HNN Shortsउत्तराखंडबड़ी खबरराजनीतिहोम

उत्तरकाशी में राज्यपाल ने काशी विश्वनाथ मंदिर के किये दर्शन

पूर्व सैनिकों से भी की मुलाकात

उत्तराखंड के राज्यपाल दो दिवसीय उत्तरकाशी दौर पर हैं, ऐसे में आज अपने दौरे के पहले दिन राज्यपाल ले. जनरल गुरमीत सिंह ने बाबा काशी विश्वनाथ व शक्ति मन्दिर में विशेष पूजा अर्चना कर प्रदेश की सुख-समृद्धि एवं खुशहाली की कामना की। वहीं, इसके बाद महामहिम ने जिला राजकीय पुस्तकालय का स्थलीय निरीक्षण भी किया। जहां की व्यवस्थाओं को देख उन्होंने जिलाधिकारी मयूर दीक्षित के प्रयासों की सराहना की।

वहीं, पुस्तकालय में उपस्थित छात्रों ने राज्यपाल को बातचीत में बताया कि वे विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों के लिए पुस्तकालय में अध्ययन के लिए प्रतिदिन पहुंचते हैं। पुस्तकालय में उनको विभिन्न समाचार पत्र उपलब्ध रहते हैं। इस अवसर पर महामहिम ने विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की 500 पुस्तकें राजकीय पुस्तकालय को भेंट करने की घोषणा भी की है।

इससे पूर्व में राज्यपाल ने कलेक्ट्रेट परिसर के जिला सभागार में जनपद के पूर्व सैनिकों के साथ बैठक की। इस बैठक में विश्वनाथ पूर्व सैनिक कल्याण समिति के अध्यक्ष द्वारा जनपद में वीर नारियों एवं सिविलियन्स के कल्याणार्थं समिति द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी राज्यपाल को दी। इस मौके पर राज्यपाल ने समिति के कार्यों की सराहना की तथा आश्वस्त करते हुए कहा कि मेरे द्वारा पूर्व सैनिकों एवं उनके परिवार के सदस्यों के लिए जो भी मदद सम्भव होगी की जायेगी।

यह भी पढ़े-दिल्ली में पीएम मोदी और शाह से मिले सीएम धामी

राज्यपाल ने कहा कि पूर्व सैनिकों की बेटियों को यदि पढ़ाई हेतु आर्थिक सहयोग की जरूरत हो तो बेहिचक बताएं। उन्होंने समिति के सदस्यों से कहा कि भूतपूर्व सैनिक को एरोमेटिक फील्ड में कैसे लाया जा सकता है, उन्हें होमस्टे योजना से कैसे जोड़ा जा सकता है इस हेतु भी विशेष प्रयास करने की आवश्यकता है। उन्होंने जिला सैनिक कल्याण अधिकारी को विभिन्न जन कल्याणकारी सरकारी योजनाओं की जानकारी पूर्व सैनिक परिवारों को देने की बात कही। इस अवसर पर समिति द्वारा राज्यपाल को चार सूत्रीय मांग पत्र सौंपा गया। जिनमें उत्तराखंड में पूर्व सैनिकों का आरक्षण राज्य सेवा में 5 प्रतिशत से बढ़ाकर 10 प्रतिशत किया जाय, पुलिस भर्ती में रोजगार के लिए शारीरिक भर्ती मानक पूर्व सैनिकों के लिए मानदंड के अनुसार हल्का होना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button