UP सरकार ने गुरुवार को एक दर्जन फैसलों पर अपनी सहमति जताई

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram
Listen to this article

उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट ने गुरुवार को एक दर्जन फैसलों पर अपनी सहमति जता दी है। लोक भवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में सम्पन्न इस बैठक में सरकार की बड़ी योजना गंगा एक्सप्रेस-वे के लिए बिडिंग प्रक्रिया के साथ ही 12 अन्य प्रस्तावों पर मुहर लगी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट बैठक में 36230 करोड़ रुपये लागत की गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना के आरएफपी (रिक्वेस्ट फा़र प्रपोजल) और आरएफक्यू (रिक्वेस्ट फार क्वालिफिकेशन) दस्तावेजों को मंजूरी दी गई।

कैबिनेट बैठक के बाद जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता और एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना को राज्य सरकार ने 26 नवंबर 2020 को मंजूरी दी थी। यह देश की सबसे बड़ी एक्सप्रेसवे परियोजना है। कैबिनेट ने फैसला लिया कि गंगा एक्सप्रेस-वे के लिए 60 दिनो के अंदर बिडिंग की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण में 36,230 करोड़ की लागत आएगी। इसके लिए सिविल निर्माण में 19 हजार 700 करोड़ का प्रावधान किया गया है। सरकार के प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि इस योजना के लिए 92.20 भूमि का अधिग्रहण हो चुका है। सिक्स लेन के इस एक्सप्रेस-वे पर एयर स्ट्रिप भी बनाया जाएगा।

उत्तर प्रदेश एकसप्रेसवेज इंडस्ट्रियल डेवलप्मेंट अथारिटी(यूपीईडा) के इस प्रोजेक्ट के तहत गंगा एक्सप्रेस-वे का निर्माण मेरठ से प्रयागराज तक होगा। यह गंगा एक्सप्रेस-वे कुल 594 किलोमीटर का प्रस्तावित है। यह गंगा एक्सप्रेस-वे मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, सम्भल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ से प्रयागराज तक प्रस्तावित है। कैबिनेट ने गंगा एक्सप्रेस-वे के रेग्युलेटेड क्वालीफिकेशन फ्रेमवर्क(आरक्यूएफ) तथा रिहेबिलेशन प्रोजेक्ट फोर्स (आरपीएफ) को भी हरी झंडी दी  है।

 

यह भी पढ़े- विदेश से मंगाए जाने वाले पौधे उत्तराखंड में होंगे क्वारंटाइन

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

और खबरें

कोरोना वैक्सीनेशन में यूपी ने किया दस करोड़ का आकड़ा पार

Listen to this article

वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण से बचाव हेतु लगाई जाने वाली वैक्सीनेशन में उत्तर प्रदेश ने नया रिकार्ड दर्ज किया। उत्तर प्रदेश बाकी राज्यों को पछाड़ कर वैक्सीनेशन में दस करोंड़ का आकड़ा पार करने वाला पहला राज्य बना हैं। देश के सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य में वैक्सीनेशन के इस नए रिकार्ड से और राज्यों को भी प्रेरणा मिलती हैं।

उत्तर प्रदेश बना प्रेरणा

देश की सर्वाधिक आबादी वाला राज्य अब वैक्सीनेशन में भी सर्वाधिक डोज देने वाला भी राज्य बन गया हैं। प्रदेश में 10 करोड़ में से आठ करोड़ 15 लाख लोगों ने टीके की पहली डोज लगवा ली हैं। साथ ही राज्य में एक करोड़ 85 लाख से अधिक लोगों ने कोरोना की दोनों डोज लगवा ली हैं। प्रदेश में अबतक 55 फीसदी आबादी को पहली डोज का लाभ मिल चुका हैं। साथ ही प्रदेश में बीते 54 दिनों में 5 करोड़ से ज्यादा के टीके की खुराक दी जा चुकी हैं।

स्वास्थ्यकर्मियों और जनता को समर्पित

प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना टीकाकरण के दस करोड़ का आकड़ा पार होने के खास मौके को स्वास्थयकर्मियों और आमजनता को समर्पित किया। साथ ही उन्होंन कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और अथक प्रयासों का सुफल हैं। कि प्रदेश में दस करोड़ से अधिक टीके का सुरक्षा कवच प्रदान किया जा चुका हैं।

 

अनमोल बधानी

 

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में एनएनएम पदों की भर्ती के लिए 3 साल से चल रहा है इंतजार

महंगा हुआ डीजल, पेट्रोल की कीमतों में कोई बादलाव नहीं

Listen to this article

26 सितंबर यानी कि रविवार के दिन डीजल की कीमतों में एक बार फिर से बढ़ोतरी देखने को मिली। डीजल की कीमत में 25 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है। सरकार के स्वामित्व वाले खुदरा ईंधन विक्रेताओं की मूल्य अधिसूचना के अनुसार, डीजल की कीमत दिल्ली में 89.07 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 96.68 रुपये प्रति लीटर हो गई है। हालांकि पेट्रोल की कीमतों में कोई भी बदलाव नहीं हुआ है और दिल्ली में इसकी कीमत 101.19 रुपये और मुंबई में 107.26 रुपये प्रति लीटर है।

24 सितंबर के दिन भी डीजल की कीमतों में 20 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई थी। हालांकि उस वक्त भी पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव देखने को नहीं मिला था। इस बीच वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड बढ़कर 77.50 डॉलर प्रति बैरल हो गया है। अगस्त के दौरान औसत कीमतों की तुलना में, इस महीने अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोल और डीजल की कीमत, लगभग 6 से 7 डॉलर प्रति बैरल बढ़ी है।

जिस कारण से दिल्ली के बाजार में पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में 18 जुलाई से तेल कंपनियों द्वारा 0.65 रुपये प्रति लीटर और 1.25 रुपये प्रति लीटर की कमी की गई थी। इससे पहले 5 सितंबर के दिन कीमतों को कम किया गया था।

 

    -अजिता अग्निहोत्री

 

यह भी पढ़े- हर कांग्रेसी भाजपा में आने का इच्छुक: अनिल बलूनी

16 से 17 अक्टूबर उत्तराखंड का दौरा करेंगे गृहमंत्री अमित शाह

Listen to this article

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आगामी चुनावों को लेकर 16 से 17 अक्टूबर को उत्तराखंड दौरे पर रहेंगे। शाह के दौरे की पुष्टि भाजपा के प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने की। अपने दौरे के दौरान वह आगामी चुनावों के लिए प्रदेश में अपनी पार्टी का प्रचार करेंगे और आम जनता से रुबरु होंगें।

और साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 4 या 14 अक्टूबर व 9 नवंबर को राज्य स्थापना के दिन आने की संभावना जताई है। या प्रधानमंत्री केदारनाथ के कपाट बंद होने के अवसर पर भी आ सकते हैं इसकी संभावना भी उन्होंने जताई है। इसके अतिरिक्त रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी एक अक्टूबर को उत्तराखंड के दौरे पर आ सकते हैं। इस दिन पेशावर कांड के नायक वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की पुण्यतिथि भी है इस अवसर पर पीठासैन में गढ़वाली स्मारक और प्रतिमा का लोकार्पण भी करेंगे।

 

प्रिया जायसवाल

 

यह भी पढ़ें- नैनीताल पहुंची नेहा कक्कड़, फैंस के बीच जाम में फसीं

ओवैसी समर्थकों ने रायबरेली में लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे

Listen to this article

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुसलमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद असदुद्दीन ओवैसी कल शाम प्रयागराज से लखनऊ जा रहे थे। जब वह ऊंचाहार चौराहे पर पहुंचे तो उनके समर्थकों की पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जाने की बात सामने आयी है। इसका वीडियो एंटरनेट पर वायरल हो रहा हैं। अभी औपचारिक रुप से इसकी कोई पुष्टि नहीं की गई हैं।

समर्थकों ने फूलों से किया स्वागत

ओवैसी के लखनऊ आने की खबर पर उनके समर्थक उनके स्वागत के लिए फूलों की माला लिए उनके वाहन के सामने पहुंचे। लेकिन इस दौरान ओवैसी वाहन से बाहर नहीं निकले और उनकी गाड़ी धीरे-धीरे आगे बढ़ गई। जिसके बाद उनके समर्थकों ने गाड़ी का पीछा किया फिर भी गाड़ियों का काफिला आगे बढ़ता रहा। इंटरनेट पर वायरल वीडियों इस दौरान का ही बताया जा रहा हैं।

औपचारिक पुष्टि नहीं की गई

फिलहाल पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे वाली वायरल वीडियों के बारे में कोई भी औपचारिक रुप से पुष्टि नहीं की गई हैं। साथ ही कहा जा रहा हैं कि वायरल वीडियों यहां का नहीं लग रहा हैं। इस वीडियों की जांच की जाएगी।

 

अनमोल बधानी

 

यह भी पढे़- उत्तराखंड रोडवेज में घाटे के जिम्मेदार 15 निजी वाहन सीज

आज टिहरी पहुंचेंगे भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष

Listen to this article

आज दो दिवसीय दौरे पर आ रहे भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष पार्टी के महिला मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यसमिति के उद्घाटन  सत्र में शामिल होने के बाद टिहरी के लिए रवाना हो जाएंगे। संतोष टिहरी और उत्तरकाशी जिलों में भाजपा की चुनावी तैयारियों का जायजा लेने आज टिहरी पहुंचेंगे। वे वहां दोनों जिलों की विधानसभाओं के प्रभारियों और विस्तारकों  की बैठक लेंगे। साथ ही इसके बाद वह जिले की कोर ग्रुप के साथ भी बैठक करेंगे।

बीएल संतोष लेंगे फीडबैक

बीएल संतोष वहां जाकर विधानसभाओं में पार्टी की चुनावी तैयारी  को लेकर फीडबैक लेंगे। बता दे कि टिहरी में 6 विधानसभा सीटों में 5 भाजपा के पास है।

और अब धनौल्टी के निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार भाजपा में शामिल हो चुके है। 2017 के विस चुनाव में भाजपा ने गंगोत्री और यमुनोत्री सीट जीती थी। गंगोत्री के विधायक का निधन हो चुका है। पुरोला सीट के विधायक राजकुमार भाजपा में शामिल हो चुके हैं। इन बदली सियासी स्थितियों के बीच पार्टी के भीतर क्या रुझान है, संतोष इसकी सुध लेंगे।

 

  आँचल

 

यह भी पढ़े- शिक्षा विभाग लेगा डेढ़ साल तक पढ़ाई से दूर रहे बच्चों की सुध

उत्तर प्रदेश में आज मंत्रिमंडल विस्तार, कई मंत्री लेंगे शपथ

Listen to this article

उत्तर प्रदेश में चार महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले आज कैबिनेट विस्तार किया जाएगा। इस दौरान कांग्रेस पार्टी से भाजपा में शामिल होने वाले जितिन प्रसाद समेत सात मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी। जितिन प्रसाद के अलावा, मंत्री पद की शपथ लेने वालों में पलटू राम, संजय गौंड़ा, संगीता बिंद, दिनेश खटिक, धर्मवीर प्रजापति और छत्रपाल गंगवार शामिल हैं।

मंत्रिमंडल के विस्तार का गणित

आठ जुलाई को केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार में उत्तर प्रदेश को खास अहमियत दी गई हैं। जिसमें जातीय गणित बिठाने का प्रयास किया गया था। चुने गए सात नए मंत्रियों में चार ओबीसी, दो दलित और एक ब्राहम्ण समाज के थे। यह पहली बार हुआ है कि केंद्रीय कैबिनेट में यूपी से रिकार्ड 15 मंत्री बनाए गए हैं।

भाजपा पार्टी ने बूथों को मजबूत करने का अभियान भी शुरु कर दिया हैं। जिसके चलते प्रदेश चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने प्रदेश में तीन दिवसीय दौरा कर चुनावी तैयारियों के विषय में चर्चा की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि पिछले साढ़े चार वर्षों में निवेश का महौल बना है। प्रदेश को खराब कानून व्यवस्था और भ्रष्टाचार से राहत मिलि हैं। साथ ही सीएम ने  दावा किया है कि यूपी 2022 विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रदेश में 350 सीटें जीतकर सरकार बनाएगी। वहीं दूसरी ओर सपा ने 400 विधानसभा सीटें जीतने का दावा किया हैं।

 

अनमोल बधानी

 

यह भी पढे़- देहरादून में डेंगू का कहर जारी, 3 और मरीज पाए गए