ऋषिकेश-नीलकंठ रोपवे बनने की उम्मीद जल्द ही

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

यमकेश्वर प्रखंड में मणिकूट पर्वत की तलहटी में स्थित पौराणिक श्री नीलकंठ महादेव मंदिर के लिए ऋषिकेश से रोपवे का सपने को अब जल्द ही हकीकत बनने की उम्मीद जगी है। सब कुछ ठीक रहा तो दो वर्ष के भीतर ऋषिकेश से नीलकंठ के लिए रोपवे का विकल्प खुल जाएगा।ऋषिकेश से नीलकंठ महादेव मंदिर तक रोपवे बनाने की मांग कई वर्षों से की जा रही है।

कई बार इसके लिए सर्वे भी हुए। मगर, कभी राजाजी पार्क के कानून आड़े आए तो कभी अन्य कारण। लेकिन, अब इंडियन पोर्ट रेल एवं रोपवे कारपोरेशन के साथ स्थानीय प्रशासन ने इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। नगर निगम के मुख्य आयुक्त नरेंद्र सिंह क्वीरियाल ने बताया कि पर्यटन की दृष्टि से राज्य सरकार की ओर से ऋषिकेश से नीलकंठ तक पर्यटन विभाग को रोपवे बनाए जाने की स्वीकृति दे दी गई है।बुधवार को कारपोरेशन के अधिकारियों के साथ प्रशासन की टीम ने प्रस्तावित रोपवे के रूट व स्टेशन का स्थलीय निरीक्षण किया।

नगर आयुक्त नरेंद्र सिंह क्वीरियाल ने बताया कि रोपवे के लिए इंडियन पोर्ट रेल एवं रोपवे कारपोरेशन लिमिटेड के लिए मैपेज इंफ्राट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड ने डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की है। शासन स्तर पर पूर्व में कई दौर की बैठकों के बाद इस परियोजना को हरी झंडी दे दी गई है। सब कुछ ठीक रहा तो वर्ष 2024 में नीलकंठ के लिए रोपवे का विकल्प खुल जाएगा।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- आपदा के आठ साल बाद पूरी तरह बदल चुका है केदारघाटी का नजारा

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

कोरोना संक्रमण की कड़ी तोड़ने के लिए वीकेंड पर लगा सख्त लॉकडाउन

Listen to this article

केरल में कोरोना महामारी का कहर निरन्‍तर जारी है।  दक्षिण भारतीय राज्य में लगातार चौथे दिन यानी  बीते दिन को 20 हजार से ज्यादा संक्रमण के नए मामले दर्ज किए गए है। ऐसे में यहां सख्त वीकेंड लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया  जो आज से लागू हो रहा है। यह पाबंदी सोमवार 2 अगस्त सुबह तक जारी रहेंगी।

केरल में तेज टीकाकरण अभियान के बावजूद पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 13.61 फीसदी हो गया  है। ऐसे में मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने राज्य में सख्त वीकेंड लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया । इसके तहत केरल में 31 जुलाई और एक अगस्त को सख्त लॉकडाउन रहेगा, जिससे कोरोना संक्रमण की कड़ी टूटने की उम्मीद की जा रही है। जानकारी के आनुसार सख्त लॉकडाउन के बावजूद रोजमर्रा की चीजों के लिए पाबंदी नहीं लगाई गई है ,इस दौरान मेडिकल स्टोर, अस्पताल खुले रहेंगे। वहीं, राशन, सब्जी, फल और दूध की दुकानों के लिए समय निर्धारित किया गया है।

 

   -रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- भारत और चीन के बीच 12वें दौर की वार्ता आज

चीन के 15 शहरों और राजधानी बीजिंग समेत कोरोना वायरस के मामले बढें

Listen to this article

चीन के 15 शहरों में कोरोना वायरस के मामले अचानक बढ़ने लगए हैं। इन शहरों में राजधानी बीजिंग भी शामिल है। अधिकारियों ने इसे दिसंबर 2019 में वुहान में वायरस के प्रसार के बाद से सबसे फैला हुआ घरेलू संक्रमण बताया है। यह नए मामले कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के हैं। जानकारी के आनुसार एक रिपोर्ट में बताया गया है कि नानजिंग में एक एयरपोर्ट से शुरू हुई कोरोना वायरस के मामलों में तेजी अब बीजिंग समेत पांच अन्य प्रदेश तक पहुंच गई है और कई कर्मचारियों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है।

नानजिंग पूर्वी चीन के जियांगसू प्रांत की राजधानी है। चीन ने अभी तक भारत समेत कई अन्य देशों के लिए हवाई परिवहन सेवा की दोबारा शुरुआत नहीं की है। हालांकि, नए मामलों की संख्या अभी कुछ सौ ही है लेकिन कई प्रदेशो में संक्रमण फैलने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।

 

 -रितिका चौहान  

 

यह भी पढ़े- इंटरनेट का विश्व रिकॉर्ड : जापान

Uk में अनाथ छात्र-छात्रओ को मिलेंगी मुफ्त शिक्षा

Listen to this article

कोरोना काल में अनाथ हुए छात्र-छात्रओ को राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने मुफ्त शिक्षा देनी की बात कही है,तथा दून विश्वविधालय के सभी पाठ्य क्रमो में इस सप्ताह मे एक सीट को आरक्षित करने का ऐलान किया है यह सीट निर्धारित सीटे से अलग होंगी अर्थात इन सीटो में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्रओ को निशुल्क सेवा दी जाएंगी।

बीते शुक्रवार को राज्यपाल बैबी रानी मौर्य दून में वीवी में डॉ आंबेडकर चेयर सेंटर की प्रारम्भ किया उन्होने कहा है कि दून के चकराता क्षेत्र के अनूसुचित जाति व जनजाति तथा प्रदेश के निम्न आदिवासी उत्तराखंड के पारंपरिक वाद्ययंत्रों, पारंपरिक वेशभूषा व कलाकृतियों को सभाले हुए है इनकी हिफाजत के लिए डॉ आंबेडकर चेयर सेटर काम करेगा,इस सप्ताह में गढ़वाली, कुमाऊंनी, जौनसारी भाषाओं में एक वर्षीय सर्टिफिकेट कोर्स व उत्तराखंड की लोक कला पर आधारित दो वर्षीय स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की एलान किया गया है।

राजदा राव

 

यह भी पढ़े- मुख्यमंत्री योगी आज बागपत पहुंचे, कर सकते है रंछाड़ गांव का निरीक्षण

UP बोर्ड 2021  10वीं और 12वीं के रिजल्ट करगे आज जारी

Listen to this article

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद आज दसवीं और बारहवीं कक्षा का रिजल्ट जारी करेगा। इस साल 56 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को दसवीं और बारहवीं कक्षा के रिजल्ट का इंतजार है। जानकारी के आनुकार बोर्ड दोपहर 3:30  बजे आधिकारिक वेबसाइट पर दसवीं और बारहवीं कक्षा का रिजल्ट अपलोड करेगा। छात्र बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट upresults.nic.in पर 10वीं और 12वीं का रिजल्ट देख सकेंगे।

हर साल की तरह इस साल भी यूपी बोर्ड का दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट एक साथ जारी किया जा रहा है। एनआइसी की ओर से यूपीएमएसपी वेबसाइट पर रिजल्ट शाम 3:30  से 4:00 बजे तक अपलोड कर दिया जाएगा। इस वर्ष मेरिट जारी नहीं होगी। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि पहली बार बिना परीक्षा के बोर्ड का परिणाम जारी किया जा रहा है। बोर्ड ने आंतरिक मूल्यांकन के जरिए दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट तैयार किया है।

 

-रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- शराब माफिया के जाल को तोड़ने की तैयारी, बार कोड होगा स्कैनर

दक्षिण अमेरिकी देश पेरू में तेज भूकंप, 41 लोग घायल

Listen to this article

दक्षिण अमेरिकी देश पेरू में रात 12:10 बजे तेज भूकंप के झटके महसूस किए गए। Piura Region के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी कि उत्तर पश्चिमी पेरू में एक जोरदार भूकंप के बाद कम से कम 41 लोग घायल बताई जा रहे है। बीती रात स्थानीय समय  के आनुसार रात्रि 12:10  बजे उत्तर-पश्चिमी पेरू में 6.1 तीव्रता का भूकंप मेहेसुस किया गया। भूकंप का केंद्र 36 किलोमीटर जमीन के नीचे था और सुलाना शहर के पास स्थित था। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि सुलाना शहर में 35 लोग घायल हुए हैं, जिनमें से दो की हालत गंभीर है। जानकारी के अनुसार क्षेत्रीय राजधानी पियुरा में छह और लोग घायल हुए हैं।

राष्ट्रपति पेड्रो कैस्टिलो ने भूकंप प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया

लगभग 20 पीड़ित लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। बता दें कि भूकंप ने बुनियादी ढांचे, कई आवासीय भवनों और मंदिरों को भारी नुकसान पहुंचाया है। राष्ट्रपति पेड्रो कैस्टिलो ने भूकंप प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और पीडितों से बात करने के लिए पिउरा क्षेत्र की यात्रा की।

 

 -रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु सेमीफाइनल में पहुची

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद का परीक्षा परिणाम आज हुआ जारी

Listen to this article

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद का परीक्षा परिणाम आज जारी हो गया है। विद्यालयी शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने सुबह 11:15 बजे रिजल्ट घोषित किया। प्रदेश में हाईस्कूल का परीक्षाफल 99.09 प्रतिशत रहा है। हाईस्कूल में 99.33 प्रतिशत बालक व 99.8 प्रतिशत बालिकाएं सफल रही। इंटरमीडिएट में 121705 परीक्षाएं शामिल थे। इसमें 99.56 प्रतिशत विद्यार्थी सफल रहे। बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 99.4 प्रतिशत व बालिकाओं का 99.79 प्रतिशत रहा।

विद्यालयी शिक्षा मंत्री ने परिणाम घोषित करते हुए कहा कि कोरोना जैसी महामारी में बोर्ड की टीम ने बहुत मेहनत व ईमानदारी से काम किया है। बोर्ड की टीम को शुभकामना दी। बता दें कि हाईस्कूल में इस बार 147725 सम्मिलित हुए, इसमें से 146386 पास हुए। वहीं इंटर में 121705 शामिल हुए, जिसमें से 121171 उत्तीर्ण हुए। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं आयोजित नहीं हुई थी। रिजल्ट जारी करने के दौरान परिषद की सचिव नीता तिवारी, व माध्यमिक शिक्षा निदेशक सीमा जौनसारी भी मौजूद रहीं। सभी छात्र-छात्राएं अपना परीक्षा परिणाम बाद परिषद की वेबसाइट www.ubse.uk.gov.in और uaresults.nic.in पर छात्र-छात्राएं अपना रिजल्ट देख पाएंगे।

कोविड 19 के कारण इस बार बोर्ड परीक्षाएं नहीं हुई

कोरोना के कारण इस बार बोर्ड परीक्षाएं नहीं हुई। उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने हाईस्कूल का परिणाम तैयार करने के लिए कक्षा नौ के अंकों को आधार बनाया। इसी तरह इंटरमीडिएट में कक्षा 10, 11 व 12वीं में आंतरिक परीक्षा के आधार बारहवीं का रिजल्ट तैयार किया गया है।

 

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में आज घोषित होंगे 10वीं और 12वीं का रिजल्ट