगल में ग्रामीणों ने बच्ची का शव देखा तो पुलिस को सूचना दी।

एक व्यक्ति को हिरासत मे लिया है

बच्ची का शव अर्धनग्न हालत में पड़ा मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

बच्ची की दुष्कर्म के हत्या की आशंका जताई जा रही है। पुलिस का कहना है इस मामले में

जांच शुरु कर दी गई है। पुलिस ने संदेह के आधार पर एक व्यक्ति को हिरासत मे लिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी।

यह भी पढें-बहन को विदा कर घर लौट रहे किशोर की मौत, परिवार में मातम

मॉर्निंग वॉक पर निकली महिला की डीएम आवास के पास गोली मारकर हत्या

मॉर्निंग वॉक पर निकली महिला की गोली मारकर हत्या

उत्तर प्रदेश के झांसी शहर में शुक्रवार सुबह महिला मॉर्निंग वॉक के लिए निकली एक

महिला की बाइक सवार व्यक्ति ने गोली मार कर हत्या कर दी। यह सीपरी बाजार थाना

क्षेत्र स्थित पॉश कॉलोनी में डीएम आवास के बेहद नजदीक हुई। पुलिस के मुताबिक महिला

की पहचान पूजा जायसवाल के रुप में हुई है। दिन-दहाड़े हुए इस हत्याकांड से पॉश इलाके में सनसनी फैल गयी।

सुबह गश्त कर रही पीआरबी को सड़क पर घायल अवस्था में पड़ी महिला दिखी।

सूचना मिलते ही पुलिस घटना स्थल पर पहुंची और महिला को निजी अस्पातल में पहुंचाया गया।

महिला के घर वालों से की  पूछताछ

इलाज के दौरान महिला की मृत्यु हो गई।

पुलिस जानकारी के अनुसार घटनास्थल के पास बीकेडी से सीपरी जाने वाले मार्ग पर एक

तरफ जिलाधिकारी आवास है तो दूसरी तरफ कमिश्नरी, ध्यानचंद स्टेडियम और सर्किट हाउस हैं

जहां हर समय वीआईपी मूवमेंट रहता है। पुलिस ने सुबह टहलने  वाले लोगों से पूछताछ की तो

पता चला कि बाइक पर सवार कुछ लोग महिला के करीब से निकले थे और कुछ आवाज आई थी

लेकिन किसी ने ज्यादा ध्यान नहीं दिया। उस समय कुछ लोग ही टहल रहे थे। पुलिस ने महिला के घर

वालों से भी पुछताछ की। पुलिस की जांच अभी चल रही है। एसएसपी ने हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की तीन टीमें बनाई गई हैं।

 DO READ नौकरी लगाने का झांसा देकर दो लोगों से ठगी

  मुठभेड़ में मारा गया एक लाख का इनामी बदमाश

  मुठभेड़ में मारा गया एक लाख का इनामी बदमाश

वाराणसी में बीती रात हुए एनकाउंटर में एक लाख रुपये का इनामी बदमाश मारा गया।

कल रात वाराणसी के जैतपुरा थाना क्षेत्र के लाट सरैया इलाके में हुई मुठभेड़ में ईनामी बदमाश

को गोली लगी जिसके बाद उसे कबीर चौरा मंडलीय अस्पातल ले जाया गया जहां डॉक्टरो ने उसे मृत घोषित कर दिया।

उसके साथ अन्य लोग भी थे जो भागने में सफल रहे। मुठभेड़ में पुलिस के दो जवान भी घायल हुए।

घटना स्थल से पुलिस ने दो पिस्टल, काफी मात्रा में गोलियां और एक पैशन बाइक भी बरामद की।

जानकारी के मुताबिक मृतक की पहचान रौशन गुप्ता उर्फ किट्टू है बताया गया जिसके ऊपर 48 मुकदमों से

भी अधिक मुकदमें दर्ज हैं। रौशन गुप्ता उर्फ किट्टू पर वाराणसी के आलावा आसपास के जनपदों में भी हत्या के मुकदमे दर्ज हैं।

रौशन गुप्ता पर वाराणसी की पुलिस ने एक लाख रुपये का इनाम भी रखा था।

मोनू चौहान की तीन दिन पहले ही पुलिस मुठभेड़ में मौत हो गई थी

वाराणसी के एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि 2015 में वाराणसी में एसटीएफ और रोहित सिंह उर्फ

सन्नी की मुठभेड़ में मौत हो गई थी, रौशन गुप्ता उर्फ किट्टू और मोनू चौहान सन्नी गैंग के लेकर सक्रिय सदस्य थे।

मोनू चौहान की तीन दिन पहले ही पुलिस मुठभेड़ में मौत हो गई थी। मोनू चौहान पर  50 हजार रुपये का इनाम था।

इसके बाद 50 हजार का इनामी अनिल यादव भी दो दिन बाद पुलिस मुठभेड़ में पकड़ा गया था,

जिसके बाद पुलिस रौशन गुप्ता उर्फ किट्टू की तलाश तेज कर दी थी।

उसका तीसरा साथी अभी फरार है पुलिस उसकी भी जांच कर रही है।

पुलिस का कहना है कि जल्द ही वह भी गिरफ्त में होगा। एसएसपी ने बताया कि सफल

एनकाउंटर के लिए पुलिस टीम को 2 लाख रूपये के इनाम की बात शासन से हो गई है।

यह भी पढें- सरकारी अस्पताल में एक कुत्ते ने खाया एक युवती का शव