बहन को विदा कर घर लौट रहे किशोर की मौत, परिवार में मातम

बहन को विदा कर घर लौट रहे किशोर की मौत, परिवार में मातम
Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

बहन को विदा कर घर लौट रहे युवक की बाईक रपटने से हुई  मौत।

ऋषिकेश में गूलर के समीप गुरुवार को बाईक रपटने से एक किशोर की मौत हो गई

जबकि एक किशोर गंभीर रूप से घायल हो गया। 14 वर्षीय किशोर अपनी बहन को ससुराल छोड़कर घर लौट रहा था।

घर लौटते वक्त गूलर के समीप बाईक रपटने से उसकी मौत हो गई। मौत की खबर सुनकर दोनों परिवारों में मातम पसरा हुआ है

बहन की शादी 25 नवंबर को ही  हुई थी

जानकारी के मुताबिक किशोर दोगी पट्टी के नाई गांव का था। किशोर की बहन की शादी 25 नवंबर को पौड़ी जिले के माला गांव निवासी किशोर से हुई थी।

बहन को उसके ससुराल माला गांव विदा करने के बाद भाई 14 वर्षीय कुलदीप सिंह पुत्र पूरण सिंह अपने

एक रिश्तेदार रविंद्र सिंह (24 वर्ष) पुत्र राजेंद्र सिंह के साथ गुरुवार की दोपहर मोटरसाइकिल पर गांव लौट रहा था।

बाईक रपटने से कुल्दीप और रविन्द्र सिंह हुए गंभीर रुप से घायल

गूलर से करीब डेढ़ किलोमीटर पहले अचानक उनकी मोटरसाइकिल सड़क पर रपट गई।

बाईक रपटने से कुलदीप और रविन्द्र गंभीर रुप से घायल हो गए। स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें 108

आपातकालीन सेवा से एम्स पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

दूसरे युवक रविन्द्र की हालत गंभीर बताई जा रही है।

यह भी पढ़े- चंद्रग्रहण 2020: इस साल का आखिरी चंद्रग्रहण

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती की हुई आज रिहाई

आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती की हुई आज रिहाई

Listen to this article

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में आम आदमी पार्टी के दिल्ली से सोमनाथ भारती

विधायक जिला कारागार से आज साढ़े नौ बजे रिहा हो गये है।

साथ ही रिहाई के बाद  उन्होंने  भाजपा सरकार पर जमकर हमल बोला।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने उन्हे जेल में डालकर अच्छा किया। मै जेल व्यवस्था की विफलता का अंदाजा दे देता हूं।

यूपी में गलत देखूंगा तो बोलूंगा। फिर चाहे सरकार मुझे फांसी दे या जेल में रखे। मुझे कोई फर्क नही पड़ता।

सोमनाथ भारती ने कहा

उन्होंने कहा कि योगी की संविधान से आस्था खत्म हो चुकी है। वह संवैधानिक मूल्यों को दरकिनार रख रहे है।

वह तानाशाह कर विपक्षियों का मुह बंद करना चाहते है।

उन्होंने कहा की राज्य में हर व्यक्ति सही कर रहा है, प्रदेश में अघोषित अपातकाल लग गया है।

कांग्रेस ने घोषित आपातकाल लगाया था।

बयान को आंशिक रुप से पेश किया गया

लेकिन यह सरकार अघोषित तरीके से सत्यता बयान करने से रोक रही है।

विवादित टिप्पणी पर उन्होंने कहा कि मेरे बयान को आंशिक रुप से पेश किया गया ।

राज्य सरकार के मंत्री सिद्धार्थ नाथ के क्षेत्र प्रयागराज के एक अस्पताल में गये थे।

अस्पताल की व्यवस्था बहुत खराब थी। उसी की ओर मेरा इशारा था।

सोमनाथ ने कहा कि मेरे साथ रायबरेली में राजनीतिक अधिकार का हनन किया गया।

पुलिस की मौजूदगी में मेरे ऊपर स्याही फेंकी गई। योगी के मौत के बयान पर उनका कहना था,

कि उनकी कार्यशैली को लेकर उनकी राजनीतिक मौत की बात कही थी।  तथ्यों को तोड़ा मरोड़ा गया है।

 

-किरन  

 

यह भी पढ़ें- Cancer विशेषज्ञ डॉक्टर V. Shanta का हुआ निधन

UP

UP में इस बार का Budget बनेगा खास, सीएम ने दिए निर्देश

Listen to this article

UP में आगामी वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव को मद्देनजर रखते हुए इस बार

के बजट को कुछ खास बनाने की कोशिश हो रही है।

UP सरकार ने बजट की तैयारियां तेजी से शुरू कर दी हैं और सभी मंत्रालयों को निर्देश

दिए हैं कि अपने विचार विमर्श करके अगले वित्त वर्ष के बजट को जल्द से पेश करें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलग अलग विभागों की समीक्षा करते हुए प्रदेश के सर्वांगीण विकास

के लिए जरूरी बजट में आवंटित पैसे को सदुपोयग करने के लिए कहा गया।

UP के बजट को जल्दी तैयार करने के साथ ही योगी आदित्यनाथ ने कहा कि

भारत सरकार भी केंद्रीय बजट को बना रही है।

योगी ने कहा की प्रदेश के जिन विभागों ने अभी तक कोई प्रस्ताव नहीं भेजा है

वह जल्द से जल्द भेज दें।

UP में योगी सरकार के कार्यकाल में वित्तीय वर्ष 2021-22 की यह आखिरी बजट होगा।

इसीलिए वह चाहते हैं कि इस बार विधानसभा चुनाव से पहले जो बजट पेश किया जाएगा

उसे खास बनाने की कोशिश की जाए।

येगी आदित्यनाथ ने UP दिवस की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा,

आयोजन की अच्छी तरह से तैयारियां की जाएं।

महिलाओं की भागीदारी इस आयोजन के तहत सुनिश्चित की जाएगी।

 

-सागरिका

 

यह भी पढ़ें- Tandav के निर्देशक ने कहा ठेस पहुंचाना नहीं था मकसद

Ajit Singh

Ajit Singh murder case : शूटर की हत्या में नया खुलासा

Listen to this article

Ajit Singh murder केस में रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं। अब एक नया खुलासा सामने आया है।

मीडिया में फैली खबरों के अनुसार Ajit Singh पर गोलियाँ बरसाने वालों में अधिकांश नई उम्र के

शूटर थे जो अजीत सिंह कि हत्या के लिए किराए पर मंगवाए गए थे,

इनमें एक शार्प शूटर है जिसकी उम्र बहुत कम है।

यूपी पुलिस दिन रात murder केस की जांच में जुटी

यूपी पुलिस दिन रात जांच में जुटी हुई है, कई लोगों को हिरासत में लिया गया है।

मुख्तार अंसारी की बदौलत राजनीति और अपराध में सिक्का चलाने के लिए

खिलाड़ी Ajit Singh को दुशमनों ने किराए के कातिलों के सहारे मौत के घाट उतारा था।

यूपी पुलिस के अनुसार, अब तक Ajit Singh murder केस में मिले संदिग्ध एक

ही बयान दे रहे हैं कि वारदात में किराए के हत्यारों का ही इस्तेमाल किया गया था,

शार्प शूटर को आईंदा गैंग में सहूलियत मुहैया कराने का वादा किया था।

जांच में जुटी पुलिस के एक सदस्य ने कहा ‘हम लोग हत्यारों के बेहद करीब हैं।

बस जल्दबाजी में कच्चा हाथ नहीं डालना चाहते हैं ताकी हमारी जल्दबाजी में षडयंत्रकारियों

को नाजायज लाभ, मुकदकदमें के ट्रायल के दौरान अदालत में न मिल जाए।

मजबूत कडिंया और सबूत हमारे हाथ लग चुके हैं। वारदात के पीछे का मक्सद और उसमें शामिल

संदिग्धों के बारे में भी महत्वपूर्ण सुराग मिल चुके हैं अब जरुरत है घटना में शामिल लोगों के

खिलाफ सबूत इकट्ठे करने की, क्योंकि अगर पुलिस बिना मजबूत सबूत अदालत में मुलजिम

लेकर पहुंचे तो आरोपी तुरंत जमानत लेकर जेल से जल्दी से जल्दी बहार आने की कोशिश करेंगे।

ताकि Ajit Singh murder केस के गवाहों को नष्ट कर सकें,

गवाहों को नष्ट करने से केस कमजोर हो सकता है’।

 

 

-संध्या कौशल

 

यह भी पढ़ें- Brazil के राष्ट्रपति बोलसोनारो ने पीएम मोदी कोलिखी चिट्ठी

Sexual

sexual abuse का शिकार हुए UP के बांदा जिले में 70 बच्चे

Listen to this article

UP  में बाल sexual abuse को लेकर दिल दहलाने वाली खबर सामने आई है।

UP के बांदा जिले में बर्खास्त सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर रामभवन पर 70 बच्चों का

यौन शोषण करने का आरोप लगा है। सीबीआई जांच में सामने आया है कि रामभवन ने 70 से अधिक

बच्चों को sexual abuse किया है। सीबीआई ने आज आरोपी रामभवन को फॉरेंसिक और मेडिकल जांच के लिए

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थन (एम्स) की टीम के सामने पेश किया। रामभवन को धारा 17 पासको एक्ट

और 120 आईपीसी के तहत गिरफ्तार किया गया। रामभवन की पत्नी दुर्गावती पर धारा-17 (child sexual

abuse के अपराध और मदद करने, छुपाने) और 120-b  (षडयंत्र में शामिल होने) के तहत मामला

दर्ज  किया गया है। UP के इस  मामले में और भी लोगों की भूमिका होने की बात

कही जा रही है। सूत्रों के मुताबिक जल्द ही कुछ और लोगों की भी गिरफ्तारी हो सकती है।

रामभवन को CBI ने कुछ समय पहले नाबालिकों के sexual abuseके आरोप में चित्रकूट से गिरफ्तार किया गया था।

बताया जा रहा है कि आरोपी रामभवन ने चार साल के बच्चों से लेकर 22 साल तक के युवकों के

साथ तक sexual abuse बनाए थे। रामपाल की हरकतों के वीडियो सामने आने के बाद सीबीआई ने

उस पर शिकंजा कस लिया था।  सीबीआई सामने आए वीडियो में मौजूद आवाजों की

वाॉइस सैंपल की तैयारी कर रही है।

 

-संध्या कौशल

 

यह भी पढ़ें-  Bird Flu से भारत में जा रही हजारों पक्षियों की जान

किसान ने खुद को मारी गोली, पुलिस जांच में जुटी

किसान ने खुद को मारी गोली, पुलिस जांच में जुटी

Listen to this article

उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले में आज सुबह एक किसान ने खुद को गोली मार दी।

सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और मामले की जांच पड़ताल शुरू

कर दी है। आत्महत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल सका है। पुलिस ने मृतक

किसान का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

किसान ने क्यों उठाया ये कदम?

मृतक किसान कमलेश सिंह बबुरी थाना क्षेत्र का रहने वाला था।

पिछले कुछ समय से किसान किसी बात को लेकर परेशान बताया जा रहा था।

जानकारी के मुताबिक किसान ने सुबह नाश्ता किया और अचानक तमंचे से खुद को

गोली मार दी। फायरिंग की आवाज सुनकर आसपास के लोगों की भीड़ कमलेश के

घर में एकत्रित हो गए। आनन-फानन में परिवार वालो ने कमलेश को निजी ट्रॉमा सेंटर

पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने जांच कर कमलेश को मृत घोषित कर दिया। पुलिस मामले की

जांच पड़ताल में जुट गई, पुलिस ने आस-पास रहने वाले सभी लोगों से पूछताछ करना शुरु कर दिया है

, लेकिन मृतक किसान कमलेश ने गोली क्यों मारी अभी तक इस बात का पता नहीं चल सका है।

प्रीति बिष्ट

 

do read:- Police को जल्द मिलेगा उत्तराखण्ड में ‘स्मार्ट लुक’

 

उत्तरप्रदेश

उत्तरप्रदेश में टेरर फंडिंग के आरोप में 6 संदिग्ध गिरफ्तार

Listen to this article

उत्तरप्रदेश के आंतंकवाद निरोधी दास्ता (यूपी एटीएस) ने रोहिंग्या और टेरर फंडिंगं के मामले में 6 संदिग्धों को हिरासत में लिया है।

एटीएस ने पांच जिलो में मारे छाप मार कर इन संदिग्धों को गिरफ्त में लिया। सभी से पूछताछ की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक प्रदेश के अन्य जिलों के साथ ही दूसरे राज्यों में भी छापे की कार्रवाई की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक यूपी एटीएस की एक टीम मुंबई भी गई है।

एटीएएस ने तकनीकी सहायक लिया हिरासत में

संतकबीरनगर जिले के खलीलाबाद ब्लाक में एटीएस की टीम ने अब्दुल मन्नान(तकनीकी सहायक) नाम के एक व्यक्ति

को हिरासत में लिया।उसके साथ तीन ओर लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

अब्दुल मन्नान को एटीएस ने गोस्त मंड़ी के मोतीनगर से उठाया।

एटीएस ने संदिग्धों को फर्जी पासपोर्ट बनवाने और टेरर फंड़िंग के मामले में गिरफ्तार किया है।

हिरासत में लिए गए अब्दुल मन्नानके परिजनों ने बाताया कि पांच लोगों की टीम उनके घर आई

और अब्दुल को उठा कर ले गई।

परिजनों ने एसपी मुख्यालय पहुंचकर अब्दुल मन्ना के बारे में जानकारी जुटाने की कोशिश की,

लेकिन उनका आरोप है कि पुलिस उन्हें कुछ भी नहीं बता रही है।

 

-किरन

 

यह भी पढ़ें-उत्तराखंड में कोरोना संकट के बीच एक और बीमारी का खतरा मंडराया