सैन्यधाम में नजर आएंगे टैंक और लड़ाकू विमान, केंद्र सरकार ने दी मंजूरी

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

प्रदेश के वीर शहीदों की याद में बनने वाले सैन्यधाम में सेना के दो टैंक, वायुसेना का लड़ाकू विमान, नौसेना का छोटा जलयान, सेना की दो तोप और दो एयर डिफेंस गन आकर्षण का केंद्र बनेंगी। केंद्र सरकार ने सेना के इन निष्प्रयोज्य उपकरणों को सैन्यधाम में लगाने के लिए मंजूरी प्रदान कर दी है।

मंगलवार को उत्तराखंड के सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से दिल्ली में मुलाकात की। उन्होंने केंद्रीय रक्षा मंत्री से सैन्यधाम को आकर्षक बनाने की कार्ययोजना प्रस्तुत करते हुए आवश्यक सहयोग का अनुरोध किया। उन्होंने देहरादून के मिठ्ठी बेहड़ी में सेना तथा राज्य सरकार के बीच भूमि हस्तांतरण के प्रकरण, विलासपुर कांडली पेयजल योजना और गोरखा मिलिट्री इंटर कालेज की लीज अवधि को बढ़ाने के लिए रक्षा मंत्री को ज्ञापन सौंपा और इन मसलों के समाधान के लिए उनका सहयोग मांगा।

कैबिनेट मंत्री ने रक्षा मंत्री को बताया कि राज्य में भव्य शहीद स्मारक सैन्य धाम का निर्माण किया जा रहा है। यह राज्य के जनमानस की भावनाओं से जुड़ा हुआ है। इसका मकसद प्रदेश एवं देशभर के युवाओं को भारतीय सेना की वीर गाथाओं से परिचित कराना और देश सेवा के लिए प्रेरित करना है। उन्होंने इसे आकर्षक बनाने के लिए निष्प्रयोज्य सैन्य उपकरण प्रदान करने का अनुरोध किया, जिस पर रक्षा मंत्री ने सहमति प्रदान की।

कैबिनेट मंत्री जोशी ने रक्षा मंत्री को बताया कि राज्य सरकार देहरादून की मिठ्ठी बेहड़ी के इलाके की जगह सेना को कोल्हूपानी इलाके में पांच एकड़ जमीन दे चुकी है। बावजूद इसके मिठ्ठी बेहड़ी क्षेत्र में स्थानीय निवासियों को भवन निर्माण व मरम्मत आदि का कार्य नहीं करने दिया जा रहा है। इससे स्थानीय निवासियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसी प्रकार सहसपुर के अंतर्गत निर्माणाधीन विलासपुर कांडली पेयजल योजना से रिहायशी व सैन्य क्षेत्र को जलापूर्ति की जानी है। यहां रक्षा मंत्रालय से आवश्यक अनापत्ति प्रमाण पत्र निर्गत नहीं हो पा रहा है। इस पर रक्षा मंत्री ने कहा कि इन प्रकरणों पर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- नेपाली फार्म में टोल-प्लाजा के खिलाफ धरना प्रदर्शन जारी

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

WHO ने कहा चौथी लहर की चपेट में मध्य पूर्वी देश

Listen to this article

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है, मध्य पूर्व देशों में कोरोना के डेल्टा वैरिएंट के कारण चौथी लहर चल रही है। संगठन ने कहा है कि इन देशों में टीकाकरण की दर अभी भी कम है इसी कारण वायरस का प्रसार तेज हो गया है। दुनियाभर में संक्रमण और मौतों के मामले बढ़ने लगे हैं। WHO ने कहा कि डेल्टा वैरिएंट की चाल तेज होने का ही नतीजा है। पूर्वी भूमध्य क्षेत्र में संक्रमण दर में 55 जबकि मृत्यु दर में 15 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। जानकारी के आनुसार WHO ने कहा कि कोरोनो वायरस महामारी से दुनिया भर में मौतें पिछले एक हफ्ते में 21 फीसदी बढ़ी हैं। इनमें से 69,000 मौत अमेरिका और दक्षिणपूर्व एशिया में हुई। वहीं दुनियाभर में कोविड-19 मामलों में 8 फीसदी की वृद्धि हुई है।

इन देशो मे सबसे ज्यादा मामले

अमेरिका, ब्राजील, इंडोनेशिया, ब्रिटेन और भारत में सबसे ज्यादा मामले सामने आए है। मामलों मे इस तरह तेजी बढ़ने के पीछे कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट के फैलने को माना जा रहा है।

 

  -रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- स्वतंत्रता दिवस भाषण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से सुजाव मांगे

कोरोना संक्रमण की कड़ी तोड़ने के लिए वीकेंड पर लगा सख्त लॉकडाउन

Listen to this article

केरल में कोरोना महामारी का कहर निरन्‍तर जारी है।  दक्षिण भारतीय राज्य में लगातार चौथे दिन यानी  बीते दिन को 20 हजार से ज्यादा संक्रमण के नए मामले दर्ज किए गए है। ऐसे में यहां सख्त वीकेंड लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया  जो आज से लागू हो रहा है। यह पाबंदी सोमवार 2 अगस्त सुबह तक जारी रहेंगी।

केरल में तेज टीकाकरण अभियान के बावजूद पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 13.61 फीसदी हो गया  है। ऐसे में मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने राज्य में सख्त वीकेंड लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया । इसके तहत केरल में 31 जुलाई और एक अगस्त को सख्त लॉकडाउन रहेगा, जिससे कोरोना संक्रमण की कड़ी टूटने की उम्मीद की जा रही है। जानकारी के आनुसार सख्त लॉकडाउन के बावजूद रोजमर्रा की चीजों के लिए पाबंदी नहीं लगाई गई है ,इस दौरान मेडिकल स्टोर, अस्पताल खुले रहेंगे। वहीं, राशन, सब्जी, फल और दूध की दुकानों के लिए समय निर्धारित किया गया है।

 

   -रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- भारत और चीन के बीच 12वें दौर की वार्ता आज

चीन के 15 शहरों और राजधानी बीजिंग समेत कोरोना वायरस के मामले बढें

Listen to this article

चीन के 15 शहरों में कोरोना वायरस के मामले अचानक बढ़ने लगए हैं। इन शहरों में राजधानी बीजिंग भी शामिल है। अधिकारियों ने इसे दिसंबर 2019 में वुहान में वायरस के प्रसार के बाद से सबसे फैला हुआ घरेलू संक्रमण बताया है। यह नए मामले कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के हैं। जानकारी के आनुसार एक रिपोर्ट में बताया गया है कि नानजिंग में एक एयरपोर्ट से शुरू हुई कोरोना वायरस के मामलों में तेजी अब बीजिंग समेत पांच अन्य प्रदेश तक पहुंच गई है और कई कर्मचारियों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है।

नानजिंग पूर्वी चीन के जियांगसू प्रांत की राजधानी है। चीन ने अभी तक भारत समेत कई अन्य देशों के लिए हवाई परिवहन सेवा की दोबारा शुरुआत नहीं की है। हालांकि, नए मामलों की संख्या अभी कुछ सौ ही है लेकिन कई प्रदेशो में संक्रमण फैलने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।

 

 -रितिका चौहान  

 

यह भी पढ़े- इंटरनेट का विश्व रिकॉर्ड : जापान

Uk में अनाथ छात्र-छात्रओ को मिलेंगी मुफ्त शिक्षा

Listen to this article

कोरोना काल में अनाथ हुए छात्र-छात्रओ को राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने मुफ्त शिक्षा देनी की बात कही है,तथा दून विश्वविधालय के सभी पाठ्य क्रमो में इस सप्ताह मे एक सीट को आरक्षित करने का ऐलान किया है यह सीट निर्धारित सीटे से अलग होंगी अर्थात इन सीटो में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्रओ को निशुल्क सेवा दी जाएंगी।

बीते शुक्रवार को राज्यपाल बैबी रानी मौर्य दून में वीवी में डॉ आंबेडकर चेयर सेंटर की प्रारम्भ किया उन्होने कहा है कि दून के चकराता क्षेत्र के अनूसुचित जाति व जनजाति तथा प्रदेश के निम्न आदिवासी उत्तराखंड के पारंपरिक वाद्ययंत्रों, पारंपरिक वेशभूषा व कलाकृतियों को सभाले हुए है इनकी हिफाजत के लिए डॉ आंबेडकर चेयर सेटर काम करेगा,इस सप्ताह में गढ़वाली, कुमाऊंनी, जौनसारी भाषाओं में एक वर्षीय सर्टिफिकेट कोर्स व उत्तराखंड की लोक कला पर आधारित दो वर्षीय स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की एलान किया गया है।

राजदा राव

 

यह भी पढ़े- मुख्यमंत्री योगी आज बागपत पहुंचे, कर सकते है रंछाड़ गांव का निरीक्षण

UP बोर्ड 2021  10वीं और 12वीं के रिजल्ट करगे आज जारी

Listen to this article

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद आज दसवीं और बारहवीं कक्षा का रिजल्ट जारी करेगा। इस साल 56 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को दसवीं और बारहवीं कक्षा के रिजल्ट का इंतजार है। जानकारी के आनुकार बोर्ड दोपहर 3:30  बजे आधिकारिक वेबसाइट पर दसवीं और बारहवीं कक्षा का रिजल्ट अपलोड करेगा। छात्र बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट upresults.nic.in पर 10वीं और 12वीं का रिजल्ट देख सकेंगे।

हर साल की तरह इस साल भी यूपी बोर्ड का दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट एक साथ जारी किया जा रहा है। एनआइसी की ओर से यूपीएमएसपी वेबसाइट पर रिजल्ट शाम 3:30  से 4:00 बजे तक अपलोड कर दिया जाएगा। इस वर्ष मेरिट जारी नहीं होगी। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि पहली बार बिना परीक्षा के बोर्ड का परिणाम जारी किया जा रहा है। बोर्ड ने आंतरिक मूल्यांकन के जरिए दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट तैयार किया है।

 

-रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- शराब माफिया के जाल को तोड़ने की तैयारी, बार कोड होगा स्कैनर

दक्षिण अमेरिकी देश पेरू में तेज भूकंप, 41 लोग घायल

Listen to this article

दक्षिण अमेरिकी देश पेरू में रात 12:10 बजे तेज भूकंप के झटके महसूस किए गए। Piura Region के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी कि उत्तर पश्चिमी पेरू में एक जोरदार भूकंप के बाद कम से कम 41 लोग घायल बताई जा रहे है। बीती रात स्थानीय समय  के आनुसार रात्रि 12:10  बजे उत्तर-पश्चिमी पेरू में 6.1 तीव्रता का भूकंप मेहेसुस किया गया। भूकंप का केंद्र 36 किलोमीटर जमीन के नीचे था और सुलाना शहर के पास स्थित था। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि सुलाना शहर में 35 लोग घायल हुए हैं, जिनमें से दो की हालत गंभीर है। जानकारी के अनुसार क्षेत्रीय राजधानी पियुरा में छह और लोग घायल हुए हैं।

राष्ट्रपति पेड्रो कैस्टिलो ने भूकंप प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया

लगभग 20 पीड़ित लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। बता दें कि भूकंप ने बुनियादी ढांचे, कई आवासीय भवनों और मंदिरों को भारी नुकसान पहुंचाया है। राष्ट्रपति पेड्रो कैस्टिलो ने भूकंप प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और पीडितों से बात करने के लिए पिउरा क्षेत्र की यात्रा की।

 

 -रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु सेमीफाइनल में पहुची