आज है मालवीय जी की जयंती, BHU बनवाने के लिए निजाम की जूती की थी नीलाम

मालवीय
Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

स्वतंत्रता सेनानी, पत्रकार, वकील और समाज सुधारक मदन मोहन मालवीय की आज जयंती दिवस है।

25 दिसंबर, 1861 को एक संस्कृत ज्ञाता के घर में जन्मे महामना ने 5 की उम्र से ही संस्कृत की पढ़ाई शुरू कर दी थी।

उनके पूर्वज मध्यप्रदेश के मालवा से थे। इसलिए उन्हें ‘मालवीय’ कहा जाता है।

उन्होंने कलकत्ता विश्वविद्यालय से पढ़ाई की। पहले उन्होंने शिक्षक की नौकरी की।

इसके बाद वकालत की थी। वो एक न्यूज पेपर के एडिटर भी रहे थे।

1915 में उन्होंने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी की स्थापना की।वो हिंदू महासभा के संस्थापक भी रहे थे।

गांधी जी ने मदन को दी थी महामना की उपाधि

महात्मा गांधी ने मदन मोहन मालवीय को महामना की उपाधि दी थी।

बापू उन्हें अपना बड़ा भाई मानते थे। मदन मोहन मोहन मालवीय ने ही सत्यमेव जयते को लोकप्रिय बनाया।

जो बाद में चलकर राष्ट्रीय आदर्श वाक्य बना और इसे राष्ट्रीय प्रतीक के नीच अंकित किया गया।

हालांकि इस वाक्य को हजारों साल पहले उपनिषद में लिखा गया था।

लेकिन इसे लोकप्रिय बनाने के पीछे मदन मोहन मालवीय का हाथ है। 

कहीं बार की थी कांग्रेस की अध्यक्षता

साल 1918 के कांग्रेस अधिवेशन में उन्होंने इस वाक्य का प्रयोग किया था।

उस वक्त वो कांग्रेस के अध्यक्ष थे। मदन मोहन मालवीय ने कांग्रेस के कई अधिवेशनों की अध्यक्षता की।

उन्होंने 1909, 1913, 1919 और 1932 के कांग्रेस अधिवेशनों की अध्यक्षता की।

मदन मोहन मालवीय ने सविनय अवज्ञा और असहयोग आंदोलन में प्रमुख भूमिका निभाई।

इन आंदोलनों का नेतृत्व महात्मा गांधी ने किया था।

आशा रखूंगा कि मैं स्वतंत्र भारत को देख सकूं

भारत की आजादी के लिए मदन मोहन मालवीय बहुत आशान्वित रहते थे।

एक बार उन्होंने कहा था, ‘मैं 50 वर्षों से कांग्रेस के साथ हूं, हो सकता है कि मैं ज्यादा दिन तक न जियूं

और ये कसक रहे कि भारत अब भी स्वतंत्र नहीं है लेकिन फिर भी मैं आशा रखूंगा कि मैं स्वतंत्र भारत को देख सकूं।’

आजादी मिलने के एक साल पहले मदन मोहन मालवीय का निधन हो गया।

बीएचयू का किया था निर्माण

बीएचयू निर्माण के दौरान मदन मोहन मालवीय का एक किस्सा बड़ा मशहूर है।

निर्माण के लिए मदन मोहन मालवीय देशभर से चंदा इकट्ठा करने निकले थे।

इसी सिलसिले में मालवीय हैदराबाद के निजाम के पास आर्थिक मदद की आस में पहुंचे।

मदन मोहन  ने निजाम से कहा कि वो बनारस में यूनिवर्सिटी बनाने के लिए आर्थिक सहयोग दें।

निजाम की जूती ही उठाकर ले गए थे मदन

निजाम ने बदतमीजी करते हुए कहा कि दान में देने के लिए उनके पास सिर्फ जूती है।

मदन मोहन मालवीय वैसे तो बहुत विनम्र थे लेकिन निजाम की इस बदतमीजी के

लिए उन्होंने उसे सबक सिखाने की ठान ली। वो निजाम की जूती ही उठाकर ले गए।

निजाम की जूती को किया था बाजार में नीलाम

मदन मोहन मालवीय बाजार में निजाम की जूती को नीलाम करने की कोशिश करने में लग गए।

जब इस बात की जानकारी हैदाराबाद के निजाम को हुई तो उसे लगा कि उसकी इज्जत नीलाम हो रही है।

इसके बाद निजाम ने मदन मोहन मालवीय को बुलाकर उन्हें भारीभरकम दान देकर विदा किया था।

चंदे के लिए की थी पेशावर से लेकर कन्याकुमारी तक की यात्रा

अंग्रेजी शासन के दौर में देश में एक स्वदेशी विश्वविद्यालय का निर्माण मदन मोहन मालवीय की बड़ी उपलब्धि थी।

मालवीय ने विश्वविद्यालय निर्माण में चंदे के लिए पेशावर से लेकर कन्याकुमारी तक की यात्रा की थी।

और उन्होंने 1 करोड़ 64 लाख की रकम जमा कर ली थी।

कुंभ मेले के दौरान विश्वविद्यालय का प्रस्ताव लाया गयासामने

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय की पहली कल्पना दरभंगा नरेश कामेश्वर सिंह ने की थी।

1896 में एनी बेसेंट ने सेंट्रल हिन्दू स्कूल खोला।

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी का सपना महामना के साथ इन दोनों लोगों का भी था।

1905 में कुंभ मेले के दौरान विश्वविद्यालय का प्रस्ताव लोगों के सामने लाया गया।

शिमला यूनिवर्सिटी का सपना नहीं हो पाया था पूरा

1915 में पूरा पैसा जमा कर लिया गया। पांच लाख गायत्री मंत्रों के जाप के साथ भूमि पूजन हुआ।

इसके साथ ही यूनिवर्सिटी निर्माण का काम प्रारंभ हुआ। मदन मोहन मालवीय का सपना था कि

बनारस की तरह शिमला में एक यूनिवर्सिटी खोली जाए।

हालांकि उनका ये सपना पूरा नहीं हो सका।

साल 2014 में उन्हें मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

पीएम मोदी ने कहा योगदान पीढ़ी-दर-पीढ़ी को प्रेरित करता रहेगा

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, काशी हिंदू विश्वविद्यालय के प्रणेता और बहुआयामी प्रतिभा के धनी

महामना पंडित मदन मोहन मालवीय जी को उनकी जन्म-जयंती पर शत-शत नमन।

उन्होंने अपना संपूर्ण जीवन समाज सुधार और राष्ट्र सेवा में समर्पित कर दिया।

देश के लिए उनका योगदान पीढ़ी-दर-पीढ़ी को प्रेरित करता रहेगा।

https://twitter.com/narendramodi/status/1342300349479100417?s=20

गृह मंत्री ने किया महामना को जयंती पर कोटि कोटि नमन

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, देश के युवाओं को शिक्षित कर उनमें राष्ट्र गौरव और स्वावलंबन की अलख जगाने वाले,

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के संस्थापक, देशभक्ति और आत्मत्याग की अद्वितीय प्रतिमूर्ति

भारत रत्न “महामना” पंडित मदन मोहन मालवीय जी की जयंती पर कोटि कोटि नमन।

उनके विचार हमें सदा ही प्रेरित करते रहेंगे।

https://twitter.com/AmitShah/status/1342281910601572353?s=20

 

 

-शिवम वालिया

 

यह भी पढ़ें-साउथ फिल्मों की स्टार रश्मिका मंदना की बॉलीवुड में एंट्री

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

कोरियोग्राफर संदीप सोपारकर हुए कोरोना संक्रमित

Listen to this article

देश में कोरोना अपने चरम पर है और आए दिन हजारों लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। आम जनता से लेकर बॉलीवुड सितारे भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। पॉजिटिव हो चुके स्टार्स की लिस्ट में हाल ही में एक और नाम जुड़ा है। मशहूर फिल्म कोरियोग्राफर संदीप सोपारकर की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जिसके बाद वो होम क्वारंटीन हो गए हैं। संदीप ने एक चैनल से अपने कोरोना संक्रमित होने की जानकारी शेयर की है। उन्होंने बताया कि पिछले गुरुवार से उन्हें बुखार आ रहा था जिसके बाद उन्होंने खुद को आइसोलेट कर दिया। संदीप ने कहा,  ‘मुझे टेस्ट कराने के लिए कुछ दिनों का समय लगा। आखिरकार मेरा टेस्ट हुआ और रिजल्ट पॉजिटिव आ गया’।

संदीप सोपराकर ने अपनी तबीयत की बात करते हुए कहा कि, ‘मुझे पिछले एक हफ्ते से लगातार बुखार आ रहा था। साथ ही सर्दी और खांसी भी हो रही थी। इसके अलावा मुझे काफी कमजोरी और बदन दर्द भी हो रहा था। अब मैं पूरी तरह से क्वारंटीन में हूं और डॉक्टरों की बताई दवाईयां ले रहा हूं’। संदीप सोपारकर से पहले बॉलीवुड और टीवी जगत के कई सितारे हाल ही में कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। वहीं बॉलीवुड के कई सितारे ऐसे हैं जो कोरोना की चपेट में हैं और कई ऐसे भी हैं जो इससे ठीक हो चुके ऐसे में सितारे हर रोज फैंस से अपील कर रहे हैं सभी लोग मास्क पहनें और सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें।

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- कोरोना के चलते सरकार ने लिया एक बड़ा फैसला

पत्नी और बेटी को फ्लाइंग किस देते हुए नज़र आए विराट कोहली

Listen to this article

इंडियन प्रीमियर लीग 14 (IPL) में 23 अप्रैल को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू ने राजस्थान रॉयल्स को 10 विकेट से हरा दिया। इस मैच को जीतने के साथ ही कप्तान विराट कोहली ने एक रिकॉर्ड भी कायम कर दिया है। राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेले गए इस मैच में विराट ने 72 रनों की पारी खेली। इसी के साथ कप्तान इस लीग में 6000 रन पूरे करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं। ज़ाहिर है विराट इस रिकॉर्ड से काफी खुश हैं और य़े खुशी उन्होंने स्टेडियम में भी ज़ाहिर की। इस जीत को विराट ने अपनी बेटी वामिका और अनुष्का शर्मा को डेडिकेट किया।

विराट कोहली का एक बहुत की खूबसूरत सा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें क्रिकेटर अपनी हाफ सेंचुरी पूरी करने के बाद पवेलियन में बैठीं अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा और वामिका को फ्लाइंग किस देते नज़र आ रहे हैं। वीडियो में दिख रहा है कि विराट पहले खुशी से अपना बल्ला हवा में उठाते हैं उसके बाद फ्लाइंग किस देते हैं, इसके बाद विराट वामिका को गोदी में लेने में इशारा कर के बताते हैं कि ये फ्लाइंग किस वामिक के लिए है। क्रिकेटर का ये वीडियो बहुत प्यारा है। महामारी के इस बुरे वक्त में ये वीडियो आपके चेहरे पर ज़रूर मुस्कान ला देगा।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- दो बजे तक बाजार खोलने के फैसले पर व्यापारियों ने जताई नाराजगी

कोरोनाकाल में दिलीप कुमार ने लिखी फैंस के लिए ये बात

Listen to this article

कोरोना वायरस ने इस वक्त पूरे देश की हालत खराब कर रखी है। धीरे धीरे इसका जो भयानक रूप सामने आ रहा है उसने सभी को दहला कर रख दिया है। महाराष्ट्र, दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में कोरोना के बढ़ते केस सामने आ रहे हैं। आम आदमी से लेकर टीवी और बॉलीवुड सेलेब्स तक कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे हैं। कोरोना वायरस के इस बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार ने ताजा हालात को लेकर ट्वीट किया है। अपने दिल की बात को फैंस तक पहुंचाने के लिए अभिनेत्री सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का ही सहारा लेते हैं। इसी बीच एक बार फिर से दिलीप कुमार ने फैंस से अपने दिल की बात ट्विटर के जरिए रखी है। दिलीप कुमार ने अपने ट्विटर अकाउंट पर कल यानि 22 अप्रैल को एक ट्वीट किया है।

इस ट्वीट में उन्होंने कोरोना काल में सभी के ठीक होने की दुआएं की हैं। उन्होंने लिखा- ‘सभी के लिए दुआएं।’  दिलीप कुमार के इस ट्वीट पर फैंस के लगातार प्रतिक्रिया देखने को मिल रही हैं। उनके इस ट्वीट पर एक यूजर ने लिखा- ‘आप अपना युसूफ साहब और सायरा बानो जी ख्याल रखिएगा।’ एक यूजर लिखते हैं कि ‘शुक्रिया दिलीप साहब, आपके लिए भी दुआएं। अल्लाह आपको स्वस्थ रखे।

 

-मानवी कुकशाल

 

यह भी पढ़े- पतंजलि के संस्थानों में कोरोना का कहर

 

पतंजलि के संस्थानों में कोरोना का कहर

Listen to this article

कोरोना महामारी का प्रकोप पूरे देश में बड़े पैमाने पर फैल रहा है। इसी के चलते उत्तराखंड में भी बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव मिलने से शासन में हड़कंप मचा हुआ है। तो वहीं धर्म नगरी हरिद्वार में भी कोरोना का विस्फोट हो रहा है। योग गुरु बाबा रामदेव के विभिन्न संस्थानों में 83 कोरोना संक्रमित मिलने से पतंजलि के साथ ही प्रशासन में भी हड़कंप मचा हुआ है। 10 अप्रैल से बाबा रामदेव के विभिन्न संस्थानों में 83 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। जिसमें पतंजलि के 46 योगग्राम में 28 और अचार्यकलुम में अब तक 9 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं।

तीनों संस्थानों में जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच टीम भेजी गई है। जिला सीएमओ के अनुसार तीनो संस्थानों में कांटैक्ट ट्रेसिंग कर रही टीम की रिपोर्ट के आधार पर जरूरत पड़ने पर योगगुरु बाबा रामदेव की भी कोरोना जांच की जाएगी। इसी के साथ सीएमओ शंभूनाथ झा ने बताया कि 10 तारीख से लेकर 21 तारीख तक का डाटा हमें मिला है। इसमें पतंजलि की 3 संस्थाओं में 83 कोरोना पॉजिटिव आए हैं। वहां पर कोरोना की जांच की जा रही थी। कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उनको आइसोलेट किया जा रहा था। और इसकी पूरी जानकारी उनके द्वारा हमें दी जा रही थी।

 

-प्रीति

 

यह भी पढ़े- चारधाम यात्रा बद्रीनाथ से पहले हाईवे पर झुल रहा है खतरा

दो बजे तक बाजार खोलने के फैसले पर व्यापारियों ने जताई नाराजगी

Listen to this article

हल्द्वानी में उत्तराखंड के प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल ने शनिवार को दो बजे तक बाजार खोलने के फैसले का विरोध करने का एलान किया है। इसी के चलते संगठन ने सरकार को सोमवार तक का अल्टीमेटम दिया है कि यदि दो बजे बाजार बंदी का फरमान वापस नहीं लिया गया तो पूरे प्रदेश के व्यापारी सोमवार से शाम छह बजे तक अपने प्रतिष्ठान खोलेंगे।

शनिवार के दिन बाजार खोलने की छूट की मांग

हल्द्वानी देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल ने एसडीएम विवेक राय को ज्ञापन देकर हल्द्वानी का बाजार साप्ताहिक बंदी शनिवार के दिन खोलने की छूट दिए जाने की मांग उठाई है। इसके साथ ही संगठन ने बैठक कर बाजार खुलने का समय भी दो बजे से बढ़ाकर चार बजे तक तय किए जाने की मांग की है। संस्थापक अध्यक्ष हुकुम सिंह कुंवर ने कहा कि अगर हल्द्वानी में शनिवार व रविवार को बाजार बंद किया जाता है तो दो दिन लगातार बाजार बंद हो जाएगा। व्यापारियों की मांग है कि हल्द्वानी बाजार शनिवार को खुला रखा जाए। हल्द्वानी में कोरोना संक्रमण रोकने को लेकर शासन की नई गाइडलाइन का पालन कराने में प्रशासन और पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। बृहस्पतिवार को दोपहर दो बजे के बाद भी बाजार के अलावा कालाढूंगी रोड, रामपुर रोड और नैनीताल रोड की कई दुकानें खुली हुई थीं। कुछ दुकानें ही तय समय पर बंद हो सकीं थी। पुलिस के अधिकारियों ने गाड़ियों से लाउडस्पीकर के माध्यम से दुकानदारों को हिदायत देकर दुकानों को बंद कराया।

-प्रीति

 

यह भी पढ़े- पानी ना आने से नाराज महिलाओं ने सड़क पर लगाया जाम

 

कोरोना के चलते सरकार ने लिया एक बड़ा फैसला

Listen to this article

प्रदेश में कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार के गुरुवार को जारी आदेशानुसार आगामी तीन दिन राज्य में आवश्यक सेवाओं वाले कार्यालयों को छोड़कर बाकी सभी सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे। सरकार के अनुसार 23 से 25 अप्रैल तक सभी सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे। इसके दौरान वहां के आसपास के क्षेत्रों में सैनिटाइज किया जाएगा।

प्रत्येक थाने में सहायता बूथ किये तैयार

इसी के चलते राज्य के समस्त प्राइवेट स्कूल और उच्च शिक्षण संस्थान अगले आदेश तक के लिए बंद रहेंगे। कोरोना की दूसरी लहर में पुलिस एक बार फिर लोगों की सहायता करने को तैयार है। इसके लिए एक बड़ा सहायता केंद्र पुलिस लाइन में शुरू किया गया है ,और प्रत्येक थाने में सहायता बूथ तैयार किए गए हैं। एसएसपी ने बताया कि किसी भी सहायता के लिए 112 पर फोन किया जा सकता है। लेकिन, इसके अलावा दो अलग से नंबरों को जारी किया गया है। इनमें 0135-2722100 व 7900700100 नंबर शामिल हैं। साथ ही हर थाने में सब इंस्पेक्टर के नेतृत्व में एक कोविड सहायता केंद्र भी बनाए गये हैं।

-प्रीति

 

यह भी पढ़े- वुडस्टॉक स्कूल के पास जंगल में लगी भीषण आग