देश-विदेशबड़ी खबर

देश के 342 साफ शहरों को राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

इंदौर बना पांचवी बार सबसे साफ शहर

 

आज दिल्ली के विज्ञान भवन में सबसे साफ शहरों को सम्मानित करने के लिए समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने देश के 342 शहरों को सम्मानित किया।इन शहरों को स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में साफ और कचरा मुक्त होने के लिए स्टार रेटिंग से भी नवाज़ा गया। साल 2016 में शुरु इस कदम में पहले केवल 73 प्रमुख शहर को सर्वेक्षण में शामिल किया गया था। मंत्रालय के अनुसार 4320 शहरों को स्वच्छ सर्वेक्षण में जोड़ा गया, जो विश्व के बड़ा स्वच्छ सर्वेक्षण है।

इंदौर को पांचवी बार साफ शहर कि उपाधी दी गई। राष्ट्रपति कोविंद ने इंदौर के अधिकारी को पुरस्कार से नवाज़ा, तथा दूसरे स्थान पर सूरत(गुजरात) और तीसरे स्थान पर विजयवाड़ा(आंध्र प्रदेश) को देश के साफ शहर होने की उपाधी दी।मंत्रालय ने कहा की , इस बार 5 करोड़ से अधिक फीडबैक आए हैं, और सर्वेक्षण की सफलता इस बार नागरिकों से मिले फीडबैक की संख्या के आधार पर आंकी गई है। यह संख्या पीछले साल 1.87 करोड़ थी।

MOHUA ने आयोजित किया स्वच्छ अमृत महोत्सव

केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री और अन्य अधिकारी भी इस उपलक्ष में वहां उपस्थित थे। यह सम्मान मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफ्येर्स (एमओएचयूए) द्वारा ‘स्वच्छ अमृत महोत्सव’ का आयोजन किया जा रहा है,इस अवसर पर मंत्रालय नें कहा कि यह उपाधी स्वच्छ भारत मिशन-शहरी 2.0 के तहत भारत को कचरा-मुक्त बनाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण की तर्ज पर क्लीन सिटीज को दी जा रही है।

यह भी पढ़ें-http://जयदेवपुर के चार हजार लोगों को पानी की किल्लत से छुटकारा

सफाई के आधार पर मिली रेटिंग

सफाई के आधार पर सभी सिटिज को स्टार रेंटिग दी गई। इस साल सर्टिफिकेशन 342 शहरों को दिया गया है।2,238 शहरों कि इस प्रोसेस में भागीदारी है, जो कूड़ा मुक्त भारत के दृष्टिकोण के प्रति संकल्प को दर्शाता है,2018 में केवल 56 सिटीज को ही रेटिंग दी गई। नगरों को तीन श्रेणियों में बाँटा गया है,इसमें फाइव स्टार नगर की श्रेणी मे 9, थ्री स्टार में 166 नगरों, वन स्टार में 167 नगरों को रखा गया है।

 

अंजली सजवाण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button