ओसाका के नाम 4 ग्रैंड स्लैम खिताब

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

जापान की स्टार महिला टेनिस प्लेयर नाओमी ओसाका इन दिनों फ्रेंच ओपन से नाम वापस लेने की वजह से चर्चा में हैं। ओसाका के नाम 4 ग्रैंड स्लैम खिताब हैं। इसके अलावा उनके नाम एक और रिकॉर्ड भी है। उन्होंने पिछले 12 महीने में करीब 402 करोड़ रुपए (55.2 मिलियन डॉलर) की कमाई की है। वे सबसे ज्यादा कमाई करने वाली महिला एथलीट बन गई हैं।

निसान और नाइकी जैसे कई ब्रांड से जुड़ी हैं ओसाका

वर्ल्ड रैंकिंग में नंबर-2 ओसाका ने ये कमाई मैदान के साथ-साथ मैदान के बाहर की है। लगातार कई ग्रैंड स्लैम अपने नाम करने के बाद कई ब्रांड ने उनसे करार किया। उनके खेल से प्रभावित होकर करीब 12 कंपनियों ओसाका से जुड़ी हैं। इसमें टैग हुएर, नाइकी, सिटिजन वॉच और निसान जैसे ब्रांड शामिल हैं। 402 करोड़ रुपए में से ओसाका ने करीब 38 करोड़ रुपए टूर्नामेंट जीतकर या हिस्सा लेकर कमाए हैं। वहीं, बाकी 364 करोड़ रुपए उन्होंने ऑफ द फील्ड कमाए हैं।

ओसाका 3 बार फ्रेंच ओपन के तीसरे राउंड में पहुंचीं

ओसाका 3 बार फ्रेंच ओपन के तीसरे राउंड तक पहुंची हैं। पिछले साल ये खिताब इगा स्विटेक ने जीता था। ओसाका ने 2 बार ऑस्ट्रेलियन ओपन और 2 यूएस ओपन खिताब भी अपने नाम किया है। इस साल फरवरी में हुए ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब भी ओसाका ने ही जीता था।

2018 US ओपन से डिप्रेशन में थीं ओसाका

हालांकि, साल के दूसरे ग्रैंड स्लैम फ्रेंच ओपन में उन्होंने मेंटल हेल्थ की वजह से नाम वापस ले लिया। उन्होंने रविवार को इसकी घोषणा की। उन पर मीडिया से बातचीत नहीं करने को लेकर करीब 10 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया था। ओसाका ने कहा- मैं 2018 में हुए US ओपन से ही डिप्रेशन से जूझ रही हूं। मानसिक तनाव से उबरने में मुझे काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है। पेरिस में अपने को असुरक्षित और चिंतित महसूस कर रही थी। इसलिए प्रेस कॉन्फ्रेंस में नहीं गई। मैं इसकी घोषणा पहले ही कर चुकी थी।

 

शिवानी

 

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में ब्लैक फंगस के सात मरीजों की मौत, सात नए केस

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

मोगावीरा को-ओपरेटिव बैंक लिमिटेड सहित तीन सहकारी बैंको पर 23 लाख रुपए का जुर्माना

Listen to this article

RBI) ने मुंबई के मोगावीरा को-ओपरेटिव बैंक लिमिटेड सहित तीन सहकारी बैंको पर 23 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। इन पर जुर्माना विभिन्न नियमों को नहीं मानने के बाद लगाया गया है। इनमें से सबसे ज्यादा जुर्माना मोगावीरा को-ओपरेटिव बैंक लिमिटेड पर 12 लाख रुपए, इंदापुर अर्बन को-ओपरेटिव बैंक पर 10 लाख रुपए और बारामती के दि बारामती सहकारी बैंक लिमिटेड पर एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

मोगावीरा को- ओपरेटिव बैंक ने 31 मार्च, 2019 को बैंक की वित्तीय स्थिति के आधार पर बिना दावे वाले जमा धन का जमाकर्ता शिक्षा एवं जागरुकता (डीईए) कोष में पूरी तरह से ट्रांसफर नहीं किया था और साथ ही निष्क्रिय खातों की वार्षिक समीक्षा भी नहीं की। RBI ने यह जानकारी दी। RBI को निरीक्षण में यह भी मिला कि बैंक में खातों के जोखिम संबंधी वर्गीकरण की आवधिक समीक्षा की कोई व्यवस्था नहीं थी।

इंदापुर कोओपरेटिव बैंक को लेकर रिजर्व बैंक ने कहा कि 31 मार्च, 2019 को बैंक की वित्तीय स्थिति के आधार पर निरीक्षण रिपोर्ट से यह पता चला कि उसने असुरक्षित अग्रिमों पर एकीकृत सीमा का पालन नहीं किया और उसके पास बैंक में खातों के जोखिम संबंधी वर्गीकरण की आवधिक समीक्षा की कोई व्यवस्था नहीं थी। साथ ही बैंक में ग्राहकों के जोखिम संबंधी वर्गीकरण के लिहाज से लेन-देन के असंगत होने की स्थिति में अलर्ट तैयार करने के लिए मजबूत व्यवस्था नहीं थी।

शिवानी

 

यह भी पढे़- अतिक्रमण हटाने के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओ का प्रर्दशन

 

Redmi Note 9 को सस्ते में खरीदने का शानदार मौका

Listen to this article

Xiaomi के बजट स्मार्टफोन Redmi Note 9 को सस्ते में खरीदने का शानदार मौका दिया जा रहा है। फोन को Flipkart Mobile Bonanza Sale में बिक्री के लिए लिस्ट किया गया है। Redmi Note 9 के 4GB रैम और 64GB स्टोरेज वेरिएंट को 11,999 रुपये में लॉन्च किया गया था। लेकिन सेल में इसी फोन को 10,499 रुपये में खरीदने का मौका दिया जा रहा है। फोन को HDFC कार्ड से खरीदने पर 10 फीसदी इंस्टैंट डिस्काउंट का ऑफर दिया जा रहा है। साथ ही फोन को नो-कॉस्ट EMI और एक्सचेंज ऑफर के साथ खरीददारी का मौका होगा। फोन को तीन कलर वेरिएंट Aqua ग्रीन, Arctic व्हाइट और Pebble ग्रे में आता है।

Redmi Note 9 स्पेसिफिकेशन्स

Redmi Note 9 स्मार्टफोन में 6.53 इंच की फुल एचडी+ डॉट डिस्प्ले दी गई है। इसका रेजोल्यूशन 2340×1080 पिक्सल है। जबकि डिस्प्ले का अस्पेक्ट रेश्यो 19.5:9 है। यह स्मार्टफोन octa-core MediaTek Helio G85 प्रोसेसर से लैस है। इसमें दी गई स्टोरेज को यूजर्स माइक्रोएसडी कार्ड का उपयोग करके 512GB तक एक्सपेंड कर सकते हैं। फोटोग्राफी के लिए फोन में क्वाड रियर कैमरा सेटअप दिया गया है। इसका प्राइमरी सेंसर 48MP का है, जबकि 8MP का अल्ट्रा वाइड एंगल, 2MP का मैक्रो सेंसर और 2MP का डेप्थ सेंसर दिया गया है। फोन में सेल्फी के लिए 13MP का फ्रंट कैमरा दिया गया है। पावर बैकअप के लिए इसमें आपको 5,020mAh की बैटरी मिलेगी।पावर के लिए फोन में 5,020mAh की बैटरी दी गई है, जो कि 18 वॉट की फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आती है. जानकारी के मुताबिक फोन के रिटेल बॉक्स में ग्राहकों को 22.5W का चार्जर मिलेगा. फोन की एक और खास बात है कि ये 9W मैक्स वायर्ड रिवर्स चार्जिंग को भी सपोर्ट करता है।

शिवानी

 

यह भी पढे़- आज से सेलाकुई-रायपुर मार्ग पर चलेंगी स्मार्ट एसी बसें

Realme के सब-ब्रांड DIZO का Flikart के साथ साझेदारी का ऐलान

Listen to this article

Realme के सब-ब्रांड DIZO ने अपने प्रोडक्ट की बिक्री के लिए हाल ही में ई-कॉमर्स वेबसाइट Flikart के साथ साझेदारी का ऐलान किया था। अब कंपनी अपना पहला प्रोडक्ट 1 जुलाई को भारत में लॉन्च करने जा रही है। इन प्रोडक्ट्स को चार कैटेगरी के तहत बाजार में उतारा जाएगा, जिसमें मनोरंजन, स्मार्ट होम, स्मार्ट केयर और एक्सेसरीज शामिल है। कंपनी का कहना है कि हमारी तकनीक लोगों के बहुत काम आएगी।

DIZO के फीचर फोन हो सकते हैं लॉन्च

अब तक सामने आई रिपोर्ट्स की मानें तो DIZO एक जुलाई को अपने दो फीचर फोन Dizo Star 500 और Dizo Star 300 को लॉन्च कर सकता है। फीचर्स की बात करें तो DIZO Star 500 में बड़ी स्क्रीन, फिजिकल बटन के साथ डुअल सिम स्लॉट और 1,830mAh की बैटरी मिलेगी। इसके साथ ही फोन के रियर पैनल में कैमरा दिया जाएगा। वहीं, दूसरी तरफ कंपनी DIZO Star 300 फोन में छोटी स्क्रीन और एलईडी फ्लैश लाइट के साथ कैमरा देगी। इसके अलावा फीचर फोन में 2,500mAh की बैटरी मिलने की उम्मीद है।

DIZO Go Pods और Go Pods D से उठ सकता है पर्दा

DIZO एक जुलाई को फीचर फोन के अलावा Go Pods और Go Pods D ईयरबड्स को पेश कर सकता है। दोनों अगामी ईयरबड्स रियलमी बड्स एयर 2 के रिब्रांडेड वर्जन होंगे। यूजर्स को दोनों ईयरबड्स में दमदार बैटरी, टच कंट्रोल और शानदार साउंड का सपोर्ट मिल सकता है। इसके अलावा ज्यादा कुछ जानकारी नहीं मिली है।
आपको बता दें कि रियलमी ने अपने सब-ब्रांड DIZO को मई में लॉन्च किया था। इस नए टेक ब्रांड का मुख्य उद्देश्य है कि अपने कंस्यूमर्स की जिंदगी को स्मार्ट डिवाइस के माध्यम से बेहतर बनाया जाए। इस ब्रांड को रियलमी की ओर से सप्लाई चेन का सपोर्ट मिला है। साथ ही इसे कंपनी के आधिकारिक मोबाइल ऐप से भी लिंक किया गया है।

शिवानी

 

यह भी पढे- रिहायशी इलाके में पहुंचा तेंदुआ

सैनिकों को अफगानिस्तान से वापस बुलाने की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है US

Listen to this article

अमेरिका अपने सैनिकों को अफगानिस्तान से वापस बुलाने की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है। इसके पीछे की वजह तालिबान को बताया जा रहा है। यह जानकारी पेंटागन के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने दी है। हालांकि, किर्बी ने जोर देकर कहा है कि राष्ट्रपति ने सितंबर तक अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना को वापस बुलाने का फैसला किया है। लेकिन अब इसे आने वाले समय में बनने वाली परिस्थितियों के हिसाब से तय किया जा सकता है।

अफगानिस्तान में लगातार बदल रहे हालात

किर्बी ने बताया, ‘अफगानिस्तान में हालात लगातार बदल रहे हैं। तालिबान की तरफ से हमले किए जा रहे हैं। साथ कई तरह की हिंसा की खबर है। उनकी तरफ से कई जिलों के मुख्यालों पर भी छापेमारी की जा रही है। अगर आने वाले समय में किसी भी तरह के बदलाव की जरूरत पड़ती है, तो हम इस प्रक्रिया में लचीलापन बनाए रखना चाहते हैं।

किर्बी ने कहा, ‘हम लगातर निगरानी रखे हुए हैं। ग्राउंड पर क्या हालात है, हम क्या कर सकने में सक्षम हैं और हमें अफगानिस्तान से बाहर आने में किस तरह के संसाधन की जरूरत है। इस तरह के सभी फैसले समय के साथ लिए जा रहे हैं।

अफगानिस्तान से लगभग आधे सैनिक वापस लौटे

इससे पहले पेंटागन के अधिकारियों ने पिछले हफ्ते बताया था कि तालिबान और अलकायदा से लड़ाई लड़ने और अफगानिस्तान की सेना की मदद करने के बाद अप्रैल में राष्ट्रपति बाइडेन का आदेश लगभग आधा पूरा हो गया है। राष्ट्रपति बाइडेन के फैसले के समय अफगानिस्तान में 2,500 सैनिक और 1,600 से कॉन्ट्रेक्टर थे। इनमें अधिकतर अमेरिकी नागरिक थे। पेंटागन पहले ही अपने कई प्रमुख ठिकानों को अफगानिस्तान के सुरक्षा बल को सौंप चुका है। साथ ही सैकड़ों की संख्या में तैनात कार्गो प्लेन को हटा दिया है।

अफगानिस्तान की सेना का लगातार समर्थन करते रहेंगे

किर्बी ने कहा कि अमेरिकी फोर्स अफगानिस्तान की सेना का लगातार समर्थन करती रहेगी। जब तक अफगानिस्तान में हमारे पास क्षमता है, हम अफगानिस्तान की सेना को सहायता देते रहेंगे। लेकिन जैसे ही सेना अफगानिस्तान से पूरी तरह से हट जाएगी तब ये क्षमताएं अपने आप खत्म हो जाएंगी और उपलब्ध नहीं होंगी।

 

शिवानी

 

यह भी पढे़-  बद्रीनाथ हाईवे पर लगातार गिर रहे है पत्थर, यातायात बंद

किम यो जोंग का अमेरिका से बातचीत को लेकर बयान

Listen to this article

अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच बातचीत पर कोरिया के तानशाह किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग ने अमेरिका से बातचीत को लेकर एक बयान दिया है। इससे आने वाले दिनों में दोनों देशों के बीच बनने वाली कूटनीतिक संभावनाओं पर विराम लग गया है। उन्होंने दोनों देशों के बीच बनने वाले रिश्तों को एक तरह से अपने बयान के जरिए खारिज कर दिया है।

किम यो जोंग ने कहा कि ऐसा लगता है अमेरिका हालात की व्याख्या स्वयं को दिलासा देने के लिए कर रहा है। यही उम्मीद अमेरिका को निराश करेगी।

ये बयान उन्होंने US नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर जैक सुलिवन की एक टिप्पणी के बाद दिया है। इससे पहले जोंग ने अपने अधिकारियों से चर्चा और टकराव दोनों के लिए तैयार रहने को कहा था। सुलविन ने उनके इस बयान को दिलचस्प संकेत बताया था।

दक्षिण कोरिया के दौरे पर हैं उत्तर कोरिया के दूत सुंग किम

जोंग का बयान ऐसे वक्त आया है, जब उत्तर कोरिया के अमेरिकी दूत सुंग किम दक्षिण कोरिया के दौरे पर हैं। सुंग किम ने सोमवार बताया कि उन्हें उम्मीद है कि उत्तर कोरिया वार्ता के अमेरिकी प्रस्तावों पर जल्द ही सकारात्मक प्रतिक्रिया देगा।

किम ने परमाणु क्षमता बढ़ाने की धमकी दी

इससे पहले किम ने अपनी परमाणु क्षमता को बढ़ाने की धमकी दी है। उसने कहा है कि कूटनीतिक और दो देशों के बीच संबंध भविष्य में अमेरिका की नीतियों पर निर्भर करेंगे, जिन्हें वह शत्रु के रूप में देखता है।

शिवानी

 

यह भी पढ़े- काम दिलाने के बहाने से महिला के साथ कार में सामूहिक दुष्कर्म

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान का बेतुका बयान

Listen to this article

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान की जुबान एक बार फिर फिसल गई। दो महीने पहले यौन हिंसा पर बेतुका बयान देकर विवादों में आए इमरान एक बार महिला विरोधी बयान देकर विपक्ष के निशाने पर हैं। उन्होंने यौन हिंसा के लिए महिलाओं को जिम्मेदार ठहराया है और उन्हें पर्दे में रहने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि यौन हिंसा की बढ़ती घटनाओं के पीछे महिलाओं के छोटे कपड़े जिम्मेदार हैं। उन्हें समाज को बहकाने से बचना चाहिए।

पर्दे की व्यवस्था की तरफदारी की

HBO एक्सिओस को दिए इंटरव्यू में उनसे पाकिस्तान में रेप पीड़िता पर आरोप मढ़ने के एक मामले में सवाल पूछे थे। इस पर इमरान ने कहा, ‘अगर कोई महिला कम कपड़े पहनती है, तो इसका असर पुरुषों पर पड़ेगा। अगर वह रोबोट नहीं है तो। यह कॉमन सेंस है।
रेप पीड़िता को जिम्मेदार ठहराने के अपने पुराने बयान का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने कभी भी रेप पीड़िता पर कोई टिप्पणी नहीं की, बल्कि मैंने सिर्फ इतना कहा था कि पर्दे की व्यवस्था समाज में लुभाए जाने से बचने के लिए है।

इससे मेरे समाज पर असर पड़ रहा

उनसे इंटरनेशनल क्रिकेट स्टार के तौर पर उनकी लाइफ के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि यह मेरे बारे में नहीं है। यह मेरे समाज के बारे में है। मेरी प्राथमिकता यह है कि समाज कैसा बर्ताव करता है। जब मुझे लगता है कि यौन हिंसा के मामले बढ़ रहे हैं, तो हम बैठकर चर्चा करते हैं कि इससे कैसे निपटना है। यह मेरे समाज पर असर डाल रहा है।

पहले भी दे चुके ऐसे बयान

इमरान पहले भी ऐसे विवादित बयान दे चुके हैं। इससे पहले देश में रेप की बढ़ती घटनाओं पर घिरे इमरान ने महिलाओं को पर्दा करने की सलाह दे डाली थी। उन्होंने अश्‍लीलता के लिए भारत और यूरोप को जिम्‍मेदार ठहराया था। इमरान ने कहा था कि हमें पर्दा प्रथा की संस्‍कृति को बढ़ावा देना होगा, ताकि प्रलोभन से बचा जा सके।

पाकिस्तान में रोजाना 11 रेप की घटनाएं

आधिकारिक आंकड़ों की बात करें, तो पाकिस्तान में रोजाना बलात्कार की 11 घटनाएं रिकॉर्ड की जाती हैं। पिछले 6 महीने में यहां की पुलिस के पास रेप की 22 हजार शिकायतें दर्ज कराई गई हैं। जिओ न्यूज के मुताबिक, इस दौरान सिर्फ 77 आरोपियों को सजा दी गई है। यह कुल मामलों का सिर्फ 0.3% है।

शिवानी

 

यह भी पढ़े- टिहरी झील में आज से फिर शुरू होगी बोटिंग,कोरोना निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य