HNN Shortsउत्तरप्रदेशबड़ी खबरहोम

सिवनी में आदिवासियों को पीटकर मारने वाले 9 आरोपी गिरफ्तार

मध्य प्रदेश के सिवनी में गौमंस की आशंका में तीन आदिवासियों को लाठियों से पीटने वाले 9 आरोपियों को पुलिस ने हिरासत मे लिया है। जानकारी के अनुसार मामला सिवनी जिले के कुरई थाना अंतर्गत बादलपार चौकी क्षेत्र के सिमरिया गांव का है। सोमवार देर रात कुछ लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि गांव में कुछ लोग गौमांस के साथ पकड़े गए हैं। पुलिस के पहुंचने से पहले ही मारपीट के बाद दो लोगों की मौत हो गई और एक की हालत गंभीर है। बताया गया कि कुरई के गांव सागर और सिमरिया गांव के 54 वर्षीय धानशाह और 60 वर्षीय संपत बट्टी को कुछ युवकों ने लाठियों से पीटा था। मृतकों के परिजनों का आरोप है कि हत्या करने वाले बजरंग दल के लोग हैं।

बीते दिन सुबह घटना की जानकारी मिलते ही गुस्साए लोगों ने जबलपुर-नागपुर नेशनल हाईवे पर बैठकर प्रदर्शन किया। इससे सड़क पर लंबा जाम लग गया। सूचना मिलने पर बरघाट विधायक अर्जुन सिंह का ककोडिया भी कुरई पहुंचे। उन्होंने भी आरोप लगाया है कि आरोपी बजरंग दल के कार्यकर्ता हैं। उन्होंने पुलिस से मांग की है कि हत्या करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। कहा कि शिवराज जी, ये जंगलराज नहीं तो क्या है..? भीड़ की मांग है कि पीड़ित परिवार को नौकरी के अलावा एक करोड़ का मुआवजा दिया जाए। आरोपियों के भाजपा से जुड़े होने की जानकारी भी सामने आई थी।

इस घटना में भी आरोपियों के भाजपा से जुड़े कनेक्शन की बात सामने आ रही है।कमल नाथ ने सरकार से मांग की है कि, इस घटना की उच्च स्तरीय जांच की घोषणा कर, दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए, पीड़ित परिवारों की हरसंभव मदद की जाए व घायल युवक के सरकारी खर्च पर इलाज की संपूर्ण व्यवस्था हो।

यह भी पढ़े- थाने में गई रेप पीड़िता के साथ रेप

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एसके मरावी ने बताया कि कुरई पुलिस स्टेशन में हत्या का मामला दर्ज किया गया है और पुलिस टीम आरोपियों की तलाश कर रही है। कुछ आरोपी नामजद हैं, कुछ अज्ञात हैं। हमने 2-3 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। पीड़ितों के घर से करीब 12 किलोग्राम मांस मिला है।कुरई थाना प्रभारी गनपत सिंह उइके का कहना है कि मौके से मिला मांस जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा जा रहा है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

तानिया चंचल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button