राष्ट्रीयहोम

कोरोना के चलते चुनाव आयोग ने रैलियों और रोड़ शो पर लगाई रोक

चुनावी राज्यों में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के केस

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को हुए चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश सहित पांचों चुनावी सहित पांचों चुनावी राज्यों में रैली, रोड़ शो, पहयात्रा और जनसभाओं पर लगाए गए प्रतिबंधों को 22 जनवरी तक आगे बढ़ा दिया गया है। इससे पहले यह प्रतिबंध 15 जनवरी तक के लिए ही था हांलाकि इसके साथ ही चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को एक बड़ी राहत भी दी है इसके तहत अब कोई दल अधिकतम 300 लोगों या फिर हाल की क्षमता के आधे के साथ बंद कमरे में बैठक कर सकेगा। चुनाव आयोग ने बीते दिन स्वास्थ्य मंत्रालय के अलावा सभी चुनावी राज्यों के स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों और विशेषज्ञों के साथ चुनावी प्रतिबंधों को लेकर अलग-अलग मुद्दों पर चर्चा हुई साथ ही कोरोना संक्रमण और कोविड टीकाकरण की स्थितियों को भी जांचा गया जिसके बाद काफी विचार विमर्श करने के बाद चुनाव आयोग ने सामान्य रैलियों और जनसभाओं पर लगे प्रतिबंधों को आगे बढ़ाने का फैसला लिया। हालांकि चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों की मांग को देखते आयोग ने कोविड के सख्त नियमों के साथ इनडोर मीटिंग की इजाजत दे दी है यदि अगर कोई इन नियमों का पालन नहीं करता है तो उन पर कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी और फिर आयोग ने यह भी साफ कर दिया है कि नियमों का उल्लंघन करने पर उनको फिर किसी रैली जनसभा पदयात्रा की अनुमति नहीं होगी।

यह भी पढ़ेमहिला कांग्रेस अध्यक्ष सरिता आर्य को पार्टी जुटी मनाने में

उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोवा, मणिपुर, और उत्तराखंड के विधानसभा चुनावों में कुछ ही समय रह गया है जहां देशभर में कोरोना की स्थिति भी काफी भयानक हो रही है जिसमें मतदान राज्य भी शामिल हैं इन राज्यों में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है उत्तर प्रदेश में इस महीने के पहले सप्ताह में कोरोना संक्रमणों में 1300 प्रतिशत की वृध्दी दर्ज क है जबकि पंजाब के 22 में से 16 जिलों में सकारात्मकता दर पांच प्रतिशत से ज्यादा है।   आरती राणा    

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button