सरकारी अफसरों व कर्मचारियों के लिए स्थानांतरण नीति जारी

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

प्रदेश सरकार ने सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों के स्थानांतरण का रास्ता साफ कर दिया है । 15 जुलाई तक तबादले किए जा सकेंगे। तबादले यथासंभव ऑनलाइन मेरिट बेस्ड किए जाएंगे। तबादले की प्रक्रिया वही होगी जो 2018 में जारी तबादला नीति में तय की गई थी। बताते चलें प्रदेश सरकार ने स्थानान्तरण सत्र 2020-21 में कोविड-19 महामारी की वजह से स्थानांतरण पर अगले आदेश तक रोक लगा दी थी। लेकिन पूरे सत्र तबादले नहीं किए जा सके थे। तभी से सरकारी कार्मिक तबादला नीति का इंतजार कर रहे थे। आम कार्मिकों की दिक्कत ये भी थी कि जिनकी पहुंच और पकड़ थी, उनके ताबदले प्रशासनिक आधार पर हो जा रहे थे। नियुक्ति विभाग ने वर्ष भर गुपचुप तबादले किए। यहां तक कि तबादला आदेश पब्लिक डोमेन में जारी करने बंद कर दिए गए।

दूसरी ओर जो पारिवारिक समस्या, बीमारी या अन्य वाजिब कारण से तबादला चाहते थे, उनका तबादला नहीं हो पा रहा था। विभागों के स्तर पर समस्याओं का सामना कर रहे कार्मिकों के तबादलों की अर्जियां बढ़ती जा रही थी। स्थानान्तरण सत्र 2021-22 के लिए सामान्य स्थानान्तरण अवधि 31 मई, 2021 भी बीत गई थी, लेकिन सरकार ने तबादला नीति पर निर्णय नहीं किया था।

दूसरा, चुनावी वर्ष की वजह से भी तबादलों पर लगी रोक हटाने का दबाव था। ‘अमर उजाला’ ने कार्मिकों की इस समस्या को प्रमुखता से उठाया था। मंगलवार को शासन ने तबादले पर रोक हटाते हुए नीति के अनुसार स्थानान्तरण का आदेश जारी कर दिया है। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने शासन के समस्त अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों व सचिवों को इस संबंध में दिशानिर्देश जारी कर दिया है।

इस तरह होंगे तबादले

– समूह क व ख के जो अधिकारी अपने सेवाकाल में कुल तीन वर्ष पूरा कर चुके हैं, उन्हें संबंधित जिलों से ट्रांसफर होंगे।
– समूह क व ख के जिन अधिकारियों ने मंडल में सात वर्ष पूरा कर लिया है, को उन मंडलों के बाहर स्थानान्तरित होंगे।
– समूह क के अधिकारियों को उनके गृह मंडल तथा समूह ख के अधिकारियों को उनके गृह जिले में तैनात नहीं किया जाएगा। हालांकि यह प्रतिबंध केवल जिला स्तरीय विभागों व कार्यालयों में ही लागू होगा।

विभाग के कुल कर्मियों का 20 प्रतिशत ही तबादला

2018 की नीति के अनुसार विभागों में स्थानान्तरित अधिकारियों व कर्मचारियों की संख्या विभाग के समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों की संख्या के 20 प्रतिशत तक सीमित रखी जाएगी। इस सीमा से अधिक स्थानान्तरण की जरूरत पर समूह क व ख के लिए मुख्यमंत्री और समूह ग व घ के लिए विभागीय मंत्री से अनुमति लेनी होगी।

समूह ‘ग’ के पटल परिवर्तन की विशेष व्यवस्था

समूह ‘ग’ के जिन कार्मिकों ने एक पटल पर तीन वर्ष पूरा कर लिया है, उनके पटल बदल दिए जाएंगे। सबसे ज्यादा संख्या में कर्मी इसी श्रेणी में आते हैं। लंबे-लंबे समय से एक ही क्षेत्र या पटल पर जमे कर्मी इस व्यवस्था से हट जाएंगे।

मीना छेत्री

 

यह भी पढ़े- सपा के शीर्ष नेतृत्व से मिले बसपा विधायक, हो सकते है पार्टी में शामिल

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

UP बोर्ड 2021  10वीं और 12वीं के रिजल्ट करगे आज जारी

Listen to this article

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद आज दसवीं और बारहवीं कक्षा का रिजल्ट जारी करेगा। इस साल 56 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को दसवीं और बारहवीं कक्षा के रिजल्ट का इंतजार है। जानकारी के आनुकार बोर्ड दोपहर 3:30  बजे आधिकारिक वेबसाइट पर दसवीं और बारहवीं कक्षा का रिजल्ट अपलोड करेगा। छात्र बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट upresults.nic.in पर 10वीं और 12वीं का रिजल्ट देख सकेंगे।

हर साल की तरह इस साल भी यूपी बोर्ड का दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट एक साथ जारी किया जा रहा है। एनआइसी की ओर से यूपीएमएसपी वेबसाइट पर रिजल्ट शाम 3:30  से 4:00 बजे तक अपलोड कर दिया जाएगा। इस वर्ष मेरिट जारी नहीं होगी। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि पहली बार बिना परीक्षा के बोर्ड का परिणाम जारी किया जा रहा है। बोर्ड ने आंतरिक मूल्यांकन के जरिए दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट तैयार किया है।

 

-रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- शराब माफिया के जाल को तोड़ने की तैयारी, बार कोड होगा स्कैनर

उतराखंड भू- कानून को लेकर बनेंगी कमेटी

Listen to this article

उत्तराखंड में भू-कानून और जनसंख्या कानून तथा नजूल भूमि से संबंधित विषयों के समस्या के समाधान के लिए सरकार जल्द ही सभा बेठाएंगी जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देखा जाए तो बीते शुक्रवार को देहरादून में किए गए कार्यक्रम में यह बात बोली है कि देवस्थानम बोर्ड प्रदेश के पर्यटन व तीर्थाटन से जुड़ा विषय है और इसे लेकर सभी संबंधित पक्षों से बातचीत कर निर्णय लिया जाएगा। इसमें किसी के हित प्रभावित न हों इसके लिए उच्च स्तरीय समिति गठित की गई है।

CM ने कहा कि राज्य का सपुर्ण विकास सरकार का सुचि है। अब तक उन्होंने राज्य के हित के लिए 50 से ज्यादा फैसले लिए हैं। गैरसैंण का बात करते हुए उन्होंने बोला है कि यह जनता की भावनाओं का केंद्र है और वहां ग्रीष्मकालीन राजधानी के अनुरूप सभी जरूरी अवस्थापना सुविधाओं का जोरो-शोरो से विकास किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा है कि उनका पूरा ध्यान राज्य के विकास पर है। जिन योजनाओं का शिलान्यास होगा पहाड़ का पानी और दोनों राज्य के काम आए इसके लिए सही तरीके से योजनाएं बनाकर उनकी पुष्टी की जाएगी मुख्यमंत्री ने बोला है कि राज्य में सरकारी विभागों में खाली चल रहे 24 हजार पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जल्द शुरु की जाएगी। 10 लाख से अधिक लोगो को स्वरोजगार योजना से जोड़ा जा सकता है।

-राजदा राव

 

यह भी पढे़- उत्तराखंड में आज घोषित होंगे 10वीं और 12वीं का रिजल्ट

उत्तराखंड में आज घोषित होंगे 10वीं और 12वीं का रिजल्ट

Listen to this article

जहां उत्तराखंड के छात्रों को काफी लंबे समय तक अपने रिजल्ट का इंतजार था वहीं आज 10वीं व 12 वीं का रिजल्ट छात्र छात्राएं ऑनलाइन देख पाएंगे। उत्तराखंड में आज बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन 10वीं और 12वीं रिजल्ट के नतीजे आज सुबह 11 बजे घोषित किये जाएंगे, उत्तराखंड राज्य सरकार के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे द्वारा की जाएगी आधिकारिक घोषणा के बाद छात्र-छात्राएं अपना UK बोर्डं 10वीं और 12वीं रिजल्ट 2021 ubse.uk.gov.in वेबसाईट पर देख सकते है।

उत्तराखंड में इस बार हाईस्कूल के 148350 और 122198 छात्रों का परीक्षा परिणाम घोषित किया जाएगा। कोविड महामारी को देखते हुए इस बार सरकार को 10वीं व 12वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द करनी पड़ी थी। वहीं रिजल्ट तैयार करने के लिए प्रत्येक विद्यालयों से छात्रों के आतंरिक परीक्षा के प्राप्तांक मंगाए गए। जानकारी के मुताबिक परिषद की सचिव नीता तिवारी ने बताया कि रिजल्ट घोषित करने की सारी तैयारी पूरी की जा चुकी है। रिजल्ट की घोषणा के दौरान शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय समेत माध्यमिक शिक्षा निदेशक सीमा जौनसारी तथा बोर्ड कार्यालय के अधिकारी मौजूद रहेंगे।

– राजदा राव

 

यह भी पढ़े- केंद्र ने दो अलग-अलग वैक्सीन की खुराक लेने के परीक्षण को दी मंजूरी

भारत और चीन के बीच 12वें दौर की वार्ता आज

Listen to this article

भारत और चीन के बीच लंबे समय से चल रहे सीमा विवाद को सुलझाने के लिए सैन्य और राजनयिक स्तर की वार्ताओं का दौर जारी है। वहीं बीते दिन भारतीय सेना के सूत्रों ने जानकारी दी कि दोनों देशों के बीच 12वें दौर की कोर कमांडर स्तर की वार्ता आज सुबह करीब 10:30 बजे वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के चीनी हिस्से के मोल्डो में होगी। जानकारी के अनुसार इस दौरान भारत और चीन के बीच हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा हाइट्स एरिया से डिसइंगेजमेंट पर चर्चा होने की उम्मीद है। इससे पहले दोनों देशों के बीच 11वें दौर की वार्ता 9 अप्रैल को एलएसी के भारतीय पक्ष में आने वाले चुशुल में हुई थी। इससे पहले 14 जुलाई को विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने अपने चीनी समकक्ष वांग यी के साथ द्विपक्षीय बैठक की थी। जयशंकर ने इस बैठक मे कहा था कि स्थिति में एकतरफा परिवर्तन किसी भी स्थिति में स्वीकार्य नहीं है और सीमा क्षेत्रों में हमारे संबंधों के विकास के लिए शांति और व्यवस्था की पूरी तरह वापसी बहुत जरूरी है।

-रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- अब ट्विटर में जल्द मिलेगा डिसलाइक का बटन

स्वतंत्रता दिवस भाषण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से सुजाव मांगे

Listen to this article

15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नागरिकों से उनकी राय मांगी है। उन्होंने लोगों से कहा कि इस बार उनके विचार ही लाल किले की प्राचीर से गूंजेंगे। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि लोग अपने ‘मन की बात’ MyGov  पर बांट सकते हैं।  जानकारी के अनुसार यह बताया गया है कि हर साल की तरह इस साल भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नागरिकों से ‘नए भारत’ के लिए उनके सुझाव लेगे।

ऐसे में लोगो के पास आपने विचार साझा करने का मौका है। दी गई जानकारी के हिसाब से देश के नागरिकों को अपने विचारों और सुझावों को शब्दों में पिरोकर साझा करने का मौका दिया जा रहा है, जिनमें से पीएम मोदी कुछ विचारों को चुनेंगे और 15 अगस्त के अपने भाषण में शामिल करेंगे। पर बताया गया है कि पीएम मोदी स्वतंत्रता दिवस के अपने भाषण में सरकारी कार्यक्रमों और नीतियों का जिक्र करेंग

 

   -रितिका चौहान

 

यह भी पढे़- सांसद अपने संसदीय क्षेत्र के हर विधानसभा क्षेत्र का करेंगे दौरा

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु सेमीफाइनल में पहुची

Listen to this article

भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने जापान की अकाने यामागुची को 21-13, 22-20 से हरा कर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली। पहले गेम में जापान की अकाने यामागुची ने जोरदार टक्कर दी। दोनों खिलाड़ियों के बीच जबदस्त मुकाबला देखने को मिला। पहला गेम पीवी सिंधु ने 21-13 से जीता। यह गेम 23 मिनट तक चला। दूसरे गेम में सिंधु और यामागुची में जोरदार टक्कर देखने को मिला।  दोनों एक दूसरे से आगे निकलने की कोशिश में थीं। एक गेम मे  यामागुची 20-18 से आगे हो गई। इसके बाद फिर स्कोर 20-20 से बराबर हो गया। इसके ठीक बाद  सिंधु ने शानदार वापसी करते हुए यामागुची पर बढ़त बनाई और फिर गेम अपने नाम किया। अब उनकी नजर सिल्वर या गोल्ड मेडल पर होगी। अगर सेमीफाइनल में वह हार भी जाती हैं, तो उन्हें bronze पदक के लिए खेलना होगा। सेमीफाइनल में  सिंधु का सामना थाईलैंड की रतचानोक इंतानोन और चीनी ताइपे की ताई जु यिंग के बीच होने वाले दूसरे क्वार्टरफाइनल के विजेता से होगा।

 

रितिका चौहान

 

यह भी पढ़े- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सफाई कर्मचारियों को मानदेय बढ़ाने का दिया आश्वासन