तापसी पन्नू ने कंगना पर कसा तंज

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

तापसी पन्नू और कंगना रणौत के बीच सोशल मीडिया पर तीखी नोक झोक अकसर चलती रहती है। दोनों एक दूसरे पर नीशाना साधते रहते हैं लेकिन इस बार तापसी ने कंगना के लिए कुछ ऐसा कह दिया है कि क्वीन को जवाब देना ही पड़ा। दरअसल हाल ही में तापसी पन्नू को थप्पड़ फिल्म के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला है। बेस्ट एक्ट्रेस का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिलने के बाद तापसी पन्नू ने स्टेज पर स्पीच दी और कुछ लोगों को थैंक्यू कहा। इस लिस्ट में उन्होंने दीपिका पादुकोण, जान्हवी कपूर, विद्या बालन के साथ कंगना रणौत का नाम लेते हुए उन्हें शुक्रिया कहा।

दरअसल ये सभी इस अवॉर्ड के नॉमिनीज थे। वीडियो वायरल होने के बाद जब कंगना ने इसे देखा तो उन्होंने तुरंत ही तापसी को जवाब दिया। कंगना ने लिखा “ शुक्रिया तापसी विमल इलाइची फिल्मफेयर अवॉर्ड की तुम हकदार हो। तुमसे ज्यादा इसे कोई डिजर्व नहीं करता” और कंगना का ये ट्वीट काफी वायरल हो रहा है।

मीना छेत्री

 

यह भी पढ़े- स्थानीय निवासियों द्वारा पार्षदों पर घोटाले का आरोप

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

हिमाचल में भूस्खलन से पुल टूटा नौ की मौत और तीन घायल

Listen to this article

किन्नौर जिले जो भूस्खलन की चपेट में आने से नौ लोगों की मौत हो गई जबकि तीन गंभीर रूप से घायल हैं। गाड़ी में सवार पर्यटक दिल्ली और चंडीगढ़ से हिमाचल घूमने आए थे। मिली जानकारी के मुताबिक किन्नौर जिले में बटसेरी के गुंसा के पास चट्टानें गिरने से छितकुल से सांगला की ओर आ रही पर्यटकों की गाड़ी भूस्खलन की चपेट में आ गई। गाड़ी पर पत्थर गिरने से नौ की मौत हो गई जबकि तीन घायल हैं। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन की टीमें मौके पर पहुंची। कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी ने बताया कि पहाड़ी से लगातार पत्थर गिर रहे हैं जिस कारण रेस्क्यू में दिक्कत आ रही है। उन्होंने कहा कि घायलों को अस्पताल लिफ्ट करने के लिए सरकार से हेलीकॉप्टर मांगा गया है जिसके जल्द पहुंचने का आश्वासन मिला है। किन्नौर के डीसी आबिद हुसैन सादिक, एसपी एसआर राणा भी मौके पर मौजूद हैं।

भूस्खलन एक सम्मस्या

भूस्खलन होने से गांव के लिए बास्पा नदी पर बना करोड़ों का पुल टूट गया है जिससे गांव का संपर्क देश दुनिया से कट गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पहाड़ से भूस्खलन सहित चट्टानें गिरने से कई वाहन भी क्षतिग्रस्त हुए हैं। बहरहाल जनजातीय क्षेत्रों में बारिश को देखते हुए प्रशासन ने पर्यटकों व स्थानीय लोगों से एहतियात बरतने की अपील की है। लोगों को नदी-नालों से दूर रहने को कहा गया है। आयुक्त नीरज कुमार ने कहा कि बादल फटने से क्षतिग्रस्त हुई सड़क को बहाल किया जा रहा है।

 

   – नैन्सी लोहानी

 

यह भी पढ़े- मनमोहन सिंह बोले देश की अर्थव्यवस्था की राह कठिन

दिल्ली: वायु प्रदूषण का नया मॉडल

Listen to this article

दिल्ली की सर्दियों के बारे में सब जानते है। सर्दियों के दौरान उत्तर पश्चिमी भारत और दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण से गंभीर समस्या से निपटने के लिए वैज्ञानिकों ने एक डिसीजन सपोर्ट सिस्टम DSS विकसित किया है। इससे न केवल इन जिलों के प्रदूषण के स्रोतों की जानकारी मिलेगी और अनुमान लगाना भी आसान होगा। पुणे स्थित भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान (आईआईटीएम) के वैज्ञानिकों द्वारा विकसित यह मॉडल अक्टूबर में प्रयोग के लिए उपलब्ध होगा।

आईआईटीएम के परियोजना प्रमुख सचिव घुड़े ने बताया ‘दिल्ली और आसपास के 19 जिलों में प्रदूषण के स्रोत का पता लगाने के लिए मॉडल विकसित किया गया है। प्रत्येक जिले व औद्योगिक गतिविधि के हिसाब से उसे महत्व दिया जाएगा। इसी आधार पर संबंधित जिले की प्रत्येक गतिविधि के हिसाब से रोकथाम के लिए कार्य योजना को तैयार किया। इससे सरकार इस दिशा में आवश्यक कदम उठा सकती है ताकि वायु गुणवत्ता सुधारने में मदद मिलेगी। सर्दियों में दिल्ली और आसपास के जिलों में प्रदूषण खतरे की सीमा के पार चला जाता है। ऐसे में डीसीएस की मदद से पूर्व अनुभव के आधार पर ठोस निर्णय लेने में मदद मिलेगी। वायु प्रदूषण को मुख्तलिफ इलाकों में रोकने के लिए क्षेत्रवार योजना भी बनाने में मदद मिलेगी। प्रदूषण के योगदान और उसके रोकथाम के नतीजों पर पहुंचा जा सकेगा।  पंजाब, हरियाणा व यूपी में पराली जलाने से एक दिन में एक्यूआई कितना प्रभावित हुआ। यह मॉडल जिलेवार वस्तु स्थिति को दर्शाने में सक्षम है, जैसे यह मेरठ में प्रदूषण और उसके दिल्ली पर पड़ने वाले असर की पड़ताल करने में कारगर साबित हो सकता है। उसके आधार पर आवश्यकता और अपेक्षा के अनुरूप रणनीति बनाने में सहूलियत होगी।

      – नैन्सी लोहानी

 

यह भी पढ़े- एसएन मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण कार्य होगा शुरू

मैरी कॉम ने 4-1 से जीती चैम्पियनशिप 

Listen to this article

मैरी कॉम का करियर 2000 में शुरू हुआ जब उन्होंने मणिपुर राज्य महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप और पश्चिम बंगाल में क्षेत्रीय चैम्पियनशिप में जीत हासिल की। 2001 में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा शुरू कर दी। वह केवल 18 साल की थी जब उन्होंने पहली बार संयुक्त राज्य अमेरिका में आयोजित एआईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में अंतरराष्ट्रीय पदार्पण किया, और 48 किलो वर्ग में रजत पदक जीता।  क्टूबर 2019 में, अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) ने उन्हें 2020 टोक्यो ओलंपिक खेलों के लिए मुक्केबाजी के एथलीट राजदूत समूह की महिला प्रतिनिधि के रूप में नामित किया।

अक्टूबर 2019 में, अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) ने उन्हें 2020 टोक्यो ओलंपिक खेलों के लिए मुक्केबाजी के एथलीट राजदूत समूह की महिला प्रतिनिधि के रूप में नामित किया। छह बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम और तैराकी में साजन प्रकाश भारत की चुनौती पेश करेंगे। टोक्यो ओलंपिक के दूसरे दिन मीराबाई चानू ने भारोत्तोलन में बेहतरीन शुरुआत करते हुए रजत पदक जीता था। पढ़िए आज के दिन के बाकी मैचो का हाल। मैरीकॉम का अगला मुकाबला 29 जुलाई को होगा। वह कोलंबिया की तीसरी वरीयता प्राप्त वालेंसिया विक्टोरिया से भिड़ेंगी।

 – नैन्सी लोहानी

 

यह भी पढ़े- मुकेश अंबानी ने दिए देश को 5 IDEAS

पंजाब के बाद राजस्थान में बदल रही सियासि हवा

Listen to this article

राजस्थान में सियासी हलचल तेज हो रही है। राजस्थान में मंत्रिमंडल में अनुमान लगाया जा रहा है और पदों का फेरबदल हो रहा है मगर अंतिम फैसला पार्टी हाईकमान ही करेगा। कैबिनेट विस्तार को लेकर आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई। बैठक से पहले पायलट गुट के नेताओं ने जमकर नारेबारी की और सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग की। इसका मकसद सचिन पायलट व अशोक गहलोत के बीच खींचतान व दोनों गुटों के बीच असंतोष को दूर करना है।

कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा, ‘हम जल्द ही अपने फैसले की घोषणा करेंगे। जिला और ब्लॉक स्तर की कांग्रेस टीमों की नियुक्ति पर कांग्रेस विधायकों से सलाह-मशविरा करने के लिए मैं 28 जुलाई और 29 जुलाई को फिर से राजस्थान का दौरा करूंगा।’ अजय माकन ने संवाददाताओं से कहा, ‘पार्टी नेताओं के बीच कोई विरोधाभास नहीं है और सभी ने मंत्रिमंडल विस्तार का अंतिम फैसला पार्टी आलाकमान पर छोड दिया है।’ जयपुर पहुंचे माकन और एआईसीसी महासचिव (संगठन) के सी वेणुगोपाल ने रविवार सुबह प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पहुंचकर मंत्रियों, विधायकों और पदाधिकारियों के साथ बैठक की। माकन ने कहा कि यह एक अनौपचारिक बैठक थी जिसमें महंगाई, पेगासस जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। वही अगले कुछ दिनों में कैबिनेट विस्तार होने की संभावना है।

   – नैन्सी लोहानी

 

यह भी पढ़े- मणिपुर हाईकोर्ट :आज गिरफ्तार हुए पत्रकार किशोरचंद्र वांगखेम होगे रिहा

एसएन मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण कार्य होगा शुरू

Listen to this article

आगरा में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में आक्सीजन संकट को देखते हुए तीसरी लहर से निपटने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। एसएन मेडिकल कॉलेज इमरजेंसी में एक और ऑक्सीजन प्लांट को मंजूरी दी गई है। इसकी तैयारी डीआरडीओ करेगा। अगले सप्ताह से निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजय काला ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी न पड़े इसके लिए डीआरडीओ इमरजेंसी में 1000 लीटर प्रति मिनट की दर से हवा से ऑक्सीजन बनाने वाला प्लांट बनाएगा।

2000 लीटर प्रति मिनट की दर से ऑक्सीजन

अभी यहां बन रहे 1000 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन बनाने का प्लांट लगभग पूरा हो चुका है। 7 दिन में ऑक्सीजन बनना शुरू हो जाएगी। इस तरह से इमरजेंसी पर 2000 लीटर प्रति मिनट की दर से ऑक्सीजन बनाई जा सकेगी। इसमें जरूरत के मुताबिक अंतराल देकर दोनों प्लांट से ऑक्सीजन बनाएंगे।

टीबी विभाग का सात दिन में हो जाएगा तैयार

टीबी विभाग में बन रहा ऑक्सीजन प्लांट भी लगभग पूरा हो चुका है। इसमें भी 7 से 10 दिन लगेंगे। यहां भी 1000 लीटर प्रति मिनट से ऑक्सीजन बनाने की क्षमता है। घड़ी वाली इमारत पर बनने वाले प्लांट का अभी कार्य शुरू नहीं हो पाया है।

बिजली गुल तभी चलते रहेंगे ऑक्सीजन प्लांट

बिजली जाने या फिर अन्य किसी गड़बड़ी पर ऑक्सीजन प्लांट बंद नहीं होंगे और हवा से ऑक्सीजन बनाते रहेंगे। इसके लिए एसएन मेडिकल कॉलेज 2 जनरेटरों की खरीद करेगा। शासन ने 50 लाख रुपये का बजट भी मंजूर कर दिया है। प्राचार्य डॉ. संजय काला ने कहा कि एसएन में 4 ऑक्सीजन प्लांट तैयार हो रहे हैं। सभी की क्षमता एक मिनट में 1000-1000 लीटर ऑक्सीजन बनाने की है। इनको जनरेटर से भी जोड़ा जाएगा, जिससे किसी भी स्थिति में बिजली की दिक्कत हुई तो ऑक्सीजन बनाने का कार्य बंद नहीं होगा।

इन जनरेटर से एसएन मेडिकल कॉलेज के चारों ऑक्सीजन प्लांट को जोड़ा जाएगा। इसके लिए 50 लाख रुपये से 2 जनरेटर खरीदे जाएंगे। 50 लाख रुपये का बजट मंजूर हो गया है, इसका टेंडर करने की तैयारी चल रही है।

पुष्पा रावत

 

यह भी पढ़े- पहाड़ों में बारिश होने के कारण गंगा का बढ़ा

किसान ट्रैक्टर यात्रा आज दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर के लिए होगी रवाना

Listen to this article

मेरठ-बिजनौर किसान ट्रैक्टर यात्रा आज गाजीपुर बॉर्डर के लिए रवाना होगी। हाईकमान ने यात्रा को बेगमपुल से वाया कंकरखेड़ा एनएन-58 से निकालने को कहा है। किसान शहर के अंदर से दिल्ली रोड होते हुए यात्रा निकालने पर अड़े हुए हैं। देर रात तक इस संबंध में कोई फैसला नहीं हो सका।

भाकियू युवा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव टिकैत का कहना है कि यात्रा किस रोड से निकाली जाएगी इस बारे में आज फैसला लिया जाएगा। बिजनौर से चली किसान ट्रैक्टर यात्रा शनिवार शाम करीब पौने सात बजे बहसूमा कस्बे के राजकीय इंटर कॉलेज पहुंची। यहीं पर रात्रि पड़ाव होगा। यात्रा के साथ भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव टिकैत भी पहुंचे। सुबह 10 बजे यात्रा दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर के लिए प्रस्थान करेगी। इसमें मेरठ के किसानों के ट्रैक्टर और कार आदि शामिल होंगे। यात्रा मवाना रोड होते हुए गंगानगर, कमिश्नरी आवास चौराहा होते हुए जीरो माइल चौराहा पहुंचेगी। यदि यात्रा शहर के अंदर से गई तो दिल्ली रोड से होते हुए जाएगी। हाईकमान ने यात्रा को शहर की बजाय दूसरा विकल्प जीरो माइल स्टोन से गांधी बाग होते हुए कंकरखेड़ा एनएच-58 से ले जाने को कहा है। रूट पर फाइलन निर्णय नहीं हो सका।

मेरठ से 300 ट्रैक्टरों,100 से ज्यादा कारें ले जाएगा

भाकियू जिला संगठन नेताओं का दावा है कि मेरठ से 300 ट्रैक्टर और 100 से ज्यादा कारें ले जाएगा। निवर्तमान जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी ने कहा किसानों में गाजीपुर बॉर्डर चलने के लिए भारी उत्साह है।

भाकियू पदाधिकारियों ने किसानों के साथ दिया धरना

पीवीवीएनएल टीम के साथ विजिलेंस की टीम ने कंचनपुर घोपल और जैनपुर गांव में छापा मारकर 44 किसानों के यहां बिजली चोरी पकड़ी। शनिवार को इसके विरोध में भाकियू पदाधिकारियों और किसानों ने परतापुर थाने में साढे़ तीन घंटे धरना दिया। बात नहीं बनने पर गुस्साए कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर जाम लगाया। आनन-फानन में अधिकारियों ने किसानों को न्यूनतम जुर्माना भरने का आश्वासन दिया। इसके बाद धरना समाप्त हुआ।

पुष्पा रावत

 

यह भी पढ़े- भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने पार्टी के 26 विभागों की टीम की घोषित