उत्तराखंड

पेपर लीक मामले में दोषियों पर कार्यवाही की मांग

महानगर युवा कांग्रेस ने राज्यपाल को भेजा ज्ञापन

देहरादून। महानगर युवा  कांग्रेस   देहरादून के अध्यक्ष मोहित मेहता (मोनी) के नेतृत्व में जिलाधिकारी देहरादून के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा।  ज्ञापन के माध्यम से नेशनल टेस्टिंग एजेंसी  (एनटीए) द्वारा 2024 की नीट  के परीक्षा पत्र लीक मामले में युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ शीघ्र ही संलिप्त दोषियों पर कठोर कार्यवाही की मांग की। राष्ट्रीय सचिव युवा  कांग्रेस  एवं उत्तराखण्ड युवा  कांग्रेस   प्रभारी शिवी चैहान ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा जारी आंकडों से विदित होता है कि विगत वर्ष जो नीट परीक्षा आयोजित की गयी थी उसमें लगभग सवा करोड़ परीक्षार्थियों द्वारा प्रतिभाग किया गया था तथा भारत के सर्वोच्च शिक्षण संस्थानों (यथा; आईआईटी, एम्स, आईआइएम आदि) में परीक्षा में उत्तीर्ण  प्रतिभागियों द्वारा प्रवेश प्राप्त किया गया। यह सवा करोड़ प्रतिभागी अत्यन्त भाग्यशाली हैं कि इन्हें इन संस्थानों से शिक्षा ग्रहण करने का अवसर प्राप्त हुआ और जिन प्रतिभागियों ने उक्त परिक्षाओं में अव्वल अंक प्राप्त किये उन्हें अपनी इच्छानुसार चयनित किये गये संस्थानों में शिक्षा ग्रहण करने का मौका मिला था उनका भविष्य देश में भ्रष्टाचार के चलते डूब सा गया है। वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष युवा  कांग्रेस   विनीत प्रसाद भटट (बन्टू) ने कहा कि कहा कि केन्द्र सरकार व राज्य की भाजपा सरकार युवा विरोधी रही हैं, बेरोजगार युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड  किया जा रहा हैं, आये दिन पेपर लीक घटनाओं से बेरोजगार युवा अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहा है। बन्टू ने कहा कि यह पहली बार नही हुआ है कि भाजपा सरकार में नीट पेपर लीक हुआ हो, पहले भी उत्तराखण्ड में कई बार बेरोजगार युवाओं को पेपर लीक की मार झेलनी पडी है। उन्होनें कहा कि पेपर लीक एवं बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड करने वाले हाकम सिंह जैसे लोग जो भाजपा सरकार में आज भी खुलेआम घुम रहे हैं, उन्होनें कहा कि भाजपा ने प्रदेश एवं देश में कितने हाकम सिंह पाल रखे हैं जो आज भी बेरोजगार युवाओं का भविष्य खोखला कर रहे हैं। मोहित मेहता मोनी ने कहा कि देश में कई करोड़ परीक्षार्थी ऐसे भी होगें जिन्हें यह अवसर प्राप्त नही हुआ और वे पुनः इन परीक्षाओं की तैयारियों में जुट गये और उनके मन में यह विश्वास होगा कि भारत सरकार के उच्चतम संस्थाओं द्वारा आयोजित उक्त परीक्षा में वे पुनः प्रतिभाग करेंगें तो उन्हें भी अपने अन्य साथियों की भांती इन उच्चतम संस्थानों से उच्च शिक्षा ग्रहण करने का अवसर प्राप्त होगा। इसी प्रकार जो परीक्षार्थी प्रथम बार इन परीक्षाओं में प्रतिभाग कर रहे होंगे उनके लिए यह एक अमूल्य अनुभव व अवसर है, परन्तु जब प्रतियोगियों को यह जानकारी प्राप्त होती है जिन परीक्षाओं के लिए वे रात-दिन मेहनत कर रहे हैं और उनके माता-पिता अपने खून पसीने की कमाई उनके उज्जवल भविष्य के लिए समर्पित कर रहे हैं, वे प्रतियोगी परीक्षाएं भ्रष्टाचार की भेंट चढ चुकी हैं और कुछ चुनिंदा लोगों द्वारा पैसे के लालच में परीक्षा का पेपर लीक कर शिक्षा माफियाओं के हाथों में सौंप दिया जाता है तो उनके सपने, आत्मविश्वास तथा मनोबल टूट जाता है। महानगर युवा कांग्रेस देहरादून ने पेपर लीक मामले में मांग की है कि  2024 की नीट परीक्षा में प्रतिभाग करने वाले अभ्यार्थियों का डाटा संकलन किया जाए तथा उन्हें समय-समय पर परीक्षा से सम्बन्धित विषयों की जानकारी हेतु दूरभाष, सोशल मीडिया मैसेज, ईमेल के माध्यम से जिला मुख्यालय के माध्यम से सूचना मुहैया कराई जाए।  सम्बन्धित परीक्षा के अभ्यर्थियों को उक्त परीक्षाओं हेतु निशुल्क काउंसलिंग की सुविधा प्रदान की जाए।  सम्बन्धित परीक्षा के अभ्यार्थियों को पुनः परीक्षा में आवेदन करने पर उनका परीक्षा शुल्क पूर्ण रूप से माफ किया जाए। इस मौके पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता रितेश क्षेत्री, पूर्व जिलाध्यक्ष युवा कंाग्रेस रोबिन त्यागी, पीयूष जोशी, पार्षद अमित भण्डारी, अरविन्द शर्मा, प्रदीप बिष्ट, प्रदेश मीडिया प्रभारी देवेश उनियाल, प्रदेश प्रवक्ता अमनदीप बत्रा, विधानसभा अध्यक्ष मोहम्मद वसीम, कार्तिक बिडला, शुभम चैहान, आदित्य बिष्ट आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button