पश्चिम बंगाल की महुआ दास  को महंगा पढा टॉपर की धार्मिक पहचान बताना

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद ने पश्चिम बंगाल बोर्ड कक्षा 12वीं के परिणाम 22 जुलाई, 2021 को घोषित किए गए थे। पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद की अध्यक्ष महुआ दास 12वीं कक्षा के नतीजों की घोषणा के दौरान टॉपर की धार्मिक पहचान को उजागर करने को लेकर विवादों में आ गईं। महुआ दास ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर छात्रों के परिणाम की घोषणा की थी। राजनीतिक नेताओं ने दावा किया कि टीएमसी की नीति को ध्यान में रखते हुए ऐसा किया गया है। हालांकि, परिषद के वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को बताया, दास सिर्फ इस तथ्य को रेखांकित करना चाहती थीं कि अल्पसंख्यक समुदाय की एक लड़की ने सामाजिक और आर्थिक बाधाओं से संघर्ष करते हुए परीक्षा में टॉप किया।

महुआ दास ने कहा था हालांकि, इस बार पश्चिम बंगाल बोर्ड ने कोई मेरिट सूची जारी नहीं की गई। लेकिन मुर्शिदाबाद जिले की एक छात्रा ने सबसे ज्यादा अंक हासिल किए हैं, स्टेट टॉपर ने टॉपर ने 500 में से 499 अंक प्राप्त किए हैं।  इस पर बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया, ममता बनर्जी के बंगाल में तुष्टिकरण की राजनीति उस समय निचले स्तर पर पहुंच गई, जब बोर्ड की अधिकारी ने कक्षा 12वीं की छात्रा की शैक्षणिक उपलब्धि को उसकी धार्मिक पहचान से कम कर दिया। उन्होंने बार-बार बताया कि वह लड़की मुस्लिम है।

इस साल राज्य में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण परीक्षाएं आयोजित नहीं की जा सकीं थीं। बोर्ड ने वैकल्पिक मूल्यांकन नीति का पालन करते हुए कक्षा 12वीं के छात्रों का परिणाम तैयार किया गया था।  पश्चिम बंगाल बोर्ड के अध्यक्ष बोर्ड महुआ दास ने बताया था कि कुल 86 छात्रों ने शीर्ष 10 स्थानों पर कब्जा किया है। कुल छात्रों में से 60 फीसदी से अधिक ने कक्षा 12वीं की परीक्षा में 60 फीसदी और उससे अधिक अंकों के साथ प्रथम श्रेणी में जगह बनाई।

 

– नैन्सी लोहानी

 

यह भी पढे़- पूरे जिले में लोजमो-मुआवजे न मिलने पर लगातार जारी विरोध

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

अब पहाड़ों पर निजी अस्पताल खोलने के लिए सहायता देगी सरकार

Listen to this article

बृहस्पतिवार को आरोग्य मंथन कार्यक्रम के आयोजन के दौरान मीडिया संवाद में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने यह एलान किया कि पहाड़ी क्षेत्रों में निजी अस्पताल खोलने के लिए सरकार एक इकट्ठा राशि सहायता प्रदान करेगी। अभी  इस पर विचार करते हुए इसके अंतर्गत 30 से 40 फिसदी कर सब्सिडी देने पर विचार किया जा रहा है।  इसके अलाव अभी तक प्रदेश के कईं अस्पताल ऐसे हैं जिन्होंने आयुष्मान योजना के अंतर्गत खुद को सूचीबध्द नहीं कराया है।

ऐसे में पंजीकरण कराने वाले अस्पतालों के प्रदेश में संचालन को लेकर सरकार इसका निर्णय लेगी। बृहस्पतिवार को आयुष्मान भारत योजना के 3 साल पूरे होने पर आरोग्य मंथन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस दौरान उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में निजी अस्पतालों की संख्या कम है इसके अतिरिक्त कईं निजी अस्पताल आयुष्मान पैकेज की दर कम होने का कारण बताकर इसमें पंजीकरण नहीं कर रहे हैं।

इसके लिए सरकार ने फैसला किया है कि केवल पंजीकरण कराने वाले अस्पतालों को ही संचालन की अनुमति दी जाएगी। और साथ ही अब तक आयुष्मान योजना के अंतर्गत ना आने वाले परिवारों के लिए सरकार कैबिनेट में प्रस्ताव पेश करेगी। इसके अतिरिक्त आयुष्मान योजना की जानकारी के लिए सभी सूचीबद्ध अस्पतालों में डिस्प्ले बोर्ड अनिवार्य रूप से लगाए जाएंगे।

 

प्रिया जायसवाल

 

यह भी पढ़े-  आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व पुलिस कर्मियों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि

मिशन यूपी में जुटी कांग्रेस, नवरात्रि में जारी करेगी विधानसभा चुनाव

Listen to this article

पंजाब में सरकार की कमान चरनजीत सिंह चन्नी को सौपंने के बाद कांग्रेस उत्साहित है। पंजाब मे दलित चेहरे पर दांव लगाकर कांग्रेस अब मिशन यूपी में जुट गई। कांग्रेस अक्टूबर के दूसरे हप्ते शुरू से शुरू होने वाले नवरात्र के दौरान यूपी  में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

इस बार कांग्रेस के समय पर उम्मीदवारों की सूची जारी कर के पांरपरिक प्रवृत्ती को तोड़ रही है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस के शीर्ष सूत्रों ने बताया कि पार्टी ने 150 विधानसभा  सींटो के लिए संभावित उम्मीदवारों की जांच परख कर ली। यूपी में कांग्रेस की विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है।

कि पार्टी की ओर से 150 सींटो में से 78 विधानसभा क्षेत्रो मे चुनाव रणनीति और संचालन के लिए नियंत्रण कक्ष पहले ही स्थापित किए जा चुके।  मालूम हो कि उत्‍तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। सूत्रों ने बताया कि कुछ सीटों पर उम्मीदवारों के नामों को पार्टी ने हरी झंडी दे दी है। यही नहीं पार्टी की ओर से उन उम्‍मीदवारों को जमीनी स्तर पर उतरने और चुनावी लड़ाई की तैयारी शुरू करने के लिए कहा गया है।

 

– शिवानी चौधरी

 

यह भी पढे़- बारिश के चलते आज बदरीनाथ और यमुनोत्री हाईवे रहेंगे बंद

सहायक लेखाकर की परीक्षा रद कर नए सिरे से कराने की मांग

Listen to this article

गुरुवार को नैनीताल रोड स्थित राय बहादुर पार्क में अभ्यार्थियों ने अधीनस्थ चयन सेवा आयोग के खिलाफ प्रदर्शन किया।प्रदर्शन करते हुए अभ्यार्थियों ने कहा कि परीक्षा का पैटर्न पूरी तरह नया होने के साथ बाजार में किताबें तक उपलब्ध नही थी। इसलिए उन्होंने परीक्षा रद करके नए सिरे से  कराने की मांग की है।

प्रदर्शन करते अभ्यार्थी विकास यादव ने कहा कि 12 से 14 सितंबर तक परीक्षा हुई थी। और फरवरी में अचानक 80 प्रतिशत सिलेबस बढ़ा दिया गया। जिसके कारण अभ्यार्थी अनुमान तक नहीं लगा सके। इसके साथ ही हिंदी माध्यम में सभी त्रुटियां होने की वजह से छात्र कई सवालों को ठीक से ,समझ भी नहीं सके। वहीं अन्य अभ्यार्थियों ने कहा कि 6 माह से तैयारी में जुटने की वजह से अन्य परीक्षा में शामिल होना मुश्किल है।

आयोग सचिव के खिलाफ की नारेबाजी

अभ्यार्थियों ने आयोग सचिव के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कहा कि परीक्षा ऑफलाइन तरीके से दुबारा आयोजित करवानी चाहिए।वरना वे व्यापक स्तर पर प्रदर्शन करेंगे।

आँचल

 

यह भी पढ़े-  गणेश गोदियाल ने कहा भाजपा के कई नेता कांग्रेस के संपर्क में

हर कांग्रेसी भाजपा में आने का इच्छुक: अनिल बलूनी

Listen to this article

विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियां एक दूसरे के ऊपर बयान बाजी कर रही है। इसी बीच राज्यसभा सांसद व भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी ने अपना एक बड़ा बयान देकर प्रदेश की राजनीति में हलचल मचा दी है।

अनिल बलूनी आज मीडिया पाठशाला कार्यक्रम में प्रदेश भाजपा  की मीडिया टीम को आने वाले विधानसभा चुनाव के प्रचार की टिप्स देने पहुंचे। इस कार्यक्रम में अनिल बलूनी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और उनके इर्द गिर्द एक दो लोगो को छोड़कर हर कांग्रेसी भाजपा में आने का इच्छुक है। और संपर्क भी कर रहा है। परन्तु भाजपा में हाउस फुल है।

 

हरीश रावत पर साधा निशाना

 

हरीश रावत नवजोत सिंह सिद्धू के समर्थन में बयान देते हुए पाकिस्तान के सेना जनरव को प्रा(भाई) बोला था जिसको लेकर अनिल बलूनी ने उन पर निशान साधते हुए कहा कि राजनीति कीजिए, दो-दो हाथ कीजिए हम तैयार है। लेकिन जिस बाजवा के हाथ भारत के सैनिकों के खून से रंगे हो उसे हरीश रावत भाई बोल रहे है। ये बहुत दुखद है

इसके लिए हरीश रावत को माफी मांगनी चाहिए। जिस तहर की वह बातें कर रहे हैं उससे कांग्रेस का और समाज का भी नुकसान है। वोटों के तुष्टिकरण के लिए कृपया इस तरह की राजनीति न करें।

साथ ही उन्होंने बताया कि पीएम मोदी ,केंद्रीय मंत्री अमित शाह,राजनाथ सिंह उत्तराखंड आएंगे और यहां की जनता से मिलेंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार दोबारा बने उसके लिए हम कोई कसर नही छोड़ने वाले है।

 

आँचल

 

 

यह भी पढ़े-  गणेश गोदियाल ने कहा भाजपा के कई नेता कांग्रेस के संपर्क में

इतिहास के पन्नों में समाहित हो गया पुलिस का शक्तिमान

Listen to this article

एक महीने तक दर्द सहने के बाद शक्तिमान ने 20 अप्रैल को दुनिया से अलविदा कह दिया। पुलिस ने अपने शक्तिमान की याद में उसे सम्मान देने के लिए पुलिस लाइन में उसकी प्रतिमा की स्थापना की। यह घोड़ा पुलिस ने दिल्ली के शिवचरण राणा से खरीदा था। शक्तिमान पुलिस लाइन में साल 2011 में शामिल हुआ था।

शक्तिमान गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस और स्थापना दिवस पर अपने करतबों के लिए मशहूर था। लेकिन शक्तिमान के पैर घायल होने के बाद वह एक महीने तक दर्द से जूझता रहा उसके लिए अमेरिका से कृत्रिम टांग भी मंगवाई गई डॉक्टरों ने दावा किया था कि वह 45 दिनों मे फिर से चलने लगेगा लेकिन 20 अप्रैल को शक्तिमान की जान चली गई।

यह मुद्दा देश- विदेश तक चर्चित हुआ। शक्तिमान प्रकरण को लेकर सदन से लेकर सड़को तक प्रदर्शन किए गए इसके चलते घोड़े की हत्या के लिए मेनका गांधी ने गणेश जोशी के निष्कासन की मांग भी उठाई। हालांकि गणेश जोशी ने अपने बयानों में कहा कि उनकी छवि को खराब करने का प्रयास किया जा रहा है। भावुक होकर गणेश जोशी ने यहां तक कहा था कि यह वह दोषी पाए गए तो उनकी टांग भी काट दी जाए और यदि यह साजिश है तो आरोपितों पर कार्रवाई की जाए। इस प्रकरण के बाद गणेश जोशी को सहारनपुर रोड स्थित एक होटल से गिरफ्तार कर लिया गया था।

 

प्रिया जायसवाल

 

यह भी पढ़े-  हर कांग्रेसी भाजपा में आने का इच्छुक: अनिल बलूनी

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व पुलिस कर्मियों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि

Listen to this article

मुख्यमंत्री की घोषणा के क्रम में गृह विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किया है कि कोरोनाकाल में सराहनीय कार्यों व सेवा करने वाले पुलिस कर्मियों इंस्पेक्टर से लेकर 4 क्लास के कर्मचारियों को एक साथ 10हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इनके साथ ही महिला सशक्तीकरण व बाल कल्याण विभाग ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 5 माह तक हर माह 2 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि देने के आदेश जारी किए है।

 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कुछ समय पहले इसकी घोषणा की थी। जिसको लेकर अब प्रोत्साहन राशि देने के लिए आदेश जारी किए जा रहे है। जारी आदेशो के अनुसार यह प्रोत्साहन राशि जल्द कार्मिकों को उपलब्ध कराई जाएगी जिसके लिए इसकी सूची शासन को भेजी जाएगी।

 

 7.80 करोड़ महालक्ष्मी किट के लिए जारी

 

सीएम घोषणा क्रम में महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग ने आंगनबाड़ी केंद्रों में महालक्ष्मी किट खरीदने के लिए 7.80 करोड़ जारी कर दिए है। महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास सचिव हरिचंद्र सेमवाल द्वारा जारी आदेश में स्पष्ट किया गया है कि धनराशि का उपयोग उसी कार्य के लिए किया जाए, जिस कार्य के लिए ये धनराशि जारी की गई है।

 

आँचल

 

 

यह भी पढ़े-  गंगोत्री हाईवे के पास खाई में गिरी कार एक की मौत 3 घायल